ट्रेन यात्रा मे चुदाई की कहानी

train mai chudai ki kahani ये बात लगभग १ साल पहले की है. हमारे रिश्तेदारी में किसी की डेथ हो गई थी. मेरे पति अपने काम धंधों में व्यस्त थे इसलिए मुझे ही वहां जाना पड़ा. ट्रेन का सफर था और मुझे अकेले ही जाना था इसलिए मेरे पति ने प्रथम श्रेणी एसी में मेरे लिए रिज़र्वेशन करवा दिया था.

रात को दस बजे की ट्रेन थी. मुझे मेरे पति स्टेशन तक छोड़ने के लिए आए और मुझे मेरे कूपे में बिठा कर टिकेट चेकर से मिलने चले गए. मेरा कूपा केवल दो सीटों वाला था.

अभी तक दूसरी सीट पर कोई भी पेसेंजेर नहीं आया था. मैंने अपने सामान सेट किया और अपने पति की इंतज़ार करने लगी. थोडी ही देर में मेरे पति वापस आ गए. उनके साथ ब्लैके कोट में एक आदमी भी आया था. वो टिकेट चेकर था. उसके उम्र करीब छब्बीस साल की थी, रंग गोरा और करीब पौने छह फीट लंबा हेंडसम नवयुवके लग रहा था. मेरे पति ने उससे मेरा परिचय करवाया. वो आदमी केवल देखने में ही हेंडसम नहीं था बल्कि बातचीत करने में भी शरीफ लग रहा था.

उसने मुझसे कहा

” चिंता मत कीजिये मैडम मैं इसी कोच में हूँ कोई भी परेशानी हो तो मुझे बता दीजियेगा मैं हाज़िर हो जाऊंगा. आपके साथ वाली बर्थ खाली है अगर कोई पेसेंजर आया भी तो कोई महिला ही आएगी इसलिए आप निश्चिंत हो कर सो सकती हैं.”

उसकी बातों से मुझे और मेरे साथ साथ मेरे पति को भी तसल्ली हो गई. ट्रेन चलने वाली थी इसलिए मेरे पति ट्रेन से नीचे उतर गए. उसी समय ट्रेन चल दी. मैंने अपने पति को खिड़की में से बाय किया और फिर अपने सीट पर आराम से बैठ गई. दोस्तों मुझे आज अपने पति से दूर जाने में बिल्कुल अच्छा नहीं लग रहा था. इसका कारण ये था कि मेरी मौसी हवारी ख़तम हुए अभी एक ही दिन बीता था और जैसा कि आप सब लोग जानते हैं मेरी जैसी चुदक्कड़ औरत की ऐसे दिनों में चूत की प्यास कितनी बढ़ जाती है. मैं अपने पति से जी भर कर चुदवाना चाहती थी लेकिन अचानक मुझे बाहर जाना पड़ रहा था. इसी कारण से मैं मन ही मन दुखी थी.

यह कहानी भी पड़े  मेरी बहेन दीपा की हॉट चुदाई - 1

तभी कूपे में वो हेंडसम टीटी आ गया. उसने कहा

“मैडम आप गेट बंद कर लीजिये मैं कुछ देर में आता हूँ तब आपका टिकेट चेके कर लूँगा.”

उसके जाने के बाद मैंने सोचा की चलो कपड़े बदल लेती हूँ. क्योंकि रात भर का सफर था और मुझे साड़ी में नींद नहीं आती. ये सोच कर मैंने गाउन निकालने के लिए अपना सूटकस खोला तो सर पकड़ लिया. क्योंकि मैं जल्दबाजी में गाउन के ऊपर वाला नेट का पीस तो ले

आई थी लेकिन अन्दर पहनने वाला हिस्सा घर पर ही रह गया था. जो हिस्सा मैं लाई थी वो पूरा जालीदार था जिसमें से सब कुछ दीखता था.

करीब दो मिनट बैठने के बाद मेरी अन्तर्वासना ने मुझे एक नया निर्णय लेने के लिए विवश कर दिया. मैंने सोचा कि क्यों आज इस हेंडसम नौजवान से चुदाई का मज़ा लिया जाए. ये बात दिमौसी ग में आते ही मैंने वो जालीदार केवर निकाल लिया और ज़ल्दी से अपनी साड़ी, ब्लाउज़ और पेटीकोट निकाल दिए. अब मेरे बदन पर रेड कल र की पेंटी और ब्रा थी. उसके ऊपर मैंने सफ़ेद रंग का जालीदार गाउन पहन लिया. वैसे उसको पहनने का कोई फायदा नहीं था क्योंकि उसमे से सब कुछ साफ़ नज़र आ रहा था और उससे ज्यादा मज़ेदार बात ये थी कि अन्दर पहनी हुई ब्रा और पेंटी भी जालीदार थी. इसलिए बाहर से ही मेरे निपल तक नज़र आ रहे थे. ख़ुद को आईने में देखकर मैं ख़ुद ही गरम हो गई. साड़ी तैयारी करने के बाद मैं अपनी सीट पर लेट गई और मैगज़ीन पढ़ते हुए टीटी का इंतजार करने लगी. मुझे इंतज़ार करते करते पाँच मिनट बीत गए तो मैंने सोचा कि क्यूँ न पहले खाना खाकर फ्री हो लूँ ये सोच कर मैंने अपना खाना निकाल लिया जो मैं घर से साथ लाई थी. खाना शुरू करते हुए मैंने सोचा कि खाने के बीच मैं टीटी टिकेट चेके करने आ गया तो बीच में उठ कर टिकेट निकालना पड़ेगा ये सोच कर मैंने अपने पर्स में रखा टिकेट निकाल लिया. टिकेट हाथ में आते ही मेरी आँखों के सामने उस टीटी का जवान बदन घूम गया और मेरे अन्दर की सेक्सी औरत ने अपना काम करना शुरू कर दिया. मैंने पहले ही जालीदार कपड़े पहने थे जिसमे से मेरा पूरा बदन दिखाई पड़ रहा था और फिर मैंने अपना टिकेट भी अपने बड़े बड़े स्तनों के अन्दर ब्रा के बीच मैं डाल लिया. अब वो टिकेट दूर से ही मेरे बायें उरोज के निप्पल के पास दिखाई दे रहा था.

यह कहानी भी पड़े  मेरी फ़ुफ़ेरी बहन की शादी में उसकी चुत की चुदाई

पूरी तैयारी के बाद मैं खाना खाने लगी. तभी मेरे कूपे का गेट खुला और टीटी अन्दर आ गया. अन्दर आते ही मुझे पारदर्शी केपडों में देखकर बेचारे को पसीना आ गया. वह बिल्कुल सकेपका गया और इधर उधर देखने लगा. मैंने उसका होंसला बढ़ाने के लिए उसकी तरफ़

Pages: 1 2 3 4 5 6

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


Bur ke chhed me Land Ghusakar maza Marane ki kahanitruck me gangbang chudai sexy storyब्रा के कप्स मुझे साफ़ साफ़ नज़र आ रहे थे sex story in hinditaai ki chudaai ki kahaaniराजस्थान चुदाईstory sex बहाना बनाकर maa kenoukari chahiye to biwi aur ma chudwani padegiलड की भुखी लडकिया Antarvasnacudai ki khaniya in hindi by railmaa aur mausi xxx storyसाडी मेँ सेक्सी सीनमामी की चुदाईवीधवा भाभी ने मुठ मारी चुदाई की कहानीयाchudaiki kahinahi hindi videos story page 1एक भाई की वासनामौसीजी ने तेल लगा के सेक्स किया हिंदी स्टोरीmajak me chod diya chacheri mami ke beti koporn mauslim maa story pasab Hindiविधवा बहन ने भाभी के ऊपर दया storiesKapde utaare maine mami keपापा से घमासान चुदाई कराई कहानी सांस समीर हिंदी सेक्स कहानीjawani me chudaiमैं अपने गुदा में दर्द होता है जब मैं नए सिरे से हो रही हैGoa antarvasnachut kholo mujhe land dalna haRajshrama sex store hinde.2019रोज की चुदाईRas bhari gudaj gaandsabrina ki chudai ki kahani part 2Nukrani ki choot fadiअन्तर्वासना कामिनी की चुदाईआंटी के गानों की आंटी की चूतमममी बोली की चुत ने मत झडनाchachi jin sax kahine hindमेरी बहन का रंडीपन सेक्स कहानीमालकिन की चूदाई जोर जोर सेचोदाई विडीयो अछसेभाभी ने पार्क बुला चुड़ैdaru ke nashe me chudai nonveg story.चूची सहायताxvideos.comcoकमला की चुदासी अमर भैया सेBhabhi ne sex karna sikhaya antarvasna sex kahani hindi story hindiमामी की चूचीलड की भुखी लडकिया Antarvasnaमैंने मज़बूरी में गैर मर्द का लंड चूसnancy ki xxx kahaniआन लाईन चूदाई वीडीयोमा ने लिया बेटे का लन्ड न्यूड विडीयोबुर को जीभ से चुदाई की कहानीmamme ne apne kmpne bos se chudwayasex bideo bhai ne bahen ko patk ke chudai ki dabkeKamukata naurseमाँ मालीस सेकस विडीवो हिँदिसेक्स कथा झोपेत लंड पकडलाBethao sexy kya hरेलगाडी मेँ माँ चूदाई दिन मेँek. reshmi. chudai. Ka. ehasasसुहागरात पर मेरी सील टूटीXXNXX COM. मेरी चूत कि चमड़ी चाटने लगा सेक्सी विडियों यात्री की चुदाईहलकि किचुदाइसफर मे चुदाई की अंतरवासनाGarwali sexy kahnichut ki hawan pooja chudaiचूत फैलाकर लन्ड लियामदमस्त चुदाई का मजामोम की मजबूरी में ग्रुप चुदाई देखीmeri.rani.choot.me.land.lo.desiउषा भाभी कि चुत मे लडmere pindliyo ko choomne lagaकामोन्माद चुदाईmama bhanji ke pyare anterwaana