बस में मिला एक नौजवान के साथ कामुकता

मैं: ‘पागल हो क्या’!

यह कह कर मैंने मोबाइल काट दिया.

जब मैंने मोबाइल बिस्तर पर फेका तब तक मैं इतनी गीली हो चुकी थी की अनायास मेरा हाथ चूत पर चला गया और उसी हालत में मेरी उसकी हुयी बात को याद करते हुये मैं मास्टरबेट करने लगी. मेरी उंगलियां मेरी गीली चूत के अंदर बहार हो रही थी और मैं अपनी क्लिट को भी बेरहमी से रगड़ रही थी. मैं लड़के की हिम्मत के बारे में सोंच रही थी, जो मुझसे २० साल छोटा था लेकिन बड़े अधिकार से मुझ से बिना पैंटी के साडी पहनने के लिए कह रहा था ताकि वोह भरी बस में खुले आम मेरे चूतरो से और मस्ती ले सके. सेक्स की इस असीम चाहत से मैं रोमांचित हो उठी और मेरी चूत ने पानी छोड़ दिया. मैं बिस्तर पर पड़े पड़े उसी के बारे में और उससे हुयी बातो के बारे में सोचती रही. मैंने उसका नंबर अपने मोबाइल में, एक लड़की के नाम सेव कर लिया. तब मुझे ध्यान आया की अभी तक न मैंने अपना नाम उसे बताया था न उसने ही अपना नाम मुझे बताया था.

अगले दिन जब मैं अपनी बेटी को छोड़ने के लिए तैयार हुयी तब मुझे कल वाली उसकी बात ध्यान में आयी. मैंने शीशे में अपने आपको घूरा और मैंने अपनी साडी पेटीकोट उठा कर एक झटके में पैंटी उतार दी. मैं जब बाहर निकली तो बिना पैंटी के मुझे बड़ा अजीब लग रहा था. लग रहा था मेरी चूत भरे बाज़ार नंगी होगयी है और मेरी झांघो के बीच वोह रगड़ी जा रही है.मैं अंदर ही अंदर बहुत उतेजित भी थी और सोंच भी रही थी, हे भगवान! मैं यह क्या कर रही हूँ! वह भी एक २० साल के प्रेमी के लिए! मैं जब बस स्टॉप पर पहुँची वह लड़का वहाँ पहले से ही खड़ा था. उसने जीन्स और टी शर्ट पहने हुयी थी, हमारी आँखे मिली और हमने नज़र घुमा ली, जैसे हम दोनों एक दुसरे को नहीं जानते .

हमेशा की तरह मैं हैंडल पकड़ कर खड़ी होगयी और वोह लड़का धक्का देता हुआ ठीक मेरे पीछे आकर खड़ा होगया. उसने फ़ौरन मेरी कमर के नीचे हाथ रख कर मेरी पैंटी को महसूस करने की कोशिश की. जब उसको इसका एहसास हो गया की आज मैंने उसके कहने पर पैंटी नहीं पहनी है तब उसने मेरे चूतरो को थप थपा दिया, जैसे वोह मुझे धन्यवाद दे रहा हो. बिना पैंटी के जब उसके हाथ मेरे चूतरो के ऊपर पड़े मैं बिना दांत भीचे नहीं रह पायी. आज पहली बार उसके उद्वेलित हाथो की गर्मी मेरे चूतरो पर सिर्फ साडी के ऊपर से महसूस कर रही थी. मैंने थोड़े पैर और फैला दिया और जैस मुझे उम्मीद थी उसका कड़ा लंड मेरे चूतरो की दरार से रगड़ खाने लगा. आज वह अपना लंड वही रगड़ रहा था और मेरे चूतरो को मसल भी रहा था,मैं बिलकुल अलग दुनिया में पहुँच गयी थी, उस भीड़ भरी बस में मैं वासना के उस सागर का सुख ले रही थी जो मेरी शादी के १८ साल बाद भी अभी तक मुझसे महरूम था. पुरे रास्ते उसका लंड मेरे चूतरो पर रगड़ता रहा और मेरी चूत भी आज कुछ ज्यादा गीली हो गयी थी. आज मैं पैंटी नहीं पहने थी , मेरी चूत का पानी बहकर मेरी जांघो पर आगया था. जब उसका स्टॉप आया वोह उतरने के लिए आगे आया और जाते जाते धीरे से मुझे ‘थैंक्स , कॉल मी’ कहते हुये आगे बढ़ गया. मैं मूर्ति की तरह वैसे ही वैसे खड़ी रही.

यह कहानी भी पड़े  रिहर्सल में हिरोइन को चोदा

मैं जैसे तैसे घर पहुँची और घुसते ही रुमाल से मैंने अपनी बहती हुयी चूत को पोंछा और उसको मोबाइल लगा दिया.

वोह: ‘हाय दिलरुबा!’

मैं: ‘हम्म्म’.

वोह: ‘थैंक्स, मेरी इच्छा पूरी करने के लिए’.

मैं: ‘ हाँ, मैं बच्चो को निराश नहीं करती’.

यह कह कर हॅसने लगी और वह भी हॅसने लगा.

वोह: ‘हम कब मिल सकते है?’

मैं चुप हो गयी. मिलने की इच्छा मुझे भी होने लगी थी और मन मानने लगा था की उससे मिलने में कोई बुराई और खतरा नहीं है. लेकिन परेशानी थी की मैं उससे कहाँ मिल सकती हूँ?

मैं: ‘मुझको नहीं पता. कोई ऐसी जगह नहीं समझ में आती जहाँ मैं तुमसे मिल सकू’.

वोह: ‘मैं आपको अपने घर नहीं ले जा सकता, मेरी माँ हमेशा घर रहती है. आपका घर कैसा रहेगा?’

मैं: ‘मेरा घर?’

उसने जब मेरे घर की बात की तब मैं सोचने लगी की बात सो सही है, मेरी नौकरानी १२ बजे चली जाती थी और ४ बजे मैं अपनी बेटी को लेने स्कूल के लिए निकलती थी. १२ से ४ के बीच मैं घर पर बिलकुल ही अकेली रहती थी. मैंने बिना हिचके उसको १२:३० बजे का समय दे दिया और अपने मकान का पता बता दिया.

अगले दिन वह बस स्टॉप पर नहीं दिखा , मैं घर ऑटो रिक्शॉ पकड़ कर जल्दी आगयी. नौकरानी को भी मैंने जल्दी कम ख़तम करने को कहा और १२ से पहले ही उसे भी घर के बाहर कर के दरवाज़ा बंद कर दिया. उसके जेन के बाद मैं बिलकुल एक कामातुर प्रेमिका की तरह कपडे निकलने लगी. मैंने अब स्लीवलेस काले रंग का ब्लाउज पहन लिया जिसकी बैक खुली थी और उसके साथ सफ़ेद रंग की साडी जिस पर काले पोल्का डॉट पड़े थे पहन ली. बड़ी अजीब बात थी, यह साडी मेरे पति की पसंदीदा साडी थी , जो उन्होंने मुझे शादी की १५ वीं वर्ष गांठ पर दी थी. जब मैंने पहली बार इस साडी को पहना तो उन्होंने मुझसे कहा था, की मैं बहुत सेक्सी लग रही हूँ और उन्होने वही साडी उठा कर मुझे जल्दी से चोदा और उसके बाद ही हम लोग बाहर खाने पर गए थे. मैंने साडी पहन कर अपने आप को शीशे में निहारा और अपने पर रश्क कर बैठी, मैं आज भी इस साडी में बहुत सुन्दर और सेक्सी लग रही थी.मैं अपने को निहार ही रही थी कि तभी बाहर दरवाज़े पर घंटी बजी. मैं एक बार ठिठकी , एक बार और अपने को देखा और फिर दरवाजा खोलने चली गई.

यह कहानी भी पड़े  डेरे वाले बाबा जी और सन्तान सुख की लालसा-1

Pages: 1 2 3 4 5 6 7 8

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


छोटी बहन रेखा चोदचुदाई सिखाईKMLA.SEXXXXलड़की की चूतगाँव में नंगी औरतों को नंगा देखा नदी के किनारे सेक्स storiesबुर सूज ठीक से चल कसी रगड़maa kspyar sax storiपापा ने धीरे धीरे पूरा लंड पेल दियाहिंदी चुदाई स्टोरी आउचchut kholo mujhe land dalna haऋतु पर खुला चुदाईदादी की गाङ मारीबुर चोदाईMaa ki iccha bete ne puri kiHindi siskibhari sexसाड़ी ब्लाउज में सेक्सी वीडियो बूढ़ी औरत कीगांड मारने की कहानियाबस मै मज़े दिएXxx Sex sister gajar Muli ke sath Chut Chudai full HD videoमा ने लिया बेटे का लन्ड न्यूड विडीयोममी के घाघरे में तीन लुंड सेक्स स्टोरीजमौसी और मा की चुदाईXxxmoyeexxx vidioसबके सामने कियाmere stan ki phuli hui tight golai hindi sex storyघरवाली की सहेली की चुदाईससुर और पति हिंदी सेक्स स्टोरीलड़की चूतkhushnuma ki chut or gand hindi sex kahaniaslam ka land chusa hindi sex storyचुदाई में बेहोशी कहानीभौजाई किवाड़ बंद नंगा चूतwww.shadi mai ludhiana bali punjabn aunty ki chudai khani.inनीचे वाले होंठ भी तो चूस sex storymardkanangabadanताई सेकस कहानीtayi ke chudaiyaसेकसीलडकीmalkin ki chudaiमाँ ने बेटी चुदाईमेरी अधूरी बुर चुदाई Hindi ladkiyo ki gad Marna teencomNauvi kaksha ki antarvasnaहिंदी परिवार सेक्स स्टोरीजचोदा चोदी फोटोpoti antarvasnaभाभी की चुदाईचाची की चुत चाटने मजा आता हैचुदाई रिश्ताnazneen ki chudai sex storyसविता भाभी को अशोक के चाचाजी ने चोदाचुतहलकि किचुदाइchik nikal gaand faad indian sexmaa ki kahanibeta se x videohttps://buyprednisone.ru/maried-aunty-ki-antarvasna-sex/भाभी मुझे पेशाब आ रहा हैमेरी जब आँख खुली तो देखा कि मैं अस्पताल में था hindi sex storXxx.nngifoto.daमाँ की घर में चुदाईमामी का दूध पियाrkh,tahi,chilana,xnxxcomशादी में गैर महमान से चुदाईपत्नी को जमके चोदाAntarwasnaपरिवार मे चुदाई - ये कैसा ससुरालमेरे लंड में आइसक्रीम लगाकपल ने थ्रीसम सेक्स का मज़ा लियाहिन्दी सेक्स कहानी मामा जी से चोदsex stories bhua ki papa ke sathसाड़ियां छोड़कर पजाबी कपडे sexपहाड़ चुदाई कहानीkarvachauth mein pyaar mila antarvasna kahaniएक भाई की वासनाबुआ चुदाईपापा से सुहागरात मनाईek yuwa maa kikamuk hindi kahanipappih saxy vidioबीवी बनी छिनाल सेक्स स्टोरीकच्ची जवानी सैक्स स्टोरीनर्स हिंदी सेक्स स्टोरीwww.sexykahnibhbhiचोदनाचुचीpapa ne pet se kiya hindi sex khaniyaचूदाईसोतेलीविधवा भाभी की बुर फाड़ चुदाई