chudai kahani नितिन की टल्ली

मित्रों नमश्कार,
मैं हूँ नेहा और मैं पंजाब कि रहने वाली हूँ! मेरी उम्र २१ साल है और मेरा रंग गोरा है, चेहरा सुंदर और जिस्म आकर्षक है! मेरा कद पांच फुट छह इंच है, और मेरे छुईमुई शरीर के पैमाने ३४-२४-३६ है! मेरे माता और पिता के स्वर्ग सिधारने बाद मैं पिछले ५ साल से अपनी बड़ी बहन, जीजाजी और उनके इकलौते बेटे नितिन के साथ, पंजाब के एक बड़े शहर में रहती हूँ! मैंने बी एससी करने के बाद अब एम एससी कर रही हूँ! जीजा जी बैंक में एक बड़े अफसर हैं और दीदी स्कूल में टीचर हैं!

उनका बेटा नितिन १८ साल का है और बी बी ऐ कर रहा है! हमारा घर बहुत बड़ा है और हर एक को अलग अलग कमरा मिला हुआ है! हर कमरे के साथ बाथरूम भी लगा हुआ है! मैं अपने कमरे में जयादातर अर्धनग्न ही रहती हूँ! जीजाजी के जाने के बाद मैं अक्सर एक छोटीसी निकर और एक लो नेक की बनियान (बिना कच्छी और ब्रा के) ही पहनती हूँ जिस से मेरी लंबी टाँगे और मेरे मम्मों के दर्शन सब को आराम से हो जाते हैं!

मैंने अपना छोटा सा परिचय तो आप को दे दिया, अब मैं आप को उस घटना के बारे में बताना चाहूंगी जिस ने मेरे जीवन में बदलाव लाया और मुझे बेशर्म बना दिया! पहले मैं अपने जिस्म कि नुमाइश नहीं होने देती थी और हमेशा सलवार कमीज ही पहने रहती थी! लेकिन उस घटना के बाद मेरे पहनावे में बदलाव आगया और मैं घर में जिस्म की नुमाइश करने लगी!

जीजाजी के सामने तो मैं अपने जिस्म को ढक के रखती हूँ और ढंग के कपड़े ही पहनती हूँ पर दीदी और नितिन के सामने नेकर बनियान में ही घूमती रहती हूँ, कभी कभी तो उनके सामने ही टॉपलेस हो कर अपने कपड़े भी बदल लेती हूँ! दीदी बहुत टोकती है पर मैं परवाह ही नहीं करती हूँ!

यह कहानी भी पड़े  माँ के कहने पर ही मैंने बहन को गर्भवती किया

वह घटना आज से एक साल पहले हुई थी! उस समय मुझे टाईफाइड हो कर हटा था और मैं बहुत कमजोर हो गई थी! कहीं वह पीलिया न बन जाए इसलिए डाक्टर ने मुझे हिलने डुलने से मना कर दिया था और बिस्तर पर ही आराम करने को कहा! उन्होंने कुछ दिनों के लिए नहाने धोने को भी मना किया और दीदी से मेरे जिस्म को स्पंज (गीले कपड़े से पोंछना) करने को कहा! सिर्फ बाथरूम जाने कि इजाजत दी और वहां भी कोई पकड़ के ले जाए! ज्यादातर तो दीदी ही यह सब करती थी लेकिन कभी कभी नितिन भी मुझे बाथरूम ले जाता था! वह मुझे अंदर छोड़ कर बाहर खड़ा हो जाता था और जब मैं आवाज देती थी तो वह वापिस मुझे बिस्तर तक छोड़ देता था!

दो सप्ताह के बाद मेरा बुखार तो उतर गया था लेकिन ज्यादा कमजोरी के कारण डाक्टर ने अगले १५ दिन के लिए भी वैसा ही आराम करने को कह दिया था! दीदी कि जिद पर और जीजाजी कि आज्ञा के कारण मैं बिस्तर पर ही लेटी रहती थी और जब जरूरत पड़ती थी तब दीदी को या नितिन को आवाज़ लगा देती थी! इस तरह अभी पांच दिन ही बीते थे कि खबर आई कि गांव में जीजाजी के पिताजी का निधन हो गया था और इसलिए जीजाजी और दीदी को तुरंत वहां जाना पड़ा! जाने से पहले दीदी ने मुन्नी (कामवाली बाई) को घर के बाकी काम के साथ साथ मेरा स्पंज करने और खाना बनाने को भी कह दिया था, इसलिए वह दिन में हमारे घर पर ही रहती थी और शाम का खाना बना कर अपने घर चली जाती थी!

देर शाम और रात में तो मुझे नितिन पर ही निर्भर रहना पड़ता था! दीदी के जाने के अगले दिन सुबह जब मुन्नी ने मेरे कपड़े उतार कर मेरे बदन को स्पंज कर रही थी तब मैंने देखा कि नितिन खिड़की से झांक कर मुझे देख रहा था! मुझे बहुत गुस्सा आया पर उस समये मैं चुप रही! जैसे ही मुन्नी वहां से चली गई तब मैंने नितिन को बुला कर उसकी उस हरकत पर बहुत डांटा! मेरी डांट सुन कर तो वह खिलखिला कर हंस पड़ा! जब मैंने उससे हँसने का कारण पुछा तो वह कहने लगा कि यह नज़ारा तो वह रोज देखता रहता था,

यह कहानी भी पड़े  बस मे मिली पूजा की चूत

जब उसकी मम्मी भी मेरा स्पंज करती थी तब भी वह इसी तरह झाँक कर यह सब देखता रहता था! मेरे पूछने पर कि उसे यह सब देखने से क्या मिलता है, तो उसने कहा कि उसे मेरे गोरे रंग का जिस्म, मेरे मम्में और उनके उपर लगी काली काली निप्प्लें तथा नीचे चूत के उपर के भूरे रंगे के बाल देखने बहुत अच्छे लगते हैं और वह उन्हें छूने कि इच्छा भी रखता है! यह सुन कर मैं दंग रह गई और उसे एक बार फिर से डांट कर वहां से भगा दिया!
अगले दिन सुबहे मुझे बहुत पसीना आने कि वजह से जिस्म में खुजली हो रही थी और उधर से मुन्नी का सन्देश आया था कि वह देर से आयेगी! जब मुझसे खुजली बर्दास्त नहीं हुई, तब मैंने सोचा कि क्यों न नितिन का सहारा लिया जाए और उसे ही स्पंज करने को कह दूं! उसने तो मुझे नग्न देखा हुआ ही था तो मुझे उससे किसी बात कि शर्म नहीं आनी चाहिए! यह सोच कर मैंने नितिन को आवाज दी और उसे मुन्नी के देर से आने के बारे में बताया तथा उसे आग्रह किया कि वह मेरा स्पंज कर दे!

Pages: 1 2 3 4 5 6

Comments 1

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


चुतकी झलक Hindi sex storiesसविता भाभी अशोक का इलाजचुदाईnagi.aurat.chodyta.dakha.khaniristo ma hindi xxx chudi story 2019Kachchi kali ko khilaya porn सेक्सी विक्रेता हिंदी कहानीमाँ की गाङ मारीKapde utaare maine mami keवीर्य से भीगी हुई ब्रा मुझे पहना दी।रोज तुझसे चुदवाऊँगी bhai ke lund se piyas bujayमा कीगहरी नाभि को चूमाबीवी थी गैर मर्द के बाहों में chudaiचोदनजितना खेत में चोदने वाले बेब सेक्सsheela.xxx.hindi.kahaniदोस्त के मम्मी की मस्त चुदाईअंतर बासना मम्मी नादान बेटे की इच्छाdaeikand sexiChudai ke baad choot picsचुदाईसफर मे चूदाई फिल्मेनाभि se utejna sexबीवी और बहन की च**** ट्रेन मेंकविता कि सेक्स कहानियाटयुशन के सर ने मेरीmammi ko hum sabane milke chodaचुदक्कड़ सहेलियाँ गन्दी चुदाई दीदी पापा की दोरुत से चूदाई रात दिनमेरी अभूतपूर्व चुदाईमाँ बेटी ननद भाभी की रंडी बनने वाली हिन्दी सेक्स कहानीबुर चोदाईindian seyx videos 25 वरश आनटिचुदाई घर बहन भुआकुँवारा बदन चुदाई कहानीmaa aur uncle ki shuagraat chudai storyoffice me sab chudti hainXxx.मामि भाजीsex xxx kai sari aunnty ke satha holi manai kahaniचुदाई लड़की काभाभी चूतड छेदपेटिकोट ऊठाकर चुत की चुदाईSadi suds orat ki chodar kahani hindi maifak mi yes ohh aaa सेक्स स्टोरीmasag palar vale kee antrvasnaanterwaanaकुँवारी बहन के बोबेबहन का आंग पर्दर्सन सेक्स स्टोरीज हिंदीxxx story hindi train me chooti bahen ko goad me baithayबाजी की ऊँगली मेरे लंड पर टच होMummy ke najayaj sambandh antarvasnaAntrvasna story kamla ki moti gandचुदक्कड बहन कीSex story hidin.चुदाईजारीउनकी गांड पर लन्ड रखकरdod dba kar cohdaPhupheri Behen ki choot main land daal diya kahaniXxx video 8salcmo 2018सेकसी चुत लडantarvasna.jhad gayi par nahi ruka dhakke lagata rahaबाड़मेर से चुदाई कहानीMami ki nokri part 2 xxx suoriesचुतमां की इच्छा पूरी की सेक्स स्टोरीजअन्तर्वासनाप्रगति दीदी की कहानियांआआआआहह।मुझे लौडा चुसना हे हरामी कहानीbhabhi masage sex khaniMere parivar ke kachche aam sex story