ट्रेन यात्रा मे चुदाई की कहानी

train mai chudai ki kahani ये बात लगभग १ साल पहले की है. हमारे रिश्तेदारी में किसी की डेथ हो गई थी. मेरे पति अपने काम धंधों में व्यस्त थे इसलिए मुझे ही वहां जाना पड़ा. ट्रेन का सफर था और मुझे अकेले ही जाना था इसलिए मेरे पति ने प्रथम श्रेणी एसी में मेरे लिए रिज़र्वेशन करवा दिया था.

रात को दस बजे की ट्रेन थी. मुझे मेरे पति स्टेशन तक छोड़ने के लिए आए और मुझे मेरे कूपे में बिठा कर टिकेट चेकर से मिलने चले गए. मेरा कूपा केवल दो सीटों वाला था.

अभी तक दूसरी सीट पर कोई भी पेसेंजेर नहीं आया था. मैंने अपने सामान सेट किया और अपने पति की इंतज़ार करने लगी. थोडी ही देर में मेरे पति वापस आ गए. उनके साथ ब्लैके कोट में एक आदमी भी आया था. वो टिकेट चेकर था. उसके उम्र करीब छब्बीस साल की थी, रंग गोरा और करीब पौने छह फीट लंबा हेंडसम नवयुवके लग रहा था. मेरे पति ने उससे मेरा परिचय करवाया. वो आदमी केवल देखने में ही हेंडसम नहीं था बल्कि बातचीत करने में भी शरीफ लग रहा था.

उसने मुझसे कहा

” चिंता मत कीजिये मैडम मैं इसी कोच में हूँ कोई भी परेशानी हो तो मुझे बता दीजियेगा मैं हाज़िर हो जाऊंगा. आपके साथ वाली बर्थ खाली है अगर कोई पेसेंजर आया भी तो कोई महिला ही आएगी इसलिए आप निश्चिंत हो कर सो सकती हैं.”

उसकी बातों से मुझे और मेरे साथ साथ मेरे पति को भी तसल्ली हो गई. ट्रेन चलने वाली थी इसलिए मेरे पति ट्रेन से नीचे उतर गए. उसी समय ट्रेन चल दी. मैंने अपने पति को खिड़की में से बाय किया और फिर अपने सीट पर आराम से बैठ गई. दोस्तों मुझे आज अपने पति से दूर जाने में बिल्कुल अच्छा नहीं लग रहा था. इसका कारण ये था कि मेरी मौसी हवारी ख़तम हुए अभी एक ही दिन बीता था और जैसा कि आप सब लोग जानते हैं मेरी जैसी चुदक्कड़ औरत की ऐसे दिनों में चूत की प्यास कितनी बढ़ जाती है. मैं अपने पति से जी भर कर चुदवाना चाहती थी लेकिन अचानक मुझे बाहर जाना पड़ रहा था. इसी कारण से मैं मन ही मन दुखी थी.

यह कहानी भी पड़े  भाभी की खूबसूरत सेक्सी गांड मारी

तभी कूपे में वो हेंडसम टीटी आ गया. उसने कहा

“मैडम आप गेट बंद कर लीजिये मैं कुछ देर में आता हूँ तब आपका टिकेट चेके कर लूँगा.”

उसके जाने के बाद मैंने सोचा की चलो कपड़े बदल लेती हूँ. क्योंकि रात भर का सफर था और मुझे साड़ी में नींद नहीं आती. ये सोच कर मैंने गाउन निकालने के लिए अपना सूटकस खोला तो सर पकड़ लिया. क्योंकि मैं जल्दबाजी में गाउन के ऊपर वाला नेट का पीस तो ले

आई थी लेकिन अन्दर पहनने वाला हिस्सा घर पर ही रह गया था. जो हिस्सा मैं लाई थी वो पूरा जालीदार था जिसमें से सब कुछ दीखता था.

करीब दो मिनट बैठने के बाद मेरी अन्तर्वासना ने मुझे एक नया निर्णय लेने के लिए विवश कर दिया. मैंने सोचा कि क्यों आज इस हेंडसम नौजवान से चुदाई का मज़ा लिया जाए. ये बात दिमौसी ग में आते ही मैंने वो जालीदार केवर निकाल लिया और ज़ल्दी से अपनी साड़ी, ब्लाउज़ और पेटीकोट निकाल दिए. अब मेरे बदन पर रेड कल र की पेंटी और ब्रा थी. उसके ऊपर मैंने सफ़ेद रंग का जालीदार गाउन पहन लिया. वैसे उसको पहनने का कोई फायदा नहीं था क्योंकि उसमे से सब कुछ साफ़ नज़र आ रहा था और उससे ज्यादा मज़ेदार बात ये थी कि अन्दर पहनी हुई ब्रा और पेंटी भी जालीदार थी. इसलिए बाहर से ही मेरे निपल तक नज़र आ रहे थे. ख़ुद को आईने में देखकर मैं ख़ुद ही गरम हो गई. साड़ी तैयारी करने के बाद मैं अपनी सीट पर लेट गई और मैगज़ीन पढ़ते हुए टीटी का इंतजार करने लगी. मुझे इंतज़ार करते करते पाँच मिनट बीत गए तो मैंने सोचा कि क्यूँ न पहले खाना खाकर फ्री हो लूँ ये सोच कर मैंने अपना खाना निकाल लिया जो मैं घर से साथ लाई थी. खाना शुरू करते हुए मैंने सोचा कि खाने के बीच मैं टीटी टिकेट चेके करने आ गया तो बीच में उठ कर टिकेट निकालना पड़ेगा ये सोच कर मैंने अपने पर्स में रखा टिकेट निकाल लिया. टिकेट हाथ में आते ही मेरी आँखों के सामने उस टीटी का जवान बदन घूम गया और मेरे अन्दर की सेक्सी औरत ने अपना काम करना शुरू कर दिया. मैंने पहले ही जालीदार कपड़े पहने थे जिसमे से मेरा पूरा बदन दिखाई पड़ रहा था और फिर मैंने अपना टिकेट भी अपने बड़े बड़े स्तनों के अन्दर ब्रा के बीच मैं डाल लिया. अब वो टिकेट दूर से ही मेरे बायें उरोज के निप्पल के पास दिखाई दे रहा था.

यह कहानी भी पड़े  मुझे आंटी मत बोलो रंडी बोलो

पूरी तैयारी के बाद मैं खाना खाने लगी. तभी मेरे कूपे का गेट खुला और टीटी अन्दर आ गया. अन्दर आते ही मुझे पारदर्शी केपडों में देखकर बेचारे को पसीना आ गया. वह बिल्कुल सकेपका गया और इधर उधर देखने लगा. मैंने उसका होंसला बढ़ाने के लिए उसकी तरफ़

Pages: 1 2 3 4 5 6

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


भाभीकीचुदाईpayal ke sath hotel me incest story part 2परिवार में सामूहिक चुदायहिदी।चोदाई।चाहीचुत फटी दर्द हुआआँटी ने बस में मेजे से चुदाईदोग्गी सेक्सक्स videosex story mere प्यारे डैडी part 3सिमा की च**** की कहानी.comबेबस दीदी को छोड़ा सेक्स स्टोरीजसेकसी चुत लडindiansexstores housewife swapingkamsin nanad ki chudai training hindi meभाई और बॉस हिंदी सेक्सबरसात में माँ को छोड़ा सेक्स स्टोरीमूत चुदाई की कहानियाँमालिक ओर 3 नोकरानी कि चुदाइ काहानिxcxx.vidos.hd.nuboal.ka.chhoda.hindantervsna aunti or bhabhiMene apni Patni ko ger se cudwya चुत मे दॅद लड के लिएusha chudae khet meचुसवाते हुए मदहोश होती जा रही थीAntar tai की cudaiBaccha ka Nimbu jaisa Nipple storyदेसी चूत नईmumbai ki barish aor ma bete ka pyaar xxx kahaniमधुर कानी सेक्सी स्टोरी मधुर कहानीबडो की सेक्स कहानियाँfufa ne ki chachi ki chudai sexy storyभाभी चुदाइ सोने की नथHindi sexy mausi asceticलंबी सेक्स चुदाइ स्तोरिससेक्स स्टोरी हिंदी सविता भाभी braphim sex chi em nha kieu 2016लंडsasor ab mojhe kapde bhi pahanane nahi dewe hai hindh sex kahaniwww.sarvisman ki bibi ki sex storiदीदी के सत रुओं में छोड़ाए किये हिंदी सेक्स स्टोरीलड डाला बहन की कची चूत मेhaste huye bhabhi ke chudai karteमम्मी चुदी अनजान सेचूत काखेल लड चुसाई वीडीयोहाये रे मार डालेगा क्या sex kahaniविधवा भाभी की चुड़ाई की स्टोरीGarwali sexy kahniरूमाली की chudai sexi videoHindi sex kahani taiबाती की चूत फट गईtrien me mera gangbang fir room me antarvasna.comGundo se lagatar chudai ki kahaniरात भर मेरी चूत जो चोदा बेदर्दी नेmultinational companies sir ki antarvasnamaa ne beti ko chudai sikhayi 2ब्रा पंतय की दुकान पर सेक्स हिंदी स्टोरीजnaukrani ko Malmal ka lund Pasand Aayadady ne mujhe 11ench ke land se choda stori and stori .compark ma cuht ma boht dalana sexpapa ne pet se kiya hindi sex khaniyaमेरी मुस्लिम माँ की चुदाईTAI KI CHUDAI KI KHANIYAवीधवा भाभी ने मुठ मारी चुदाई की कहानीयाभाभीचुत मे लाँडsangita tai ki chudai incest storiesbus me anjaan se chudayiमामी सुहागरातसेक्सी टीटी की कहानीसगीता मनोज की चोदाईपापा से घमासान चुदाई कराई कहानी dildo sai gand chudai sax storyकाजल का फिगर Xxx storysसेक्स stories बाथरूम में माँ ko नाहटा dikhaमेरी अभूतपूर्व चुदाई