मम्मी मैं आदमी वाला काम करूंगा तेरे साथ–1

मैं उत्तर भारत में एक जमींदार परिवार का हूं. हमारी बहुत बड़ी खेती है. हमारे परिवार में सभी मर्द और औरतें अच्छे ऊंचे पूरे हैं. हमारे परिवार में मेरी मां, मामाजी, मैं और मेरी छोटी बहन प्रीति है. पिताजी बचपन में ही गुजर गये थे, तब से हम लोग मामाजी के साथ रहते हैं. मामाजी भी अकेले हैं, शादी नहीं की.

घर के काम के अलावा मेरी मां खेतों में भी काम करती है इसलिये उसका शरीर बड़ा तंदुरुस्त और गठा हुआ है. उसका अच्छा कसा हुआ पेट है, लंबी लंबी मजबूत टांगें हैं और बड़े बड़े चौड़े कूल्हे हैं. मम्मे तो अच्छे भरावदार और मोटे हैं.

जब मैंने अम्मा के सजीले बदन को एक मर्द की निगाह से देखना शुरू किया तब मैं उन्नीस बरस का था. अपनी मां को मैं बहुत प्यार करता था और उसके रूप को अपनी जांघों और बांहों में भर लेना चाहता था. हमारा घर खेतों के बीच था और चारों ओर ऊंची दीवालें थीं जिससे कोई अंदर ना देख सके. इसलिये मां और प्रीति गरमी के मौसम में ज्यादा कपड़े पहने बिना ही घूमतीं थीं. बारीक कपड़े पहनकर दोनों बिना ब्रेसियर या जांघिये के ही रहती थीं.

मेरी अम्मा का शरीर काफ़ी मांसल और भरा पूरा है और वह बड़ी टाइट और बारीक कपड़े की सलवार कमीज़ पहनती है. जब मां गरमी में रसोई में बैठ कर खाना बनाती थी, तब मुझे मां के सामने बैठ कर उसकी ओर देखना बहुत अच्छा लगता था. अम्मा बिलकुल पतले टाइट पारदर्शक कपड़ों में चूल्हे के सामने बैठ जाती थी. गरमी से उसे जल्द ही खूब पसीना छूटने लगता था. मां की बड़ी बड़ी चूंचियां उसकी लो कट की कमीज के ऊपर उभर आतीं थीं. पसीने से भीगी कमीज में से उसके मांसल स्तन साफ़ दिखने लगते थे.

यह कहानी भी पड़े  नौकरी बचाने के लिए माँ को चुदवाया

मैं नजर गड़ा कर पसीने की बहती धारों को देखता था जो उसके गले से चूंचियों के बीच की गहरी खाई में बहने लगती थीं. अब तक पसीने से गीले बारीक कपड़े में से उसके उभरे हुए निपल भी दिखने लगते थे और मां के मतवाले उरोजों का पूरा दर्शन मुझे होने लगता था. पहले अम्मा मुझे इस गरमी में बैठने के लिये डांटती थी पर मैं उसे प्यार से कहता. “मम्मी जब आप इतनी गर्मी में बैठ सकती हैं हमारे लिये, तो मैं भी आपकी गर्मी में पूरा साथ दूंगा”.

मां इस बात पर मुस्कराकर बोलती “बेटा मैं तो गरम हो ही गई हूं, मेरे साथ तू भी गरम हो जायेगा”. अब असली नाटक शुरू होता था. मां मेरी ओर बड़े प्यार से देखते हुए कहती “देख कितना पसीना आ गया है” और अपनी कमीज का किनारा उठाकर मुझे वह अपना पसीने से तरबतर थोड़ा फ़ूला हुआ नरम नरम पेट दिखाती.

वह एक पटे पर पिशाब करने के अंदाज़ में अपनी जांघें खोल कर बैठती और फ़टाफ़ट चपाती बनाती जाती. मैं सीधा उसके सामने बैठ कर उसकी जांघों के बाच टक लगा कर देखता था. मेरी नजर खुद पर देख कर अम्मा अपना हाथ पीछे चूतड़ पर रखकर अपनी सलवार खींचती जिससे टाइट होकर वह सलवार उसकी मस्त फ़ूली फ़ुद्दी पर सट कर चिपक जाती.

अम्मा की फ़ुद्दी कमेशा साफ़ रहती थी और झांटें न होने से सलवार उस चिकनी बुर पर ऐसी चिपकती थी कि फ़ुद्दी के बीच की गहरी लकीर साफ़ दिखती थी. उसके पेट से बह के पसीना जब फ़ुद्दी पर का कपड़ा गीला करता तो उस पारदर्शक कपड़े में से मुझे मां की बुर साफ़ दिखती. उसका खड़ा बाहर निकला क्लिटोरिस भी मुझे साफ़ दिखता और मैं नजर जमा कर सिर्फ़ वहीं देखता रहता.

यह कहानी भी पड़े  Bangalan Bhabhi Ki Yaun Santushti Ki Chahat poori Hui- Part 2

अब तक मां की चूत में से चिपचिपा पानी निकलने लगता था और वह उत्तेजित हो जाती थी. बुर की महक से मेरा सिर घूमने लगता. हम दुहरे अर्थ की बातें करने लगते थे. मम्मी मेरी प्लेट पर एक चपाती रख कर पूछतीं “बेटा तेल लगा के दूं?”. मैं कहता “मम्मी बिना तेल की ही ले लूंगा, तू दे तो”. रात को यह बातें याद करके मैं बिस्तर में बैठ कर अपना लंड हाथ में लेकर मां के बारे में सोचता और उसकी चूत चोदने की कल्पना करते हुए मुठ्ठ मारता.

अब मैं असली बात बताता हूं कि हमारा आपस का कामकर्म कैसे शुरू हुआ. मामाजी बीज खरीदने को बाहर गये थे, करीब एक हफ़्ते के लिये. वैसे पहले भी मामाजी ऐसे जाते थे पर इस बार पहली बार मैंने गौर किया कि एक दो दिन में ही मां छटपटाने सी लगी. गायें जैसी गरम हो कर करती हैं बस वैसा ही बर्ताव मां का हो गया. एक छोटे खेत की जुताई बची थी. सुबह मैंने मां से कहा “मम्मी मैं वह छोटा खेत जोत के आता हूं”. मां बोली “बेटा, अभी तो बहुत गर्मी होती है, वहां कोई भी तो नहीं आता है, आज कल तो कोई भी खेतों में नहीं जाता है, पूरा वीराना होगा.”

मैंने उसके बोलने की तरफ़ ध्यान नहीं दिया और ट्रैक्टर तैयार करने लगा. जब मैं निकलने ही वाला था तो अम्मा ने पीछे से कहा “बेटा मैं दोपहर का खाना ले के आऊंगी”. मैं बोला “ठीक है मम्मी पर देर मत करना”. मैं फ़िर खेतों पर निकल गया.

Pages: 1 2 3 4 5 6

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


चुदाई एक गाँव की कहानीबुआ दीदी ने बुर चोदाना शिखय की कहानी हिन्दी मेदोग्गी सेक्सक्स video48saal ki aurat ki chudaisezstorymomrajsharmahindisexistoriesMousa जी ने मुझे choudaमेरे नंगे लंड की मालिश कहानीShelia baap ki patani BNI chudaididi abhi ufff सेक्स स्टोरीपत्नी को चुदते देखा सेक्सबेटी की सेक्सी कहानीपरिवार में हगते मूतते गंदी चुदाई की कहानीमाँ ने चुदवाया Storiesमाँ ने बेटी चुदाईदोग्गी सेक्सक्स videomai hu anjali chudai storydidi ko kosa bari me choda 2 hindi sex kahaniभाभी नंनद सेकस कहानी चुत कीsuhagrat bhabhi ke saath 3lund ne chodaतैरना सिखाने में चुदाईबुर का सुपाडालड़की चूतhandi dipli pa chodi story xxx...दुस्त का बैहेन Sxc VideoPanditji ke sath sex storyसेक्सी माल की कहानीxxx sex story adla badli with sanskari in partsDelvre ki chot se aane ki khneyamummy aur mummy ki beti ki jhhat banai hindi sex kahaniaBoy frend kee डिलडो से गाड मारी Antarvasnaआंटी की चूत मीटी डिलडो डाल कर करती थी काहनियाchoti bhan ko choda srdiyo meबुर चोदाईरीतु चुदाई दीदी शरदीKMLA.SEXXXXमाँ कीचुदाई देखी की कहाणी अंतरवासनामुझे लंड की भूखमुझे टांग उठा कर चुदना हैदो चूत की चुदाई चिल्लाईsole nanveg sex storiesखूबसूरत आंटी ने मालिश करके चुदायाsexbaba.net बहु ससुर की चुदाई की कहानीहीन्दि सेकसी कहानिया पुरी चुदाई वालीXxxnnxxx मम्मी के सामनेMaa ne unka raj bataya sex storiमम्मी से चुदाई वाला खेलsuhagrat me hardcore chudai ki kahaniabehen ke chuth ke bal antarvasna pert 2chudvaya sfr memangalsutra land me lapet di bhabhi chudai videoxxxvideostorihindiBethao sexy kya hAntervasna ghar m bhaga bhaga kstarnager se maa ne pyas bhujwai sex storyहिंदी सेक्स स्टोरी हरामी ने छोड़ाAntrvasna mosi mosa or Mai ek sath Soye bad parsage risto me chudai antarvasna sex storyचोदMalboos kiss sex videoAntarvasna xxx didi Barsatkampani me sil turvaiमुझे लंड की भूखबेटे का प्यासा लंड सेक्स माँ से ऑनलाइन चीटिंग चुदाई सेक्स कहनीdud dhikhake lund chusa sex kahaniyaBadi ma yani taiji ki chudai ki hindi kahanipapa ka pyar part3sexy story fufa ji ka land chusaजबरदस्ती गांड़ की चुदाईहिंदी सेक्स कहानी घर की auratu की chuadiसेक्सी कहानी vilege ke मुखिया का लड़का aur शहर की लड़कीshuhagrat pe gannd msrisex storyNEWBRAPANTEYशिला आंटी की चुदाईseksi khaneeantarbsna ma or bhan ke gand balkneदीदी की गाड़ देखकर सेक्स किया लिखा हुआhedin saschodaiशादी की पहली चुदायीसलवार का नाड़ा खींच लिया सेक्स कहानियांchuta kd lrki xxxबीवी थी गैर मर्द के बाहों में chudai