मुंबई की बारिश और माँ बेटे का प्यार

जब रवि अपनी माँ की चूत द्वारा अपने लंड को भींचते और कसते हुए महसूस करता है तो वो घस्से लगाना बंद कर देता है. वो अचंभित सा अपनी माँ को झड़ते हुए देखता है और इसमे एक जबरदस्त रोमांच का अनुभव करता है. जब रश्मि का झड़ना कुछ कम हो जाता है तो वो पूरी निर्दयता से अपना लंड उसकी चूत में दुबारा से घुसेड देता है और उसको बुरी तरह से चोदने लगता है.

“ओह………ओह माँ…….ओह माँ! हॅयान्म चोद मुझे…… चोद अपनी मम्मी को…… ऐसे ही मेरे लाल…. चोद चोद कर फाड़ डाल मेरी चूत!”

“और ज़ोर से…और ज़ोर से….चोद अपनी माँ को जिसे चोदने के तू बरसों से सपने देखा करता था. ….हाए में मरी….उफफफ्फ़…..कितना मोटा लॉडा है मेरे लाल का….लगा दे पूरा ज़ोर…..मेरे बेटे…ऐसे ही चोद….उफ़फ्फ़ में फिर से झड़ने वाली हूँ….में फिर से झड़ने वाली हूँ….”

“देख कैसे तेरे मोटे लौडे ने मेरी चूत फैला दी है. तूने अपनी माँ की चूत का क्या हाल कर दिया है बेटा……..हाए मेरी चूत…उफफफफ्फ़….हे मेरे भगवान …..आज तो लगता है में मज़े से मर ही जाऊंगी….मेरे लाल में तो तुझे बता भी नही सकती कि तू मुझे चोद कर कितना मज़ा दे रहा है. ….उफ़फ्फ़…कितना मज़ा है अपने बेटे से चूत मरवाने में ….अहह….हाँ और गहराई तक ठोक अपनी माँ की चूत……जड तक घुसेड अपना लॉडा……उफफफफफ्फ़

“अहह…आह. चोद डाल…..चोद डाल माँ को……..हे भगवान मेरा निकलने वाला है….में झड रही हूँ….मेरे साथ साथ तुम भी बेटा….गिरा दो अपना माल मेरी चूत में…..भर दे अपनी मम्मी की चूत अपने गरम रस से…”

रवि आँखे बंद किए और दाँत भिंचे पूरे ज़ोर से अपनी माँ को चोदे जा रहा था. वो अपने टट्टों में वीर्य उबलता हुआ महसूस करता है और फिर हलाल होने वाले बकरे की तरह एक उँची कराह भरते हुए एक आखरी धक्का लगा कर अपना लॉडा अपनी माँ की चूत की जड तक पहुँचा देता है.

यह कहानी भी पड़े  बंगलौर में दुसरे की बीवी चोदी उसके सामने

रश्मि अपनी चूत में जबरदस्त ऐंठन महसूस करती है और फिर उसकी चूत में गर्म वीर्य की बरसात सी होने लगती है. उसका मुँह एक घुटि चीख के रूप में खुल जाता है और कामोउन्माद के शिखर पर उसे उस वो आनंद प्राप्त होता है जिसके लिए वो पिछले दो सालों से तरस रही थी. उसकी चूत अति संकुचित होकर रवि के लौडे को निचोड़ रही थी. आनंद की चर्म अवस्था में वो अपना बदन झटक रही थी और उसके मुख से अनियंत्रित सिसकारियाँ फुट रही थी. धीरे धीरे उसका बदन शांत होने लगा और वो नज़र उठाकर अपने बेटे को देखती है जो अभी भी उसकी चूत में गहराई तक लंड घुसेडे हुए था.

“ओह बेटा…”वो सिसकती है. “तुमने तो कमाल कर दिया. एसा मज़ा जिंदगी में पहली बार मिला है.”

“सच कहूँ मम्मी…..यह तो मेरी कल्पना से भी कही ज़यादा मज़ेदार था. उफ़फ्फ़ आपकी चूत….आपकी चूत का तो कोई जवाब नही…में हमेशा सोचा करता था कि कैसे लगेगा आपको चोद कर, अपनी मम्मी को चोद कर! मगर आज जब मेने आपको चोदा तो जाना ऐसे मज़े के बारे में तो कल्पना भी नही की जा सकती.”

“मेरे ख़याल से मुझे चोदते वक़्त तुम्हे मुझे मम्मी कह कर नही पुकारना चाहिए” रश्मि हंसते हुए बोलती है.

“अच्छा! तो फिर में आपको क्या कह कर पुकारूँ?”

“मुझे नही मालूम” रश्मि हंसते हुए जवाब देती है”कुछ भी कह कर बुला सकते हो-गश्ती, रांड़, भोसड़ी की…कुछ भी…और चाहो तो मुझे सिर्फ़ रश्मि कह कर भी पुकार सकते हो.”

“ओके! में आपको रांड़ नही मेरी रांड़ …उम्म्म्म या फिर मेरी रंडी माँ. या फिर साली कुतिया…..उम्म्म सोचना पड़ेगा! मगर आपको चोदने के समय मम्मी कह कर पुकारने में भी अलग ही मज़ा है. यह एहसास कि में अपनी सग़ी माँ को चोद रहा हूँ अलग ही मज़ा देता है….मगर सोचना पड़ेगा…’

यह कहानी भी पड़े  अपनी घर की कामवाली बाई की चुदाई

“हाँ वाकई में जब तुम अपना लॉडा मेरी चूत में फँसाए मुझे मम्मी मम्मी कहोगे तो मज़ा दुगना हो जाएगा. मगर ध्यान रहे तुम सिर्फ़ मुझे चोदने के वक़्त ही ऐसे नामों से या गालियाँ देकर पुकार सकते हो मगर बाकी पूरे समय में तुम्हारी माँ ही रहूंगी. और इस बात को कभी भूलना नही”

“नही भूलूंगा. वैसे भी आज आप को चोदकर मैं भी मादरचोद बन गया हूँ”

“एक बहुत ही बढ़िया और जानदार मादरचोद.” रश्मि हँसती है और महसूस करती है रवि ने उसकी चूत से अपना लॉडा निकाल लिया था. “तुम्हारा बाप इस चूत को चोदते हुए कभी थकता नही था अब देखना है तुममे कितना दमखम है”

इस तरह दोनों माँ बेटे के बीच जब सेक्स का अवैध रिश्ता बना तो फिर कोई शर्म या संकोच की भावना नही रही और दोनो अपना जीवन प्यार और वासना के साथ अपना सुख पूर्वक गुजरने लगा

दोस्तो इसी के साथ विदा लेता हूँ फिर मिलेंगे एक और नई कहानी के साथ आपका दोस्त राज शर्मा

समाप्त

Pages: 1 2 3 4 5 6 7

Comments 1

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


लङ चुतकहानीबुआ चुदाईSalma antarvasnamera kamuk badan aur atrupt yuwan sex storyमाँ के साथ शादी और सुहागरात मनाई सेक्स हिंदी कहानीchachera bhai Milne Aaya hindi part 2धोखा चुदाईGoa antarvasnaमेट्रो मे आंटी की चुदाईपापा से सुहागरात मनाईअदला बदली सेक्स कहानियाँमालकिन की चूदाई जोर जोर सेHindi sexy stori ma Bhan bhanji brsat ma srdi me रात में बहन के कमरे में घुस के चोदने का पोर्न वीडियोठंडी मे दोसत की बीवी की चोदाई की कहानीkala land shafid chut land chut landbhan shila सेक्स स्टोरीबुआ के साथ शेकश कहानीyatra me risto me hue chudai ka hindi storyहिंदी सेक्स स्टोरी नाभि के नीचे स्कर्टshuhagrat pe gannd msrisex storyOxssip incest story.comमँगला बीबी की चुत मारीदो चूत की चुदाई चिल्लाईब्रा के कप्स मुझे साफ़ साफ़ नज़र आ रहे थे sex story in hindiचुदाईGermard ki bahome sex story Hindi mosi ki virgin veerey comjahaaz k ander chudayi.usne chudwakar chut dilwaiमोसी कीगांडकाजल का फिगर Xxx storysमेरा चुदक्कर भाभीयाँLarki ko kaha chune se sex karne ke liye taiyar ho jayengeफुला चुतसेक्स कहानी एक दूजे के लिएजैसे चूत फट जाएगीअन्तर्वासना आंटी को घर परतै की चुदाई देसी बीस कॉममेट्रो chudai xx video.comsexbaba.net lmbi khani chudai meri biwi or sadisuda behn pagesammy chudwati rahati thi mai chup chup kar dekhata rahata tha hindi sex kahani rajsharmaअन्तर्वासना खेत मेंxxx bur me laddalke chudns hinde dashiglrlfarand se sexke bata story hindianterwaanaचुदाई घर बहन भुआटूशन टीचर को बारिश म छोड़ाkamsin nanad ki chudai training hindi meचची ने लुंड देख लियाHindi sexy stori ma Bhan bhanji brsat ma srdi meXxnxxx BHEJUR 2014माँ की चुदाई अंकल से नई कहानियाnagi.aurat.chodyta.dakha.khanijaklingi xxxxsexxxx muhbme leसुहागरात को बीवी को चोदsexsstori.comसाली की बेटी का कुँवारा यौवन पार्ट 2सांवली चूतबुर लंड घुसाने की कविताविधवा भाभी ची ठुकाईचुतकी झलक Hindi sex storiesरानी को चोदाअदला बदली सेक्स कहानियाँsas dmad sxiy khaney gande galephimsetmyhanganterwsna saswww antarvasnasexstories com incest sasur bahu kamvasna chudai part 7chudaai ki haseen rAtpanchagani me biwi ki chudaiससुर और बहु की कामवासना और चुदाई 8यात्री की चुदाई