शिकस्त – एक चुदाई कहानी पार्ट – 2

“गुड नाइट तो बोत ऑफ योउ”. सब कुच्छ इतना फास्ट हो गया, की बिना कोई प्रतिक्रिया किए मैं ओबेरोई मे शर्मा की बेड पर पहुँच गयी. . मैने सोचा, अब आ ही गयी हूँ तो काम पूरा कर दूं. .. और मैने शर्मा को खुश कर दिया…. सुबह होते उसने कोंटर्कत पेपर्स निकले और मेरे नंगे स्तनों पर रख कर साइन कर दिया. वापस आ के पेपर्स राजन सर को दिए तो बहोट खुश होते हुए कह उठे,

“मैं जनता था, तुम ये काम ज़रूर कर सकती हो”. उस के बाद तो ये सिलसिला ही बन गया. मैं रखैल से कब रंडी बन गयी पता ही नही चला. धीरे धीरे राजन सिर का मेरे फ्लॅट पर आना कम हो गया. और एक दिन देखा की उन्हों ने ऑफीस मे एक नई प. ए. भी रख ली थी. अब मेरा ऑफीस मे पहले जैसा रेस्पेक्ट भी नही रहा था. मुझे कहीं भी कुच्छ भी अच्च्छा नही लग रहा था. तो मैने राजन सर को एक दिन अपने फ्लॅट पर बुला लिया. वो आए. मैं साज धज के तैयार हुई थी, उन्हे आकर्षित करने के लिए. उन्हों ने जाम के मेरी चुदाई भी की. जब लगा मुझे की वी संत्ुस्त है तो मैने बात निकली और जो हो रहा था उसके प्रति नाराज़’गी व्यक्त करते हुए कहा,

” सर, आप ने तो मुझे मंदिर मे भगवान को साक्षी मान कर पत्नी बनाया था, फिर आपने पत्नी की जगह रखैल बना दिया, मैने वो भी सह लिया, लेकिन अब तो आपने मुझे रंडी बना दिया है, क्या ये ठीक है?” वो हंसते हुए बोले,

“छ्होटी बच्ची थोड़ी हो की मैं काहु और तुम चली जाओ किसी के साथ सोने के लिए ? तुम्हे भी तो खुजली थी शर्मा से चुदाने की.” अब आवाज़ तीखी हुई,

यह कहानी भी पड़े  सेक्स कहानी टीचर से चुदाई

” एक तो रहने को आलीशान फ्लॅट दिया है, पैसे की तकलीफ़ नही है, तुम्हे रोज नई वेराइटी मिलती है, फिर भी नखरे दिखती है ? और तुम्हे क्या फ़र्क पड़ता है, मैं चोदु या कोई और चोदे ? चुदाई तो चुदाई ही है ना ? समाज ले अपना शरीर मुझे ही दिया है.”
उनका ये रूप देख कर मैं तो हक्का बक्का रह गयी. थोड़ी देर तो क्या बोलना है, कुच्छ सूझा ही नही. फिर जब संभाली तो मैने भी कसर नही छ्चोड़ी. दोनो गुस्से मे आ गये. बात बिगड़ती गई. बड़ा झगड़ा हो गया. मैने कह दिया,

“राजन, तूने मुझे धोखा दिया है. मैं तुझे नही छ्चोड़ूँगी. देख लूँगी. ” इस पर तो वो लाल-पीला हो गया. बड़ी हस्ती थी. उसे कोई ऐसा कह जाए तो कैसे सुन लेता ? वो भी बिगड़ा,

“तू ? तू मुझे देख लेगी ? तेरी हैसियत ही क्या है ? मेरे सामने तेरा क्या वजूद है ? मेरे पास पैसे की ताक़त है, सोशियल स्टेटस है, पोलिटिकल कॉंटॅक्ट है, बड़े बड़े नेता से संबंध है, पोलीस और अंडरवर्ल्ड मे पहेचन है. और तू ? एक रंडी मात्रा !! तेरी क्या औकात है की मुझे देख लेगी ? चल खाली कर ये घर अभी का अभी !!” मेरे पास कोई चारा नही था. लेकिन घर छ्चोड़ते हुए मैने अपनी सारी भादश निकल दी,

“राजन, तू देखना , इन सब के बावजूद मैं तुझे हरा दूँगी, मॅट दे दूँगी !! तुझे ये रंडी शिकस्त देगी, शिकस्त !!! ” घर तो छ्चोड़ दिया, पर जिए कैसे… कहाँ जाए…. ये सारे प्रश्ना सामने आ गये. मैने फिर एक बार शहर छ्चोड़ दिया. लेकिन जल्द ही भूख-प्यास से मैं उब गई. रातों को हाइवे पर खड़ी रह के ट्रक द्रिवेरोन के साथ सोई और खनेका पैसा जुटाया. एक भले ड्राइवर ने बताया ,

यह कहानी भी पड़े  मेरे स्टूडेंट ने मुझे चोदकर मेरे सारे अरमान पूरे किये

“देल्ही जितना सेक्स का व्यवसाय कहीं नही होगा अपने देश मे. तू सुंदर है. वहाँ तेरी कदर होगी. मैं देल्ही जेया रहा हूँ ये ट्रक ले के, मैं वहाँ कोठे भी जानता हूँ, बैठ जेया, तुझे वहाँ पहुँचा दूँगा.” इस तरह नसीब मुझे देल्ही ले आया. मजबूरी मे मुझे वाकई रंडी ही बनना पड़ा. मैने भी वो कोठा पकड़ लिया. सुंदर तो मैं थी ही. मेरा काम चल पड़ा. बहोट कस्टमर आते थे. एक रात मे दस कस्टमर्स को बैठा लेती थी. कोठे की मेडम भी खुश और मैं भी. अब रहने की और खनेकी चिंता तो ना रही. कुच्छ कस्टमर तो खाश हो गये.

यूँ दिन बीत रहे थे…. कुच्छ साल भी बीत गये. अब पैसे भी बन गये थे. लेकिन मैं राजन को नहीं भूली थी. कैसे उस से बदला लूँ, ये सोचती रहती थी.

[दोस्तों, अनुपमा की ज़िंदगी मे फिर कुच्छ ऐसी बात बनी , जो कहानी के रस को ध्यान मे रखते हुए मैं आगे बताऊँगा. ]

फिर एक दिन कुच्छ ऐसी बात हुई की मुझे मेरा हथियार मिल गय….ऱजन को हराने के लिए. और मैं चल पड़ी वापस मुंबई की और.

मुंबई आ के दो महीने तक मैं उस’से नही मिल पाई, क्यों की वो विदेश गया हुआ था. लेकिन उस समय मे मैने अपना काफ़ी काम कर लिया. अब अंतिम वार करने का समय आ गया. राजन के लौटते ही मैं उसे मिली. सेक्सी ड्रेस मे साज धज के गयी थी. मुझे देख के उसे आश्चर्या हुआ. मुहे उपर से नीचे तक देखते हुए बोला,

Pages: 1 2 3 4

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


sezstorymomमेरे बुर को चोद कर प्यास बुझाईबुआ के साथ शेकश कहानीभाभि Sexसाली को चुपके से बोबे देखे Xxx storyजवान बेटी राज शर्मा की कहानीदो लंडसे चुदाईब्रा पंतय की दुकान पर सेक्स हिंदी स्टोरीजसहेली के पति से सेक्स कहानियांseel kaise todi jati hai likha huwa bataiechachara bhai say chodaiराज शर्मा की sex badamarks badwane ke liye chudai antarvasnaसील पैक चूत की चुदाई स्टोरीNukrani ki choot fadiबुर ki safai rezar she xxxचची ने लुंड देख लियामाँ का दीवाना हिंदी सेक्स स्टोरीbhabine chudai sikhai hindiचाचा ने ब्रा पहनेबुरBadi ma yani taiji ki chudai ki hindi kahaniफुला चुतindiansexstores housewife swapingमाँ की घर में चुदाईKhet Porn maa choda kahani48saal ki aurat ki chudaiबीवी बनी छिनाल सेक्स स्टोरीहिंदी सेक्स स्टोरी हरामी ने छोड़ाराज शर्मा हिंदी सेक्सी स्टोरी इन्सेस्टAntarvasana.bhiga badan aur uncal se chudaiSuman ki chudi xxx hindi khanisex videoa chut me loha gusayaopna xxx anti hindi चची का अदला बदली क्सक्सक्स स्टोरीसिगरेट दारू लांबी चुदाई कथाभाभी मुझे पेशाब आ रहा हैhindibfseksisabna mel kar codaमेरे नंगे लंड की मालिश कहानीमकान मालकिन की सहेली की चुदाईभाई ने धोखे से चुदाई कीchod kar behos kar diya xxxbfसाली की बेटी का यौवन पार्ट 2मेरी मम्मी के चहरे में सुबह मुस्कान थी सेक्स स्टोरीpados ke ladke se pyas bujhaiचुतहलकीsexy story posan wale anty36lGRAHIपापा से सुहागरात मनाईसेक्स कहानी बुआ सिस्टर मामिlamba mota land ka romantik xxxncombhai bhan hindi sax camplet khanyaदुकान मालकिन ने चोदना सिखाया.comजाति लडकी कि खेत मे चुदाईchanda ki chut mari xxx satoriअन्तर्वासना भाई बहन दारू पी केसोतेली बहन की भरपूर चुदाई हिंदी स्टोरीabhaghani beegantarvasana ushakibidhwa bhabhi ki malis aur bedroom me chodai xxxvideosचोरी छुपे चुदाई देखीचूतPhim sex địt nhau nhanh như ăn cướpmera bhai mera premi chudai storiesपापा से घमासान चुदाई कराई कहानी उषा भाभी कि चुत मे लडब्लू फिल्म चुदाईमेरी रंडियां हिंदी सेक्स स्टोरीसोना चुदाई