हमारी मकान मालकिन की चुदाई कहानी

makan malkin ki chudai kahani मेरी नौकरी आगरा के करीब् एक छोटे से कस्बे मे लगी। मै अपनी पत्नी के साथ् वहाँ रहने चला गया। हमें वहाँ एक छोटा सा मकान भी मिल गया. दुमंजिला मकना था. नीचे माकन मालिक रहता था. ऊपर हमें रहने के लिए दो छोटे कमरे और रसोई . माकन मालिक की किराने की दुकान थी.उसकी पत्नि भी थी लेकिन उनका लड़का बाहर दूसरे शहर में पढ़ रहा अता. माकन मालिक और उसकी पत्नि की उमर करीब चालीस साल थी.लेकिन दिखने में गजब की सुन्दर थी. मैं जैसे ही शाम को घर लौटता मैं और मेरी पत्नि सोनिया एक बार बिस्तर में घुस जाते. मेरी दिन भर की थकान उतर जाती और सोनिया की दिन भर की बोरियत ख़तम हो जाती.

एक दिन इसी तरह मैं और सोनिया बिस्तर में थे. उस दिन गलती से हम दरवाजे की कुण्डी लगाना भूल गए. मैं सोनिया के ऊपर लेता था और उसके अन्दर मेरा लिंग घुसा हुआ था. हम दोनों पूरी मस्ती में थे. तभी मकान मालकिन मेरे नाम आये कोई पत्र को लेकर ऊपर आ गई. उसने दरवाजे को धकेला तो हमें इस हालत में देखकर चौंक गई. हमें उसके आने का पता नहीं चला. उसने धीरे से वापस दरवाजा बंद किया और बाहर खड़ी होकर खिड़की से झांककर हमें देर तक देखती रही और मजा लेती रही.
इसके बाद तो वो रोजाना उस समय आ जाती और बाहर खिड़की से हमें मजे ले लेकर देखती रहती. हम दोनों का इस बात का बिलकुल ही अनुमान नहीं था. एक दिन जब मैं अपने ऑफिस में मेरे एक दोस्त को अपने घर का पता दिया तो चौनते हुए बोला ” क्या!! तुम उस मकान में रहते हो!” मैंने उसके चौंकने का कारण पूछा तो वो बोला ” अरे तेरे मकान मालिक की बिवे बहुत खतरनाक है. वो हर किरायेदार पर डोरे डालती है. और यही कारण है कि वो मकान खाली रहता है.” एक बार तो मैं डर गया. लेकिन फिर ये सोचकर कि मैं शादीशुदा हूँ वो मेरे साथ इस तरह से कुछ नहीं करेगी. निश्चिंत हो गया.
मेरा और सोनिया का ये सिलसिला जारी था और उधर संजना ( मकान मालकिन ) का हमें देखने का सिलसिला जारी था.एक दिन मैं दोपहर में जल्दी घर आ गया. सोनिया अपनी एक और पहचान वाली पड़ोसन के साथ बाजार गई हुई थी. ये खबर संजना ने मुझे दी. मैं कमरे में आकर बैठ गया. तभी संजना ऊपर आई. मैं थोडा चौंका. क्यूंकि संजना का आँचल नीचे ही था और उसके ब्लाउज का एक बटन भी खुला हुआ था. उसने मेरी तरफ एक शरारत भरी नजर डाली और बोली ” तुम दोनों बहुत खुशकिस्मत हो. रोज रोज बिस्तर गरम हो जता है.” मैं उसकी ये बात सुनकर हैरान रह गया. संजना ने मुझे सारी बात बता दी. मैं पसीना पसीना हो गया. संजना ने फिर कहा ” मुझे सब लोग गलत समझते हैं. लेकिन मैं की अकरुण! मेरे पति तो अपनी दुकान के पीछे रहनेवाली एक औरत में फंसे हुए हैं. वो गन्दी औरत उन्हें छोडती ही नहीं. पिछले दस साल से फंसाया हुआ है. मेरी प्यास भी तो है जिस्म की. इसे कैसे बुझाऊं?”” संजना ने इसके बाद काफी बातें कही. मुझे उस पर बहुत दया आ गई. संजना का चेहरा बता रहा था कि वो झूठ नहीं कह रही है. संजना अपनी जगह से उठी और मेरे करीब आते हुए बोली ” मुझे तुम और सोनिया बहुत अच्छे लगते हो. तुम दोनों खुश रहो. तुम मुझे बस यह सब देखने का मौका रोज देते रहना .” संजना नीचे चली गई.
मैं सोच में डूब गया. रात को मैंने सोनिया को सारी बात बताई. सोनिया ने भी संजना के लिए हमदर्दी जताई. अगले दिन जब मैं और सोनिया शाम को बिस्तर में थे तो संजना आ गई., वो दरवाजे के बाहर खड़ी होकर हमें देखने लगी. हमें भी उसका देखना अच्छा लगा. और हम और जोश से सेक्स करने लगे. धीरे धीरे संजना का कमरे के अन्दर आकर पलंग के पास खड़े होकर और कभी सोफे पर बैठकर देखना शुरू हो गया.
कभी कभी वो सोनिया के जिस्म को भी छु लेती. सोनिया भी उसे मना नहीं करती. हम दोनों खुश थे कि संजना की कुछ कुछ प्यास तो कम हो रही है.
एक दिन संजना सोनिया के पास आई. उसने कोई मैगजीन सोनिया को दिखलाई. उसमे दो औरतें आपस में एक दूसरे को चूम रही थी. सोनिया के बदन ने सरसराहट दौड़ गई. दोनों के लिए इस तरह की फोटो देखने का ये पहला मौका था. सोनिया ने मैगजीन में उस फोटो के साथ वाले आर्टिकल को पढ़ा. उसने संजना को सारी बात पढ़कर सुनाई और बतलाया अकी विदेशों में इस तरह की बातें आम है. जाह्न मर्द व्यस्त रहते हैं तो औरतें अपने जिस्म की प्यास इस तरीके से बुझाती हैं.
संजना ने सोनिया को कहा ” क्या मैं भी अपने जिस्म की प्यास को इस तरीके से तुम्हारे साथ बुझा सकती हूँ?” सोनिया हैरान रह गई. संजना ने बार बार उसे विनती की. सोनिया से संजना के आंसू देखे नहीं गए. उसने संजना को हाँ कह दिया. संजना की ख़ुशी का ठिकाना नहीं था.
लेकिन सोनिया ये बात मुझे बता दी. रात भर हम दोनों आपस में बहस करते रहे कि ये गलत होगा या सही. सवेरा होते होते सोनिया ने मुझे मना लिया था.
मैं ऑफिस चला गया. दोपहर में सोनिया ने संजना को ऊपर बुला लिया. दोनों ने उस मैगजीन को खोला और अपने अपने ऊपर के कपडे उतार दिए. स्नाजना ने अजब अपनी चोली उतारी रो सोनिया उसे देखती ही रह गई,. संजना के स्तन बहुत भरे हुए और बड़े थे. ऐसा लगा अजैसे बरसों से किसी ने उन्हें ना छुआ हो. संजना ने सोनिया की चोली भी खोल डी. अब दोनों के जिस्म पर सिर्फ पेटीकोट ही रह गया था. दोनों धीरे धीरे एक दूसरे के बहुत करीब आ गई. दोनों ने उस मैगजीन की तरह अपने अपने स्तन एक दूजे से छुआ दिए. दोनों के जिस्म में एक करंट दौड़ गया. संजना काँप कर सोनिया से लिपट गई. दोनों की साँसें टकरा गई. सोनिया ने कांपती हुई संजना के गाल से अपने गाल छु दिए. संजना और सिहर गई. अब सोनिया ने संजना के गालों को हलके से चूम लिया. संजना तो जैसे नशे में चली गई और सोनिया की बाहों में ही झूल गई. सोनिया ने अब अपनी छाती से संजना की छाती को थोडा जोर से दबा दिया. दोनों को ही अब बहुत मजा आ रहा था. संजना तो बादलों में उस रही थी. उसने कांपती आवाज में कहा ” आज करीब दस साल के बाद मेरे जिस्म को किसी ने चूमा है , छुआ है. मेरा जिस्म बहुत बहुत प्यासा है , भूखा है. तुम इसकी प्यास बुझा दो आज.” सोनिया ने अब संजना को गालों के अलावा, गरदन के चारों तरफ और सीने के आस पास चूमना शुरू कर दिया. सोनिया को भी अब नशा सा आने लगा. आखिर दो कोमल बदन एक दूजे में घुल जो रहे थे. अचानक दोनों जोर से एक दूजे से लिपट गई और पलनग पर लेट गई. काफी देर तक इसी तरह दोनों आपस में लिपटी लेटी रही और एक दूजे को चूमती रही. गालों पर , गरदन पर औए एक दूजे के स्तनों को भी लगातार चूमने लगी. सोनिया ने संजना के स्तनों के निप्पल को बहुत जोर से चूसकर चूमा. संजना के मुंह से एक मीठी चीख निकल गई. वे दोनों एक दूजे के साथ पलंग में दो घंटे तक चिपकी रही. लेकिन जब भी एक दूजे के होंठ सामने आ जाते सोनिया झिझक कर संजना के गालों को चूम लेटी . संजना चाह रही थी कि सोनिया उसके होठों को चूमे. लेकिन ऐसा नहीं हुआ.
शाम को जब मैं घर लौटा तो सोनिया ने मुझे सारी बात विस्तार से बताई. मैं सारी बात सुनकर बहुत उतेजित हो गया. मेरा लिंग एकदम तनकर खड़ा हो गया. रात को मैंने और सोनिया ने खूब सेक्स किया. सोनिया मुझे आज हमेशा से कहीं ज्यादा उत्तेजित और गरम लगी. मैं बहुत खुश हुआ. वो बीच बीच में संजना के साथ के पलों को बताती और हम दोनों और ज्यादा उत्तेजित हो जाते. हमारी सेक्स लाइफ ज्यादा गरम और रंगीन लगने लगी.

यह कहानी भी पड़े  पड़ोसन भाभी की चुदाई करके चोदना सीखा

Pages: 1 2 3

Comments 3

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


सेक्स हिंदी stories sale ki biwisakse cdai video dekayoAntarvasna dono padosan anty ki galiyamose.boli.tera.land.cibrataलड डाला बहन की कची चूत मेमेरे पड़ोस की पर्दानशीं लड़की ने मुझ पर भरोसा किया आँखों से कोसों दूर थी। अचानक अरूण ने मेरी ओर करवट ली और बोले, “पानी दोगी क्या, प्यास लगी है !” मैं उठी और अरूण के लिये पानी लेने चली गई। वापस आई तो अरूण जग चुके थे और मेरे हाथ से पानी लेकर पीने के बाद मुझे खींचकर फिर से अपने पास बैठा लिया और अपना सिर मेरी गोदी में रखकर लेट गये। मैं उनके बालों को सहलाने लगी, मैंने देखा उनका लिंग मूर्छा से बाहर आने लगा था उसमें हल्की हलसाहब आप बहुत पाजी हैं पर्दे खींच दोbina undergarment wali ki antarvasnaमम्मी के मांसल चूतड़ों की दरार भी साफ दिखाईमोसी कीगांडmummy aur mummy ki beti ki jhhat banai hindi sex kahaniaबीवी की अदला बदली चूदाई मस्त राम चूदाई कहानियाँma ki malish & chudhi ki khani hindi meआंटी की चूत मीटी डिलडो डाल कर करती थी काहनियामै किसी के प्यार मैं फंस गई और उसने की मेरी गैंगबैंग चुदाईसलवार चुदाई कथाबीवि की सहेलि ओर दोसत के साथ गुरुप सेकसबडो की सेक्स कहानियाँबुआ दीदी ने बुर चोदाना शिखय की कहानी हिन्दी मेमौसि के chakkar me maa ko chod diya sex ki sachi kahaniya.inअन्तर्वासना फेसबुक par didi ko choda आँखों से कोसों दूर थी। अचानक अरूण ने मेरी ओर करवट ली और बोले, “पानी दोगी क्या, प्यास लगी है !” मैं उठी और अरूण के लिये पानी लेने चली गई। वापस आई तो अरूण जग चुके थे और मेरे हाथ से पानी लेकर पीने के बाद मुझे खींचकर फिर से अपने पास बैठा लिया और अपना सिर मेरी गोदी में रखकर लेट गये। मैं उनके बालों को सहलाने लगी, मैंने देखा उनका लिंग मूर्छा से बाहर आने लगा था उसमें हल्की हलमां की इच्छा पूरी की सेक्स स्टोरीजरात भर लडकेने चुदाई किया खेतमे काहानिAntarvasna baba ka ashramsexy stori mommy ne tiren me gurup chudai ki xxxघर में भाभी को छोड़ा औलाद के लिए हिंदी कहानीचुसवाते हुए मदहोश होती जा रही थीNew sexi story कमलाअन्तर्वासना भाई बहन दारू पी केअन्तर्वासना काजलकुँवारी बहन के बोबेpiyasi bahan bhuki xxx choot mei botalमेट्रो में मोटा लुंड गांड में लिया क्सक्सक्स सेक्स स्टोरीकोमल की कामुक कहानिया बास कि चुदाईMera parivar chudai ka khajana hindi storiलण्ड घुसाने लगेsexi figar big ass and looz boobs sex beeg hddod dba kar cohdaबुबस को दबाकर लाल कर दिएचाची ने रात को लौंडा चूसा सेक्स स्टोरीजbua ki ldki nancy ki chut chudai ki kahanimeri kamuk mummy or bua jiचूचे कि चूदाईपहला लण्डचूत गाङ चुदाई की कहानियाThandi me Bua ki chudai storiesमूत पीकर चूत का मजाxxx vidioसबके सामने कियाविधवा मैडम को चोदाभाभीभोसड़ीभाभीकीचुदाईDelhi metro chudai story antarwanaX.antarwasnaxvideos con dau len lutmaa ki kahanibeta se x videochudwaya3 logo seXxx vidio mom अनकंट्रोलरिता कि चुदाईyatra me risto me hui chudai ki hindi storyHindi sex rajsarma maa beta comऔलाद के लिए चुदवाईमेरी अधूरी बुर चुदाई antervsna auntकरवा चौथ में चुदाई इन्सेस्टबुर सूज ठीक से चल कसी रगड़मेरी जब आँख खुली तो देखा कि मैं अस्पताल में था hindi sex storMamma ko choda masaj karke khaniCha dượng đụ luôn con gái.mp4roleplay करके biwi ki chudaihendi kahani Maushi ke sath thand me rajai me anjane me xxxxxx mammi ammrika.vidosWWW आम SAXY story.comकामोन्माद चुदाईchachara bhai say chodaiमेरी बहेन दीपा की हॉट चुदाई 3कमला मेरी बहन incestpapa ne pet se kiya hindi sex khaniyaमेरी जिद्द दीदी की चूत सेक्स स्टोरीgaidanchoi.xxxxx ghachak ghachak chudai jabarjastimom mere kamre me soyeLadkiyon ko shadi main dikhao xx image underwearboor fatne ki xxx kahani com