उफ़!! क्या मस्त चूचीयाँ थीं

ना जाने कितनी देर तक मैं उन मखन से मुलायम जांघों को बेतहाशा चाटता रहा!!
आज मैं पूरी तरह अपना जी भर लेने के मूड में था। फिर मैंने उसे पेट के बल लिटा दिया और फिर उनके चुत्तड़ और पीठ को भी जीभ से चाटने लगा…
मित्रो, उनका पीछे का भाग तो और भी ग़ज़ब सेक्सी था!! उभरे हुए गोरे मस्त चुत्तड़ और उनकी घाटी… चिकनी गोरी पीठ…
उनकी पीठ चूमते हुए मैं सामने हाथ ला कर उनकी चूची और निप्पल मसल रहा था…
उनके गोल गोल चुत्तड़ चाटने और दबाने में बहुत मज़ा आ रहा था!! !!!
चूमते और चाटते हुए मैंने हल्के से उनकी गाण्ड पर काट लिया और वो चिल्ला उठीं – आआआहह… नहीं…
मैं पागलों की तरह उनके चुत्तड़ ज़ोर ज़ोर से दबाए जा रहा था और मेरी जीभ दोनों चूतड़ों के बीच की घाटी मे सैर कर रही थी…
उस वक़्त तो ऐसा लग रहा था कि उनके इन गोल चूतड़ों में ही सारी दुनिया समाई है और इन चूतड़ों के सिवा दुनिया में कुछ है ही नहीं…
मित्रो, चुत्तड़ इतने नरम और मुलायम थे की उन्हें दबाने में एक अलग ही मज़ा आ रहा था… ऐसा लग रहा था की नरम रूई में मेरे हाथ धँस रहे हों!!
फिर मैने उनके चूतड़ों की घाटी में अपना हाथ फेरा और गाण्ड का छेद सूँघा…
ठीक आप ही की तरह, अगर उस पल से पहले मुझसे भी कोई ऐसा कहता कि उसने किसी लड़का की गाण्ड का छेद सूँघा तो मैं भी यही कहता – “छी:”
पर उस वक़्त मैं पूरी तरह मदहोश था, यकीन कीजिए उनकी गाण्ड का छेद भी गुलाबी था। उस सुराख में मैंने जीभ की नोक घुमाई और वो सिहर उठीं, उनका ऐसे मचलना बहुत ही मजेदार था… …
फिर ना जाने कितनी देर मैं उनके गाण्ड के छेद को अपनी जीभ घुसा कर चाटता रहा और वो यूँही मचलती रहीं!!
कुछ देर बाद मैंने पीछे से ही उनकी फूली हुई चूत को सहलाया और एक उंगली अंदर डालने की कोशिश की।
चूत तो गीली थी, लेकिन सही में बहुत टाइट थी!!…
मेरी उंगली के अंदर जाते ही वो थोड़ा चिल्लाईं – अह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह… माआआअ दार चोद धीरे।। दर्द होता है, बहन के लौड़े…
मैंने कहा – ये तो उंगली है और तुम मेरा 3 इंच मोटा और 9 इंच लंबा लण्ड लेने के लिए तड़प रही हो… … …
इस पर उन्होंने कहा – मालूम है, पर मेरी चूत में आग लगी है… अंदर चीटियाँ रेंग रही है… चुदने के बाद मैं मर भी गई, तो मुझे अफ़सोस नहीं होगा!! !!!
क्या इसके बाद दुनिया का कोई भी मर्द कुछ कह सकता है, शायद नहीं।
अक्सर मैंने सुना था औरत की आग, वासना और उत्तेजना के बारे में पर यकीन कीजिये दोस्तो, सच तो यह है काम उत्तेजना में जलती एक औरत की चूत अपनी प्यास बुझाने के लिए किसी भी हद तक जा सकती है!! !!!
अब मैंने उन्हें कुछ देर चूमा, लेकिन मैं समझ गया था कि लोहा गरम है और हथौड़ा मारने का सही समय अभी है…
मैंने उन्हें सीधा लिटाया और पेट और नाभि को जीभ से कुछ देर चाटा… थोड़ी देर बाद मैंने फिर चूत पर मुँह लगाया, अब मेरी जीभ चूत के अंदर खेल रही थी… चूत एकदम फूलने लगी।
मज़ा उन्हें भी बहुत आ रहा था और वो भी अपनी कमर उछाल रही थीं…
मैं अभी उन्हें और तड़पाना चाहता था इसलिए मैंने चूत को देखा नहीं और उनके पैरो से लेकर जाँघो के जॉइंट तक पूरा चाट चाट कर जीभ से गीला कर दिया…
इस बार मैं चूत मे नहीं उसके चारों तरफ जीभ और हाथ से सहला रहा था… …
मैंने देखा बिस्तर की चादर उनकी गाण्ड के नीचे से पूरी गीली हो रही थी। अब वो पूरी गरम हो गईं थी और वासना और उत्तेज्ना में अपने पैर रगड़ रही थीं…
अह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह… अब सहन नहीं हो रहा और उन्होंने हाथ बड़ा कर मेरे लण्ड को हाथ में ले लिया।
वो भी फिर से पूरे जोश में आ चुका था, इस बार वो और भी मोटा लग रहा था!!
उन्होंने उठ कर मेरे लण्ड को किस किया, थोड़ा चाटा और फिर उन्होंने कहा – सच में राज, उस दिन मैंने बाथरूम में जब तुम्हारा ये प्यारा लण्ड देखा; तभी सोच लिया था कि मेरी “कुँवारी चूत” की सील अब इसी लण्ड से तुड़वाऊँगी: उस दिन के बाद से, मैं सिर्फ़ इसी लण्ड को सपने में देखती हूँ और मेरी चूत, पानी निकाल देती है…
मैंने कहा – तो फिर आज इसे अपनी चूत में डलवा लो और यह कहते हुए मैंने उनके पैरों को फैलाया और मेरे लण्ड को उनकी चूत के ऊपर रगड़ा ताकि उनकी चूत के रस से मेरे लण्ड का सूपड़ा चिकना हो जाए।
फिर मैंने उन्हें किस किया और लण्ड को चूत के लाल छेद पर रखा और थोड़ा सा पुश किया, उनकी चूत का मुँह वाकई बहुत छोटा था और मेरा सूपड़ा बहुत मोटा; सो मेरा लण्ड फिसल गया…
अब मैं उठा और मैंने पास रखे तेल के डिब्बे से बहुत सारा तेल मेरे लण्ड पर लगाया और उनकी चूत के छेद में भी डाला और फिर उनके पैरों को थोड़ा और चोडा किया… और फिर लण्ड को छेद पर रख कर पूरी ताक़त से धकेला… …
लण्ड का सूपड़ा जैसे ही अंदर घुसा वो चिल्लाईं – मर गई… अह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह… नहिन्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह निकालो इसे बाहर… बहुत मोटा है तेरा लण्ड… नहीं जाएगा… राज्ज्जज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज… ऩहिंन्नननननननननननननननननननननननननननननननननणणन्…
मैंने कहा – सच में, निकाल लूँ… वो मेरी तरफ देखने लगीं…
उनकी आँखों में आँसू थे।
एक 28 साल की औरत और एक 22 साल का लड़का: और लण्ड तो बहन-चोद, लोहे की रोड हो गया था!! !!!
फिर मैंने उसे किस किया, तब वो बोलीं – ठीक है राज; मैं कितना भी चिल्लाऊँ, तुम आज मेरी चूत फाड़ दो… !!!
अब क्या था, मैंने उनके होंठ पर अपने होंठ रखे ताकि वो ज़ोर से चिल्ला ना सके।
दोस्तो, अब तक मैं समझ गया था कि वो सच में कुँवारी ही हैं!! !!!
सो अब मैंने अपनी कमर को सख़्त किया और लण्ड को ताक़त के साथ अंदर धकेला, लण्ड 2 इंच घुसा ही था कि वो दर्द से बिलबिला उठीं और तड़पने लगीं… …
मैंने भी लेकिन उनका मुँह नहीं छोड़ा, इसी दौरान मैंने महसूस किया कि उनकी चूत के अंदर कुछ है, जो मेरे लण्ड को अंदर जाने से रोक रहा है!! …।
शायद इतनी बड़ी उम्र होने के कारण, “चूत का परदा” मोटा हो गया था।
अब मैंने अपने लण्ड को थोड़ा बाहर खींचा, और पूरी ताक़त से झटका मारा!!
चूत के परदे को ककड़ी की तरफ फाड़ कर मेरा लण्ड 5 इंच अंदर हो गया और उनकी चूत ने खून की उल्टी कर दी और तभी वो बेहोश जैसी हो गईं… … …
यकीन मानिये दोस्तो, मेरी गाण्ड फट कर हाथ में आ गई…
सोचा, अगर कहीं ये बेहोश हो गईं और सर के आने तक होश में नहीं आईं, तो क्या होगा, मेरे तो लौड़े लग जायेगें!! दो मिनट के अंतराल में मैंने न जाने क्या-क्या सोच लिया, क्या बताऊँ…
अब मैं उन्हें चूमने लगा और कुछ देर तक ऐसे ही रहने के बाद, वो होश में आयीं…
उनकी आँखों में पानी और चेहरे पर दर्द था, थोड़ी देर में जब दर्द कम हुआ तो मैंने हल्के हल्के धक्के लगाने शुरू किए!!
अब उन्हें भी मज़ा आने लगा…
मैंने पूछा – अब दर्द कम हुआ… ??
उन्होंने कहा – हाँ।
जैसे ही उन्होंने हाँ कहा, मैंने लण्ड को बाहर खींचा और करारा झटका देते हुए पूरे लण्ड को जड़ तक उनकी चूत में पेल दिया…
वो फिर से चिल्लाईं – अह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह… मादर-चोद… नह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्हि…
पर इस बार मेरे धक्के चालू थे और फिर 4-5 मिनट बाद, उन्होंने भी चुत्तड़ उछलते हुए धक्के शुरू कर दिए, अब तक उनकी चूत से पानी निकालने लगा था और लण्ड को भी अंदर बाहर होने में थोड़ी सहूलियत हो रही थी।
मैं उन्हें अब ज़ोर से चोद रहा था!! !!!
वो भी मज़े लेकर कह रही थीं – ज़ोर से और और ज़ोर से… फाड़ दे… मुझे रंडी बना दे… रज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज्ज… अह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह्ह…
अब मैंने उनसे पूछा – एक बात बताओ, अगर तुम कुँवारी थी तो फिर वो लड़का किसका है; जिसे तुमने हॉस्टल में रखा है… ??
उन्होंने कहा कि वो उनकी बड़ी बहन का लड़का है, जिसकी एक एक्सीडेंट में मौत हो गई थी और उनके पति ने दूसरी शादी कर ली, इसलिए 1 साल के बच्चे को उन्होंने गोद ले लिया था। अब वो अपने बच्चे की माँ बनाना चाहती हैं…
फिर वो बोलीं – राज, प्लीज़ मेरे पेट मे बच्चा दे दे… आह, क्या मस्त मज़बूत लण्ड हैं तेरा!! !!!
फिर वो मुझसे चिपकने लगीं और कहने लगीं कि उनका निकालने वाला है। उन्होंने मुझे कस के पकड़ लिया और वो झड़ गईं… …
तभी मुझे मेरे कंधे पर से कुछ गरम बहता हुआ महसूस हुआ, मैंने हाथ लगा कर देखा तो वो “खून” था!!
दरअसल जब उनकी सील टूटी तब उन्होंने नाख़ून से मेरे पीठ पर घाव बना दिया था और वहीं से खून निकाल रहा था… ये देख कर मुझे और जोश आ गया और मैंने मेरे धक्को की रफ़्तार बढ़ा दी…
उनकी चूत को इस तरह की चुदाई उम्मीद नहीं थी और उनकी चूत अब तक एकदम लाल हो गई थी…
मैंने उनकी कमर और चुत्तड़ को दोनों हाथों से पकड़ा और चूत में लण्ड डाले हुए ही मैं सीधा लेट गया और उन्हें अपने ऊपर खींच लिया!!
अब मैंने उनसे कहा – अपनी गाण्ड ऊपर-नीचे करो!! !!!
उनके इस तरह उछलने से उनकी मस्त चूचियाँ मेरे मुँह के सामने उछल रही थीं…
मैंने दोनों हाथों से उनकी चूचियों को पकड़ा और निप्पल को मुँह में ले कर चूसने लग।।
इस दौरान, वो लगातार झड़ रही थीं… मेरी गोटियां तक गीली हो गईं उनके चूत के पानी से!!
और फिर, थोड़ी देर में वो थक कर मेरे सीने पर लेट गईं।
मैंने बिना चूत से लण्ड निकाले, फिर उसे नीचे लिया और खींचते हुए बेड के किनारे लाया। वहाँ उनकी चूत के नीचे तकिया लगाया और मैं खुद नीचे खड़ा हो गया, उनके पैर मेरे कंधे पर रखे और उन्हें ज़ोर-ज़ोर से चोद्ने लगा… …
इस बार मेरे धक्के, बहुत ही तूफ़ानी थे!!
वो चिल्ला रही थीं – क्या मस्त लण्ड है रे तेरा, मेरी चूत की तो किस्मत खुल गई और ज़ोर से चोद… आह… मैं तो गेयीईयियी… और वो फिर झाड़ गईं!!
अब मेरा भी झड़ने का टाइम हो गया था, सो मैंने पूछा – मैं झड़ने वाला हूँ; कहाँ निकालूँ… ??
उन्होंने कहा – मेरी चूत में भर दो और मुझे माँ बना दो… तुम्हारी मज़बूत लण्ड से मुझे गर्भवती कर दो… …
मैंने 5-6 जबरदस्त धक्के मारे और लण्ड को उसके बच्चे दानी के मुँह पर रख कर लण्ड से नल चला दिया।
उफ़, क्या जबरदस्त पिचकारी थी!! !!!
उन्होंने अपने पैर मेरे कमर पर जकड़ दिए और मुझसे चिपक गईं… हम कुछ देर ऐसे ही पड़े रहे और फिर मैं उठा और अपने लण्ड को बाहर खींचा।
वो खून और दोनों के रस से लथपथ हो रहा था और उनकी चूत वो तो मुँह खोले सब माल बाहर निकाल रही थी…
उनकी चूत का शेप “ओ” जैसा हो गया था।
मैंने कहा – चलिए बाथरूम मे चलते हैं… उन्होंने उठने की कोशिश की पर फिर – आअहह… उउईई… करते हुए लेट गईं। उनके पैर कांप रह थे, तो मैंने उन्हें सहारा देकर उठाया।
अब तक शाम के 5:30 हो गये थे… …
हम बाथरूम मे फ्रेश हुए, उनकी नंगी जवानी को देख कर मेरा लण्ड फिर से तैयार होने लगा। उन्होंने साबुन से मेरे लंड को साफ किया और उनका हाथ लगते ही, वो फिर गुर्राने लगा।
हम बाथरूम से लौटे और नंगे ही बेड पर लेट गए।
मैंने उन्हें रात के 9 बजे तक और 2 बार और चोदा… अलग-अलग पोज़ में!!
एक बार तो उन्हें उनके किचन टेबल पर बैठा कर मेरे लण्ड पर झूला झूलाया!!
उसके बाद से मैं उन्हें चोद्ने, ठीक 4:30 बजे उनके घर जाता था!! !!!
इस दौरान मैंने उसे 2 बार प्रेग्नेंट किया!! लेकिन उनके पति के डर से उन्हें एबॉर्शन करवाना पड़ा… …
तो दोस्तो, यह थी मेरी कहानी!! उम्मीद करता हूँ आपको पसंद आई होगी…

यह कहानी भी पड़े  बेटे का एडमिसन प्रिंसपल से चुदवा कर

Pages: 1 2 3 4

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


achche figar wali antiyakhidki ke samne peshab kar raha tha.hindi sex storyचुत का रस और चुदाई .comमैंने अपने दोस्त को चोदा Nehachudaiki lhanaiएक राउंड और लगाया चुदाई काVideshi ladki ki gaand chaati aur shit khai storyमेरी वाइफ की बर्बादी 1 hindi sex storyदीदी के सामने बैठकर मुठ मारAngdhai sex storijरस भरी चोदाई कहानीचूदाईसोतेलीऔरतों का चूत रात में बहन के कमरे में घुस के चोदने का पोर्न वीडियोचुदाई किरंगीन कहानीकाली चुतHinde.sixey.store.comदुकान मालकिन ने चोदना सिखाया.comटूशन टीचर को बारिश म छोड़ाxxx video naighti and barra paintyबीबीचुतसपना का बदला 2 sxsi khaniyaXXXanti pajaban chut Vedo माँ बेटी चूची चूसी hindisexkahaniyanमौसि के chakkar me maa ko chod diya sex ki sachi kahaniya.inउरमिला चाची की अनतरवासनाहिंदी सेक्स स्टोरी हरामी ने छोड़ाबहन का आंग पर्दर्सन सेक्स स्टोरीज हिंदीantervsna auntSadi suds orat ki chodar kahani hindi maiचुत मे दॅद लड के लिएदो लंडसे चुदाईSex kahaniya/बर्थडे गिफ्टब्रा के कप्स मुझे साफ़ साफ़ नज़र आ रहे थे sex story in hindimummy aur mummy ki beti ki jhhat banai hindi sex kahaniamera kamuk badan aur atrupt yuwan sex storyमेरी माँ बहन बुआ की चुदाई की कहानियोंबड़े लड़ से गैर मर्द से चुदाई कहानीkirayedar aunty sex story in hindiबेटे का प्यासा लंड स्टेशन पर चुदाईदेवार ने पुनाम भाभी की चुत मारदोनो बेटेसे चुदि माँ कथाछोटी बेहन को चुदाई सीखाई कहानीgadchudwati ass bhabhi ki kahaniरात में छत पर लड़के का अंडरवियर खोलारानी को चोदाNauvi kaksha ki antarvasnaammy chudwati rahati thi mai chup chup kar dekhata rahata tha hindi sex kahani rajsharmaएक बार लौडा दे दे कमीनेलंडदीदी की सफ़र में चूत चुदाईxx bhanjarni videsरंडी की चुदाई का सेक्सआम दाब xxxhindi mummy ka chola sxy Storychudasi auntiyan storyJawan chut nadan landट्रेन मे बीबी की सेक्स चूदाई काहाणी mammi ko hum sabane milke chodakamuk malkin hindi femdom storieschorni ki hindi sex khaniyaBeta tu isi bur se nikla hai sex storyगंवार मुझे जिंदा senk gusana लड़कियों सेक्स codna hai टब 7पापा के लुंड से मेरी सिल टूटी कहानीpati ke samne sex stiriesसाली की बेटी का यौवन पार्ट 2मेरे कमपुटर सेंटर पर मेरी बीवी की चुदाई देखीमाँ गांड फैलाते बेटालंडकी प्यासी आंटी सेस्क स्टोरीअदिती बहु चुदाई सेक्स स्टोरी पड़ोसन भाभीनेहा मौसी कि चुदाईमस्त कामिनी की चुदाई कहानीsadi ke bad MA sikhayi suhagrat kahani यास्मीन की चूत मरीsalmakichudaiXxxmoyeeदोस्त के मम्मी की मस्त चुदाईchalate truk me mummy chud gayiभोषडे की ललकSaxxxx xxx full gand marnaसलमा कि चुदाईलंबे और मोटे लंड से चुदी आंटीआआआआहह।mami ne dilwai kachchi kali hindi sex kahaniyansardiyo me babuji se chudwayaMeri maa aur mere gandu dost ki maa ki badi badi chuchiyaMakan Malkin ne kiraedar se chuday kahaniनीग्रो से चूत चुदायी की कहानियाँ