सन्नाटे खेत में बहु को चोदा ससुर ने

मैं अभी 45 साल Antarvasna aका हूँ और मेरे तिन बेटे हे. दो तो शहर में रहते हे और वही पर पढ़ाई करते हे. और बड़े बेटे की शादी अभी बस एक महीने पहले ही करवाई हे मैंने. खेतो का सारा काम मेरा बड़ा बेटा रमन ही देखता हे. घर में बहु के के आने के बाद अब घर सूना नहीं लगता हे. बहु का नाम कम्मो हे.

मैं कम्मो को बहु कह के ही बुलाता हूँ, और वो मुझे पिताजी कहती हे. रमन को कुछ काम से शहर जाना हुआ और बस उसके जाते ही बहुत के ऊपर मेरी नजर पड़नी शरु हुई. रमंन के जाते ही शाम को बहु अपने कमरे में सो रही थी और करवट बदलते हुए उसका लहंगा उसकी जांघो तक ऊपर आ गया था. मेरी नजर उसके ऊपर पड़ी तो ऐसे लगा जैसे लौड़े में नहीं जान आ गई हो.

थोड़ी देर के बाद बहु उठी तो मैं हर पल उसके साथ ही रहा. वो जब खाना बना रही थी तब भी मैं उसको ही देखता रहा. मैं नजरें उसके बूब्स और गांड के ऊपर टिका के बैठा हुआ था. खाने बैठे तब मैंने उसके मम्मों के ऊपर ही अपनी नजरें चिपका डाली थी जैसे. अब उसको भी पता चल गया था की मैं उसकी तरफ ही देख रहा था और वो भी बुरी नजरों से! खाने के बाद मैं बहु के साथ बातें करने लगा.

मैं: बहु मुझे आज आधी रात को खेत पर जाना होगा. नहर में पानी आया हुआ हे उसे खेतों में छोड़ के सिंचाई करनी हे. क्या तुम भी मेरे साथ चलोगी?

बहु: पिताजी इतनी रात को जाना क्या ठीक होगा? वैसे मुझे अँधेरे से बहुत डर लगता हे. और वो कह रहे थे की हमारे खेत जंगल से सटे हुए हे. रात में जा कर खतरे को मोल लेने जैसा हे. सुबह को नहीं जा सकते हे पिताजी?

यह कहानी भी पड़े  मम्मी और बहन को ब्लेकमेल कर चोदा

मैं: नहीं बहु सुबह बहुत देरी हो जायेगी. अगर रात को पानी छोड़ा नहीं तो पानी किसी और के खेत में ले लेगा वो. और फिर हमें उसके खेत की सिंचाई पूरी ख़त्म होने की राह देखनी पड़ेगी. वैसे मैं साथ में हूँ फिर तुम्हे किसी से भी डरने की जरूरत नहीं हे. मेरी तो पूरी लाइफ ही निकल गयी इन खेतो में मैं चप्पे चप्पे से वाकिफ हूँ!

बहु: ठीक हे पिताजी, जैसे आप को ठीक लगे. मैं आप के साथ चलूंगी.

अब हम दोनों रात को घर से निकले खेतों की तरफ. 5 मिनिट चलने के बाद रास्ता और भी संकड़ा होता गया. रास्ते के दोनों तरफ जंगल था. मेरे हाथ में एक लालटेन थी.

बहु: पिताजी मुझे डर लग रहा हे.

मैं:डरो मत बहू मैं हूँ ना तुम्हारे साथ में ही. आओ मेरा हाथ पकड लो तुम.

ये कह के मैंने उसका हाथ पकड़ लिया. हम दोनों थोड़ी दूर गए थे की मैं रस्ते में रुक गया.

बहु: क्या हुआ पिताजी आप रुक क्यूँ गए?

मैं: श्हह्हह्ह चूप रहो बहु. लगता हे यहाँ आसपास कोई सांप हे!

बहु को ये कहा तो वो और भी डर गई और मैंने मौके का फायदा उठाया और उसको अपने सिने से लगा लिया. अब उसके मम्मे मेरी छाती पर प्रेस हो रहे थे. मैंने दोनों हाथ उसकी पीठ पर रख दिया और हाथों को पीठ पर रगड़ने लगा.

फिर मैन्स बहु के कान में कहा: बहु बस ऐसे ही शांत खड़ी रहो.

बहु: पिताजी मुझे सच में बहुत ही डर लग रहा हे.

बहु ने दबी हुई आवाज में कहा. अब मैंने अपने दोनों हाथ को उसकी गांड पर रख दिए. और मैं हाथ की हथेलियों और उँगलियों से उसकी गांड को दबाने लगा. बहु के मुहं से अह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह हम्म्म्म की आवाज की और वो मेरे सिने से और भी लिपट गई.

यह कहानी भी पड़े  सेक्सी स्टोरी छत्तीसगढ़ की देसी गर्ल की चूत चुदाई की बेकरारी की

अब मैं बहु की गांड की क्रेक को अपनी ऊँगली से सहलाने लगा. ऊँगली को लहंगे के ऊपर से गांड की क्रेक मैं ऊपर से निचे तक फेरने लगा. बहु अब और मेरी पीठ पर अपने हाथ फेरने लगी, ओह्ह्ह्ह अह्ह्ह्ह पिताजी अप ये क्या कर रहे हो? सांप गया की नहीं?

मैं: लगता हे की सांप चला गया हे.

बहु: पिताजी मुझे बहुत जोर से पेशाब आया हे, लेकिन यहाँ तो सब तरफ जंगल ही जंगल हे.

मैंने अपने हाथ को उसकी गांड से हटाते हुए कहा, जंगल हे तो क्या हुआ तुम पेशाब कर लो यही पर. यहाँ पर कौन देखनेवाला हे!

बहु ने दबे हुए आवाज में कहा, जी पिताजी.

और फिर उसने अपने लहंगे को उतारा और वो वही पर बैठ गई रस्ते के किनारे. उसकी चूत से निकलते हुए पेशाब की धार से मेरे लंड में जैसे और भी मस्ती चढ़ी हुई थी. उसकी धार स्टार्ट हो के रुक गई और वो 30 सेकंड तक उठी नहीं.

मैं: क्या हुआ बहुत पेशाब हुआ की नहीं?

बहु: नहीं पिताजी, डर की वजह से आधा ही हुआ और रुक गया.

मैं बहु के करीब गया और लालटेन के उजाले को उसकी चूत के ऊपर मारा. और फिर अपनी ऊँगली को मैंने बहु की चूत के ऊपर रख दिया और उसे सहलाने लगा. मैंने उसे कहा, अब कोशिश करो बहु.

Pages: 1 2 3

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


chudaiki kahinahi hindi videos story page 1लण्ड का कमालfimsex vangorgचुदाई की आदतपरिवार मेँ माँ पापा भाई बहिन की एकसाथ चूदाई की कहानियाँbhai bahan ki rajai me chudai xxx hindi storymujhe dekar chodaMami ki nokri part 2 xxx suoriessamuhik afarin sex hindi storyमालकिन की चुदाईभाई मुझे अपनी रखेल बना लोChut Masoom ki lalach sex storyचूत चूतhttps://buyprednisone.ru/fuferi-behen-ki-seal-todi-13/3/हाम बिसतरीमैंने उसकी पैंटी पहन लीमै किसी के प्यार मैं फंस गई और उसने की मेरी गैंगबैंग चुदाईपड़ोस वाली लड़की की चुदाई मालिश के बाद सेक्स स्टोरीट्रेन के सफर मे चुदाईsagi mameri Bhabhi ki chudaiek. reshmi. ehsas. bur. chudai. storyantarvasna rishta adhuri pyaschut ko land se chudaiphigar malis xnxxxantvasana sex.compapa NE mere chuche dabaye Hindi sex khaniya Grop antrwasna48saal ki aurat ki chudaiजाआअचची ने लुंड देख लियाcchote larke ko बोल ke लालच से भाभी ne सेक्स क्या हिंदी कहानीरात भर मेरी चूत जो चोदा बेदर्दी नेmere pindliyo ko choomne lagaदो लंड एक साथ कहानीbahanchod bhai bahan ki chut maregaचोरी छुपे चुदाई देखीhavili M kaki antarvasnaBhai ke dost ne panti utarwai xxx hindi storyपतली लडकी कि चुतXxx.मामि भाजीभाभीकीचुदाईअन्तर्वासना सेक्सी सफर कहनिया ट्रैन मईभाभी और मेरी अंतरवासनापुच्ची रसMaa aur beti ki Luka chuppi chudai xxx video hdriston main hairy chudai in hindi sex kahaniyaहिन्दी सेक्स कहानी मामा जी से चोदxxx sex in bhabhi suhagrat rubdi khanniमोम नीचे का होंठ चूसना ः हिंदी सेक्स स्टोरीpiyasi bahan bhuki xxx choot mei botalचोदा चोदीsex100%vetnam15Bars ki ladki ki chudai ki kahani Hindi meammy chudwati rahati thi mai chup chup kar dekhata rahata tha hindi sex kahani rajsharmaब्लू फिल्म चुदाईसाया उठा कर चाँदनी रात मे चुदवाईmera pehla gangbang chudai storyसंगीता दीदी की पैँटीOxssip incest story.comचाचा ने लंड डालकर दीया मजाxx bhanjarni videsसेक्स स्टोरी हिंदी सविता भाभी braसंगीता दीदी की पैँटीसासु माँ कि चुदाई और सन्तुष्ट कियामाँ को घोड़े पर बिठा कर चोदाxbgrupsex कॉमकरवा चौथ पे usha chachi chudai ki khaniहिंदी सेक्स स्टोरी स्लिम मकान मालकिन भाभीwww sexhindi chutlund comhabshi muslim antarvasnaकोमल और बाप की चुदाईxxx com maja aata h kaseबुरका मेँ सैक्सी विडियो हिन्दी मे चूत देती