मेरी चाची बड़ी निकम्मी–2

चाची: “दाल..”

फूफा:”क्या दाल?”

चाची” “अर्रे.. चने की दाल”

फूफा: “अछा दाल..मे तो कुछ और ही समझ रहा था”

चाची: “आप तो हमेशा, कुछ और ही समझ लेते है” इतना बोलते हुए वहाँ से गुज़री तब तक फूफा ने उनकी कमर पर चींटी ले लेली और उनका हाथ पकड़ लिया.

चाची: “हाए राजेसजी..आप तो बड़े बेशरम हो..”

फूफा: “बेशरम बोलही दिया है तो बेशरम भी बन जाते है”

चाची: “राजेसजी.. मेरा हाथ छोड़िएना, कोई देख लेगा तो क्या कहेगा”

फूफा: “किसीकि मज़ाल जो हमे कुछ कहदे”

चाची: “छोड़िएना….”

फूफा: “एक शर्त पर..मैने बहुत दिनो से मालिश नही करवाया है, तुम्हे मेरी मालिश करनी होगी…और वैसे भी हमारी बीवी के पास वक़्त नही है”

चाची: “तो क्या आपने हमे बेकार समझ रखा है”

फूफा: “अर्रे नही आप तो बड़े काम की चीज़ है..पर प्लीज़ ज़रा मेरी मालिश करदो”

चाची: “अभी?..यहाँ?…नही नही रात को कर दूँगी”

फूफा: “अर्रे आपको को रात को कहाँ फ़ुर्सत मिलेगी…प्रकासजी छोड़ेगा ही नही”

चाची: “अर्रे ऐसी कोई बात नही..वैसे भी आज कल वो शादी के काम मे बहुत बिज़ी है”

फूफा: “अछा तो साले को टाइम नही है.. इतना बड़ा काम छोड़ कर बेकार के काम करता है”

चाची: “राजेसजी छोड़ दीजिए ना..देर हो रही है दीदी इंतज़ार कर रही होगी..मैने आपकी रात को ज़रूर मालिश कर्दुन्गि”

फूफा: “ठीक है छोड़ देता हूँ…पर रात को हम आपको इंतज़ार करेंगे”

चाची: “जी ज़रूर आउन्गि”

ये बोल कर चाची वान्हा से चली गयी पर मे सोच रहा था, चाचीने कभी चाचा की मालिश नही की और फूफा की मालिश के लिए हां बोल दिया, पता नही मेरे अंदर एक अजीब सी कुलबुलाहट हो रही मैने सोचा क्यूँ न आज फूफा पे नज़र रखी जाए.

गाओं मे लोग रात को जल्दी ही सो जाते है, रात के 8 बजे होंगे सब लोगोने खाना खा लिया था और सोने की तैयारी कर रहे थे. मैने देखा फूफा छत पर सोने जा रहे थे, छत पर सिर्फ़ छोटे बच्चे ही सोते थे, औरते घर मे और ज़्यादा तर मर्द लोग दालान मे ही सोते थे. फूफा ने टेरेस के एक कोने की तरफ अपना बिस्तर लगा दिया था, पर उन्हे नीद नही आ रही थी उन्होने अपने जेब से सिगरेट का पॅकेट निकाला और पीने लगे, मे और चाची का बड़ा बेटा विकाश उनके पास के बिस्तर पर ही सो रहे थे, फिर फूफा ने अपनी कमीज़ और पॅंट निकाली और लूँगी पहन ली. तकरीबन 1घंटे. के बाद मुझे किसी के आने की आहट सुनाई दी मैने तुरंत अपनी आँखे बंद करली और महसूस किया कि कोई हमारे पास खड़ा है, टेरेस पर लाइट नही थी पूरा अंधेरा था मैने धीरे से अपनी आँख खोली देखा चाची हमारे उपर चादर डाल रही थी, फिर चाची हमारे पास बैठ गयी और देखने लगी की हम सोए है की नही फिर कुछ देर मे वो उठी और फूफा के बिस्तर पास जा रही थी, चाची के हाथ मे एक तैल की सीसी थी, चाची फूफा के बिस्तर पर बैठ गयी और उन्हे जगाया.

यह कहानी भी पड़े  मम्मी ठण्ड तो कब के चली गई

फूफा: “अर्रे तुम आगाई..”

चाची: “हमे बुला कर खुद घोड़े बेच कर सो रहे हैं”

फूफा: “अर्रे नही मे तो आप का इंतज़ार कर रहा था..मुझे लगा आप नही आएँगी”

चाची: “कैसे नही आती..पहली बार तो आपने हम से कुछ माँगा है”

फूफा: “तो फिर सुरू हो जाओ”

फूफा उल्टा लेट गये और चाचीने सीसी से टेल निकाल कर अपने हाथों पर लिया और फूफा के पीठ (बॅक) पर लगाने लगी, फूफा ने कहा “कोमल्जी आपके हाथ बड़े मुलायम है”

चाची: “वैसे भी औरतों के हाथ मर्दो को मुलायम ही लगते है”

फूफा: “पर आप के हाथ की बात ही कुछ निराली है..आपके हाथो मे तो जादू है..प्रकाश बड़ा नसीब्वाला है”

चाची: “अब ज़्यादा तारीफ करने की कोई ज़रूरत नही”

फूफा: “ठीक है नही करता..लेकिन क्या रात भर आप मेरे पीठ की ही मालिश करोगी”

चाची: “तो घूम जाइए ना”

फूफा घूम गये और चाची उनके सीने और हाथ पर मालिश करने लगी, फूफा लगातार चाची को घूर रहे थे, चाची उन्हे देख कर शरमा गयी और चेहरा नीचे करके मालिश करने लगी. चाची के कोमल हाथ फूफा के पूरे सीने पर फिर रहे थे, फूफा भी थोड़े गरम हो गये थे उनका लंड काफ़ी तन गया था और लुगी भी थोड़ी सरक गयी थी, लंड का उभार शायद चाची ने भी देखा था पर वो चुप चाप फूफा की मालिश कर रही थी, तभी फूफा ने कहा “कोमल्जी ज़रा पैरो की भी मालिश कर दो” चाची बिना कुछ बोले उनके पैरों की मालिश करने लगी, कुछ देर बाद फूफा बोले “कोमल्जी जर उपर जाँघ (थाइस) की तरफ भी तैल लगा दो” चाची एक दम सहम गयी, थाइस पर कैसे हाथ रखती उनका अंडरवेयीर तो तना हुआ था पर चाची हिम्मत कर करके उनके थाइस पर मालिश करने लगी शायद चाची पहली बार की गैर मर्द के थाइस को छू रही, फूफा का लंड तो कपड़े फाड़ कर बाहर आने को तैयार था. थाइस पर मालिश करते समय चाची हाथ एक दो बार उनके अंडरवेर को छू गया था, जिससे फूफा और भी गरम हो गये थे. शायद चाची भी फूफा के पैर के घने बालो (हेर) का मज़ा ले रही थी, कुछ देर बाद फूफा ने चाची के थिग्स पर हाथ रख कर कहा “कोमल्जी ज़रा ज़ोर्से दबाइएना बड़ा अछा लग रहा है” चाची फूफा के हाथ को अपनी थाइस पर महसूस कर थी, चाची भी शायद कुछ हद तक गरम हो रही थी शायद शादी के दौरान उनका संभोग (सेक्स) चाचा से नही हुआ हो. फूफा फिर अपना हाथ उनके थाइस से हटा कर चाची की कमर पर प्यार से फिराने लगे, चाची बोली “गुदगुदी हो रही है”

यह कहानी भी पड़े  दोनों साली की सील तोड़ी एक ही रात में

Pages: 1 2 3 4

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


आँखों से कोसों दूर थी। अचानक अरूण ने मेरी ओर करवट ली और बोले, “पानी दोगी क्या, प्यास लगी है !” मैं उठी और अरूण के लिये पानी लेने चली गई। वापस आई तो अरूण जग चुके थे और मेरे हाथ से पानी लेकर पीने के बाद मुझे खींचकर फिर से अपने पास बैठा लिया और अपना सिर मेरी गोदी में रखकर लेट गये। मैं उनके बालों को सहलाने लगी, मैंने देखा उनका लिंग मूर्छा से बाहर आने लगा था उसमें हल्की हलबेटी के साथ सेक्सmajor sahb deenu pani kitchenबाबा के चुदाईनेहा मौसी कि चुदाईऑन्टी बोली आज तेरा लन्ड निचोड़ लुंगीjab bur me mal chuta hai Aysha xxx video badle me chudai ho rahi kahaniचुदाई कहानी कामवालीमेरी कमला भाभी कि प्यास बझाईमेरी नँगी लंड की मालिषमेरा बॉस मुझे लाइन मारता थालड़की की चूतbhahen ke sexi camale toe ki dekhakar cudai kiबीवी और बहन की च**** ट्रेन मेंmami ke sath bathroom mein sex storyबुआ का चोदा पापा के साथ मिलकरMummy ke najayaj sambandh antarvasnaantarvasna samdhi jiHathrash.hindi.chudai.khhaniपैसों की जरूरत के sex ki हिंदी स्टोरीज डॉट कॉमSexy modern skirt mausi sexy kahani hindiburi me land jate hi andr ka bhag lauko porn haChotibahankichudai.comkarvachauth mein pyaar mila antarvasna kahanixxx Akele me dekha hilaateयात्रा में माँ बेटे की चुदाई कहानीmar pit kar mut pilakar chudai storiesमां की इच्छा पूरी की सेक्स स्टोरीजमासूम बहु Incest(sasur-bahu) - Page 2 - Raj Sharma Storiesमवशी बेटा की सेकसी बिडीवnaye shohar se chudiचुदाई की प्यासी मेरी बहनामैंने उसकी गांड को चोद के उसका छेद बड़ा कर दियाneharani ki chudai storyताई को पेशाब करते देखा सेक्सी स्टोरीसाया उठा कर चाँदनी रात मे चुदवाईmaa ne beti ko chudai sikhayi 2xxx sex story ammi ko karaya pesab hindi kahaniचुतचुदाई में बेहोशी कहानीxxx sex story ammi ko karaya pesab hindi kahaniछत पर बहन की शील तोड़ कर चोदा कहानीlakhnao ki jawan ladki ki kamukta 2xxxanti ptouचुत नंगी लंड डलवातेमैं मेरी सहेली ने मेरी चूत चुदाई गैर मर्द के मोटे लुंड सेchoot me मक्खन डालनाsamdhi ne samdhan ko choda Hindi sex storiesDidi ke sath suhagrat manayagodi me bitha kar land ragdadaru ke nashe me chudai nonveg story.bhabhe ko choda chud my viry nekala xxx porn vidopapa ko swap karke sex story in hindiरूमाली की chudai sexi videoJism ki aag man n dil ka kya kasoor sex storiesचुदाईसविता भाभी पढ़ा रही हैदिदी कौ सामूहीक चूदाईBenkar gandh cudai sex xxxराज शर्मा की sex badaकाकी की गुलाबी पैंटी कहानीपानी मेsexसेक्सी कहानी हिंदी में 2018 मौसी का सेक्सपतनी को गैर से चुदवानापानी मेsexgao me huee pariwarik gand aur chut chudai khaniya.comPariwarik hard gangbang chudai ki kahanisixy hinde Kahani shijal kiबस में अन्तर्वासनाNew sexi story कमलाSasur bahu ki damdar chudaiChuddakadh salma hindi chudai kahaniyanagi.aurat.chodyta.dakha.khaniमाँ बेटी चूची चूसी hindisexkahaniyanSex kahaniya/बर्थडे गिफ्टरानी को चोदाxxx ladki ne siskari bharkar chudwai xxxहिन्दी जोर दार चुदाई कि कहानीकामोन्माद चुदाई