खेल खेल में चुदाई

khel khel mai chudai आज मैं आप’को अप’ने घर की कहानी बताने जा रहा हूँ. मेरे घर में पापा, मम्मी, छोटी बहन सलोनी (15 साल) , मुनिया (1 साल)
और मैं; ये पाँच लोग रह’ते हैं . मेरी उमर 18 साल की हो गयी है और कॉलेज में बी. एस सी. फाइनल एअर में हूँ. छ्होटी बहन सलोनी
10थ में है. कॉलेज में दोस्तों के साथ लड़’कियों से छेड़ छाड़ कर’ना और लऱ’कियों की बातें कर’ने में मैं किसी से कम नहीं
था. हमारी सम्मर वाकेशन्स चल रही थी. पापा तो सुबेह ही काम पर चले जाते और शाम को घर आते थे और मम्मी सारा दिन काम
में बिज़ी रहती थी. एक दिन दोपहर के वक़्त खाना खा के मैं और सलोनी टी. वी. देख रहे थे. मम्मी और मुनिया सो रहे थे. इतने में
ही लाइट चली गयी. अब मैं और सलोनी बोर हो रहे थे.

“भैया, लाइट तो चली गयी, अब क्या करें?”

“कुच्छ खेलते हैं”

“क्या खेलोगे?”

“लुडो”

“मेरा दिल नहीं कर रहा”

“फिर चलो साँप सीढ़ी ही खेल लेते हैं, इतने में कहीं लाइट आ
जाय.”

“नहीं भैया ये सब खेल मुझे बहुत बोर लग’ते हैं.”

“अच्च्छा सलोनी आज हम वो बच’पन वाला खेल “घर घर” खेलते
हैं, जिसमें तुम कुच्छ बनोगी और मैं भी कुच्छ बनूंगा.

“उम्म. . . ठीक है, भैया.”

“पर यहाँ तो बहुत गर्मी है, चल ऊपर वाले कमरे में चल के खेलते हैं” हमारा घर दो मंज़िला है. मैं और सलोनी फर्स्ट फ्लोर
वाले रूम में चले गये. यह कमरा प्रायः बंद ही रह’ता था और इसमें किसी के आने का भी डर नहीं था.

“भैया मम्मी ने अगर हमें आवाज़ लगाई तो सुनाई नहीं देगी यहाँ पर”

यह कहानी भी पड़े  चुदाई सेक्स कहानी थ्री ऑन वन

“मम्मी तो अभी कम से कम 2 घंटे सोती रहेगी और मुनिया तो पूरे दिन सोती ही रहती है”

“पर हम ‘घर घर’ में आज खेलेंगे क्या?”

“उम्म. . मैं डॉक्टर बन’ता हूँ और तुम पेशेंट बन जाओ. तुम मेरे पास दिखाने आओगी” खेल शुरू हो जाता है.

“हेलो डॉक्टर साब, मेरा नाम रसीली है”

“हेलो. यस. . रसीली जी. . क्या प्राब्लम है आपको”

“डॉक्टर साब मेरे पेट में अक्सर दर्द रहता है”

“आप सामने बेंच पर लेट जाईए” सलोनी जाकर बेड पर लेट गयी. सलोनी ने उस दिन ग्रीन कलर का सलवार- कमीज़ पहना हुआ था. फिर
मैं भी बेड की साइड पर जाकर बैठ गया.

“यस. रसीली जी. पेट में किस जगह दर्द होता है आपको” सलोनी ने अपनी नाभि पर हाथ रख कर बताया,

“डॉक्टर. . इस जगह होता है दर्द”

“आप ज़रा अपनी कमीज़ थोड़ी ऊपर करेंगी?” तो सलोनी ने पूचछा,

“असली में भैया”

“हां! खेल का तो तभी मज़ा आएगा.” सलोनी ने अपनी कमीज़ ऊपर कर दी. फिर मैने सलोनी के पेट पर हाथ मारना शुरू किया.
सलोनी थोड़ा सा शर्मा रही थी.

“क्या दर्द हमेशा यहीं होता है?”

“जी डॉक्टर साहब.”

“अब मैं आपके पेट को दबाऊंगा , जहाँ दर्द हो वहाँ बताना” मैं सलोनी के पेट को अपने हाथों से दबा-ने लगा. इस पर मेरा लॉडा
खड़ा होने लगा. सलोनी की छाती ऊपर नीचे हो रही थी. मेरी नज़र सलोनी की चूचियों पर पड़ने लगी. सलोनी की स्किन बहुत कोमल और चिक’नी थी. सलोनी को भी मेरा दबाना अच्च्छा लग रहा था. मैं कुच्छ देर तक तो पेट को दबाता रहा लेकिन अब मैं सलोनी का एक एक अंग दबा-ना चाह रहा था.

“यह दर्द कब कब होता है आपको”

यह कहानी भी पड़े  कामुकता कहानी - नाजायज रिश्ता

“रोज़ सुबेह उठ’ते ही. . और कभी कभी तो छाती में भी होता
है.”

“छाती में. . . छाती में किस जगह?”

“बिल्कुल बीच में “देखना पड़ेगा. कमीज़ थोड़ा और ऊपर कीजीए” सलोनी को मज़ा आ रहा था और वो इस खेल को और खेलना चाह-ती थी. मेरा तो लॉडा बेकाबू सा होता जा रहा था. सलोनी को मज़ा तो आ रहा था पर वो शर्मा भी रही थी. जब मैने सलोनी की कमीज़ और ऊपर उठानी
चाही तो वह बोली,

“भैया कमीज़ और ऊपर मत करो,”

“देखिए रसीली जी इस छाती के दर्द वाली बात को आप गंभीर’ता से लीजिए. मुझे पूरा चेक अप कर’ना पड़ेगा. और मैने
सलोनी की कमीज़ ऊपर कर’ने की कोशीष की.

“डॉक्टर साब. . कमीज़ ऊपर मत कीजीए, मैं आज कुच्छ पह’नी नहीं ”

“क्या नहीं पह’नी”

“मेरा मत’लब आज मैने नीचे ब्रा न्हीं पहन रखी.”

“पर क्यों नहीं पह’नी.”

“मुझे इन गर्मी के दिनों में अंडर गारमेंट्स नहीं सुहाते. आप कमीज़ और ऊपर मत कीजीए, कमीज़ के अंदर हाथ डाल के देख लीजीए”

“ठीक है” मैने सलोनी की कमीज़ में हाथ डाला और पूचछा.

“कहाँ दर्द होता है”

” इन दोनो के बीच में”

“क्या. तुम्हारा मत’लब इन दोनो चूची के बीच में?” मैने सलोनी की एक चूची दबाते हुए जान बूझ के चूची शब्द इस्तेमाल
किया. “हाँ” सलोनी शर’माते हुए बोली. मैं सलोनी की चुचियो के बीच के पार्ट को दबाने लगा और मुझे चिड़िया दाना चुग’ती नज़र आई.

Pages: 1 2 3 4 5 6

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


बहिन की जाँघे हिंदी सेक्स कहानीboor me tel malis 12 sal ki larki ka sex baba ki hindi kahaniमहिला और सर का चुदाईnanhi jaan antarvasnaantarvasna samdhi jiमामी भांजे क xxx.comभाबी की चूते का छेद देखना हाबहन के साथ पार्टी और सेक्सmaa aur mausi xxx storyदीदी चूत दिलवा दोमैंने चुदवाई अपनी चूत tau ji seरात भर मेरी चूत जो चोदा बेदर्दी नेमालिक ओर 3 नोकरानी कि चुदाइ काहानिभाभी नंनद सेकस कहानी चुत कीएक राउंड और लगाया चुदाई काbus me anjaan se chudayishuhagrat pe gannd msrisex storyआंटी की चूतmasi or uski saheli ki pyas bhujhaihai re zalim sex storyपंडित के साथ चुदाईमेरा 12 इंच का लण्दपैसों की जरूरत के sex ki हिंदी स्टोरीज डॉट कॉमBhabhi ke chakar me bahan ko chodaमा कीगहरी नाभि को चूमानशिली आंटीया सेस्क स्टोरीMa ki pyas bujhti nehi sex storissexhindikahaniburचुदने का मजाSuhagrat ki sexy video Dheere Dheere Kapda UtaraSaheli ke sexy pati se chudi suffer maiचूत में लंडरंडी ka cum nikal gayaDaya aur Shreeya Hindi Kahni SexHindi chudai baba guru mota lund jabardasti khun dard sex kahaniअन्तर्वासना भाई बहन दारू पी केushs की chuadai कहानीpadosi ladki antervasna rajayiमेरे बेटे ने पेटीकोट उठाकर चोदाबीवी ने दीदी के साथ कराया antarvasna momantarvasna मुझे लगा कि मैं इसे नहीं ले पाऊँगीjaklingi xxxxचुदाई कि कहानीअन्तर्वासना हिन्दी सेक्स स्टोरी बस और ट्रेन में बेटी के सामने चोदAntarvasnasexkahani.comdaru ke nashe me chudai nonveg story.चुची और चुदाई की कहानीसफर मे चुदाई की अंतरवासनासीमा की चुदाई ग्रुप मेंSalma antarvasnaसोना चुदाईwww.मावशीच्या जबरदस्ती sax कथा .comअंकल से चुदवायाtruck me gangbang chudai sexy storymujhe dekar chodawww.sasur ne dahu chikh nikali chudwaya hindy saxi kahani.comयहाँ लण्डो की चुसाई होती हैgair matdo chodane ki khanirajsharmahindisexistoriesseksi khaneenangi samuhik besaram chudai kahaniजवान लडकी की चुदाइwww.sexykahnibhbhihai re zalim sex storyमम्मी पापा से चुदकर मा को ब्रा पसंत है सेक्सी हिंदी कहाणीsexhindikahaniburकुवरी लङकी चिकने दूधमम्मी से चुदाई वाला खेलधोखे से लैंड घुसा दियाभाभी की बूब दबा मजे कियाviagra khakar aunty ki chtdai kahaniबुर लंड घुसाने की कविताचुदाई सजा बहनChotibahankichudai.comगुदा में उंगली करनाhedin saschodaiपति के सामने दिल खोल के चूदीपड़ोस की भाभी को पता केर छोडा स्टोरीजपूजा शाली को चोदासहेली के पति से सेक्स कहानियां