मेरी पसंदीदा चुदक्कड़ घोड़ी

मेरा लम्बा और मोटा लंड हर वक़्त बस चोदने की फ़िराक में लगा रहता है. हर मर्द का मन चुदाई करने का करता है. हर मर्द चाहता है कि उसके पास कोई न कोई मस्त लड़की या औरत हो जिसे वो जब चाहे जैसे चाहे चोद सके. मस्त नंगी नंगी चुदक्कड़ घोड़ियों को चोदने से ज्यादा मज़ा किसी चीज़ में नहीं आता. वैसे तो ज्यादातर मर्दों के जीवन में सिर्फ़ एक ही घोड़ी होती है और वो है उनकी बीवी. पर मैंने 20 साल की उम्र होने से पहले ही कुल मिलाकर 24 मस्त चुदक्कड़ घोड़ियाँ चोद डाली थीं.. पर इतनी सारी लड़कियों और औरतों में मुझे सबसे ज्यादा मज़ा एक लड़की की चुदाई करने में आता था. और वो लड़की थी मेरी सबसे प्यारी, सबसे गदराई, सबसे ज्यादा कामुक और हद से ज्यादा चुदक्कड़ दीदी…….मेरी लंगड़ी मधु दीदी. जब तक मैंने दीदी की चुदाई नहीं की थी तब तक मैं उन्हें अपनी दीदी की तरह ही मानता था. वो दोनों पैरों से लंगड़ी थी पोलियो की वजह से और खड़ी ना हो पाने की वज़ह से हमेशा घुटनों पर चलती थी या फिर ३ पहियों की रिक्शा पर. पर जब मधु दीदी मुझसे पहली बार चुदी तो मैं उनका दीवाना हो गया. पहली बार चुदने के बाद दीदी भी मेरी चुदाई की दीवानी हो गयीं. शुरू के 2 महीने तो दीदी चुदाई से काफ़ी डरती भी थी कि कहीं हम पकड़े ना जाएँ. बड़ी मुश्किल से मैं दीदी को हफ्ते 10 दिन में एक बार चोद पाता था और बड़ी बेसब्री से उस दिन का इंतज़ार करता था. पर इतने इंतज़ार के बाद उस लंगड़ी को चोदने में खूब मज़ा भी आता था. घंटों उस चुदक्कड़ लंगड़ी को घोड़ी बना कर चोदने में हद से ज्यादा आनंद आता था. और दीदी भी मेरा नाम ले ले के खूब जोशीले ढंग से चुदती थी. दीदी को चुदने में इतना मज़ा आने लगा कि वो 2 महीने बाद हर दुसरे तीसरे दिन चुदने के लिए कहने लगीं.

“दीपू…मैं 2 दिन से नहीं चुदी. कब चुदुंगी?”

“कल मोका मिलेगा अच्छा. पुरे दिन तुम्हारी चुदाई करूँगा”

बस इस तरह ही दीदी मुझसे चुपके से बात करती रहती जब मैं उनके घर जाता. और जब मैंने देखा कि ये लंगड़ी मेरे लंड की दीवानी हो गयी है तो मैंने एक दिन दीदी की मस्त खरबूजे जैसी गांड भी चोद दी. जब पहली बार दीदी की गांड चुदी तो दीदी ख़ूब रोयीं और दर्द से चिल्लाई. पर मैं तो उस दिन जैसे जन्नत में ही घुस गया था. दीदी की गांड की ही वजह से मेरे अंदर दीदी को चोदने की इच्छा जागी थी. दो महीने तक लंगड़ी मुझसे चुदती रही पर मैंने दीदी की गांड में कभी ऊँगली तक नहीं डाली. मैं पहले दीदी को सेक्स के लिए पागल कर देना चाहता था. क्यूंकि सच तो ये था कि जितना मज़ा मधु दीदी को मुझसे चुदने में आता था उससे कई गुना ज्यादा मज़ा मुझे आता था दीदी को चोदने में. मैं जब चुदाई करता हूँ तो लड़की को घोड़ी बनाकर खूब देर तक चुदाई करना पसंद करता हूँ. अक्सर लड़कियां 20-25 मिनट से ज्यादा घोड़ी पोज़ में नहीं खड़ी हो पातीं. उनके घुटनों में दर्द होने लगता है. पर दीदी तो एक सचमुच की घोड़ी थी. वो तो हर वक़्त ही घोड़ी के पोज़ में रहती थीं. लंगड़ी होने की वजह से वो घोड़ी की तरह घुटनों पर ही चलती थीं. इसी वजह से दीदी मेरे लिए किसी भी जगह घोड़ी बन कर खड़ी हो जाती थीं ताकि उनका नंगा घोड़ा…….यानि की मैं…..उस मस्त चुदक्कड़ घोड़ी की चुदाई कर सकूँ. अब चाहे मैं उनको 3 घंटे चोदूं या 6 घंटे चोदूं दीदी पुरे टाइम अपने हाथों और घुटनों पर घोड़ी बनी रहती. कभी नहीं कहा कि “दीपू मेरे घुटनों में दर्द हो रहा है!” बहुत बार तो यूँ ही फ़र्श पर या लकड़ी की बेंच पर दीदी बिना कोई तकिया घुटनों के नीचे रखे घोड़ी बनी रहतीं और चुदती रहतीं. कई बार तो दीदी फ़र्श पर मस्त घोड़ी बन जातीं और मैं पूरा उनके ऊपर चढ़ के कमर पकड़ के बहुत ही ज़ोर से उनकी चुदाई करता. मैं इतने तेज़ और भयंकर तरीके से धक्के लगाता कि मुझे खुद को लगता कि कहीं दीदी के घुटने छिल ना जाएँ. मैं दीदी से पूछता “दीदी तकिया लगा लो घुटनों के नीचे नहीं तो घुटने छिल जायेंगे और दर्द भी होगा.” पर दीदी कहती “कोई बात नहीं दीपू…..मुझे आदत है….तू बस ऐसे ही चोदता रह मेरे घोड़े…….ऊऊह्हह्हह्हह्हह्हह …….रुक मत दीपू…….बस चोद मुझे”

यह कहानी भी पड़े  टीचर को उसके ससुराल में चोदा

दीदी की यही बात बड़ी मस्त थी. वो बिलकुल वैसी लड़की थी जैसी मुझे चाहिए थी. मेरे सामने अगर कोई नंगी लड़की घोड़ी बनी हो तो मैं उस घोड़ी को बिना रुके चार चार घंटे तक चोद सकता हूँ. लड़की को घोड़ी बना कर चोदना या डौगी स्टाइल में चोदना मुझे हद से ज्यादा पसंद है. और दीदी ही अकेली ऐसी लड़की थी जो मेरे लिए तब तक घोड़ी बनी रह सकती थी जब तक मैं चाहूं. इसलिए मुझे दीदी को चोदने में बहुत ज्यादा मज़ा आता था. और इसलिए मैंने दीदी की गांड चोदने में जल्दबाज़ी नहीं दिखाई. दीदी को मुझसे चुदते हुए 2 महीने से ज्यादा हो चूका था जब मैंने उस दिन पहली बार दीदी की मस्त कुंवारी फूली हुई गांड का उद्घाटन किया. दीदी की गांड ने मुझे काफी समय से पागल कर रखा था. और जब मैं उनकी डौगी स्टाइल में चुदाई करता तब तो मेरी और ज्यादा हालत ख़राब हो जाया करती थी. चुदाई करते टाइम मैं खूब उस लंगड़ी के मस्त नंगे नंगे मुलायम चूतडों को पकड़ता और सहलाता रहता. और डौगी स्टाइल में तो बहनचोद उस लंगड़ी की गांड का वो मस्त भूरा छेद भी हमेशा मुझे चिड़ाता रहता. पर मैंने भी सोच रखा था कि इस लंगड़ी गांड का उद्घाटन जब करूँगा जब ये लंगड़ी मेरी चुदाई के लिए पागल हो जाएगी. क्यूंकि गांड का भूरा छेद देख के ही लगता था कि गांड काफी तंग है. और दीदी की गांड कभी चुदी भी नहीं थी. और चुदती भी कैसे उस कुतिया की तो चूत भी पहली बार मैंने ही चोदी थी. इसलिए जब 2 महीने बाद हम रोज़ चुदाई करने लगे और हमें दीदी के घर पर ही सुबह से शाम तक अकेले रहने का मोका भी मिलने लगा तो मैंने एक दिन दीदी की गांड का उद्घाटन कर दिया. दोस्तों एक लकड़ी की बेंच पे चुदी थी उस दिन दीदी की गांड. और लंड को तो मैंने दीदी की रसोई में रखे सरसों के तेल के डिब्बे में पूरा डुबो कर तरर किया था उस लंगड़ी कुतिया की गांड में डालने के लिए. पर मैं भी खूब कमीना था. मैंने दीदी की गांड में तो बिलकुल भी तेल नहीं लगाया. बस एक पतली सी इंजेक्शन वाली पिचकारी से दीदी की गांड में गुनगुना पानी भर के दीदी को एनीमा देकर अच्छे से गांड को साफ कर लिया था. हाँ जब दीदी बेंच पर घोड़ी बनी तो मैंने पहली बार उनकी गांड का स्वाद लिया. मैंने आधे घंटे तक दीदी की गांड के छेद को खूब मस्ती से चाटा. मैं मज़े से पागल हो रहा था. जिस गांड को मैं इतना पसंद करता था और जिस गांड के छेद को मैंने दीदी की चुदाई करते हुए खूब फुदकते हुए देखा था वो छेद आज दीदी ने मेरे सामने परोस के रख दिया था. ये ख्याल कि मैं आज दीदी की इतनी कोमल और गरम गांड अपने लंड से चोदुंगा, मुझे पागल बना रहा था. मैं दीदी के उस गरम गांड के छेद को किसी कुत्ते की तरह चाट रहा था. मेरे होंठ दीदी की गांड के छेद पे ऐसे रगड़ खा रहे थे जैसे वो दीदी की गांड का छेद नहीं बल्कि उनके होंठ हो. ……..पर उफ्फ्फ्फफ्फ्फ़……वो भूरा मस्त फुदकता हुआ गांड का छेद उनके होंठों से कम भी नहीं था. मैं जोश में खूब गन्दी हरकत करने लगा. गांड के छेद में थोडा सा थूक जीभ से अंदर करता और फिर ज़ोर से छेद को चूस के थूक वापस अपने मुंह में ले लेता और उसे सटक जाता. बिलकुल ऐसा लग रहा जैसे मैं दीदी की गांड का रस पी रहा हूँ. लंगड़ी तो मेरी ऎसी हरकतों से गर्मी से पागल हो गयी. कहने लगी “उफ्फ्फफ्फ्फ़ दीपू …..कितना मज़ा आ रहा है……इस्स्स्सस…..उफ्फ्फफ्फ्फ़……आःह्हह्ह्ह्हह्ह्ह्ह”

यह कहानी भी पड़े  Antarvasna Sex मामी की अंगड़ाई चुदाई

Pages: 1 2 3 4 5 6 7

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


pados ke ladke se pyas bujhaiमकान मालिक की बहु को चोदाSezy story with mameri bhabiमेरे लंड में आइसक्रीम लगाgand ko chedta tha vo sex storyhedin saschodaiमुझे लंड चूसना है यार सेक्स स्टोरीMene apni Patni ko ger se cudwya बुर ki safai rezar she xxxwww.damad ne choda sas ko sex stori hindi meभौजाई किवाड़ बंद नंगा चूतहिंदी सेक्से स्टोरी सिस्टर को बालकोनीचूत लंड की बोलते हुएसलोनी की प्यारी चुदाई की कहानीnangi samuhik besaram chudai kahaniटेबल पर बहु की चुदाई की कहानीबेटी की सेक्सी कहानीचाची को हवाई जहाज मे चुतHaye raja meri beti ki bur mein lauda dalo naनदी किनारे चूत पुकारेपूछने लगी तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंडmumm ko train me god me bitha kr sab ke samne choda sex storiesकुर्सी पर पापा से चुदी सेक्स स्टोरीजpadosi ladki antervasna rajayiWww.sexbaba.com/Samuhikस्टोरी मोटा लंड मराठीचुदाईअपनीहलकि किचुदाइसविता भाभी पढ़ा रही हैchut ko land se chudaiमो सी की चूतsex stories taeji ki gaand salwar k upr se mareगरम चुदाई वहन कीसेक्स माँ से ऑनलाइन चीटिंग चुदाई सेक्स कहनीDushman चुदाईChuddakadh salma hindi chudai kahaniyaAnatarvasna me solelyमासूम बहु Incest(sasur-bahu) - Page 2 - Raj Sharma Storiesसगे बाप को चूदाई का सुख कहानियांपानी में गांड मारीभाभी की बूब दबा मजे कियाpapaa ney chodaa सेक्सी कहानी hdnew sixe kahani padni h chut chudai mastचुदन चुदई आर परsamdhi ne samdhan ko choda Hindi sex storiesसीमा भाभी की चूचि हिंदी सेक्सी कहानियाँमवशी बेटा की सेकसी बिडीवविधवा भाभी की बुर फाड़ चुदाईpapa ki pari chud gayi storysamuhik humera sex hindi storybhabhi ki chudai matar ke khet me kahaniमम्मी की,मस्त चूदाईबाबा हिंदी सेक्स स्टोरीसविता आंटी के किस्सेHindi sexy stori ma Bhan bhanji brsat ma srdi meJabanladki ko jabarjasti lund chusa ke chodaदीदी के सामने बैठकर मुठ मारपरिवार,कि,चुत,चुदाओMausi aur maa ki tubewel pr chudai ki pati ke samne sex stiriesMay chikhti wo chodta raha hindi kahaniyaमहिला और सर का चुदाईगांड़ चाटनेcudai ki khaniya in hindi by railxxx bur me laddalke chudns hinde dashichut me giravali sexsi vidoचोदने बाले बीडिओनंदोईओं से मस्ती हिंदी सेक्स स्टोरीजछिनाल पैदा माँ बेटा चुदाईचुतमम्मी की सहेली की चुदाईHindi porn stories akhodekhihindisexstoriessitebehan ki nukili chuchiaunty & uncal thulu dengu videosचचेरे मामा से अपनी बुर चुदवा लीमामी की चूचीदो बांस और भाई hindi sexमुझे टांग उठा कर चुदना हैहिंदी पोर्नमम्मीपापासेक्स स्टोरी हिंदी ब्लैक ब्रा पहनती हूँभाभी के बुर का स्वाद कहानीहस्बैंड स्वैपिंग की चुदाई की कहानियाँ हिंदीsar.padhani.ayi.teusan.ladhake.ki.sath.sex.keya.vedioमेरी जब आँख खुली तो देखा कि मैं अस्पताल में था hindi sex storभाभी के बोबे दबाने का पहला मौका पार्ट २गानाबुरbur bule film gandi hindi hot mast bahen ki suhagraatLadkiyon ko shadi main dikhao xx image underwearठंडी मे दोसत की बीवी की चोदाई की कहानीMalaren chut pronKhun vali chudaipati ptni ki sachchi suhaagrat story jisme pyar ho hawas nhiचुदासे लंडनीचे वाले होंठ भी तो चूस sex storychuchi jore से masalne की कहानी