ममेरी बहन की चूत में लंड का पहला मजा

मेरा नाम वीर (बदला हुआ) है। मैं 22 साल का एक जवान लड़का हूं और उत्तर प्रदेश का रहने वाला हूँ। देखने में मैं एक सामान्य कद-काठी का मर्द हूं.

आज मैं आपको अपने जीवन में घटित एक सत्य घटना बताने जा रहा हूं. यह बात उस समय की है जब मैं 19 साल का था और बारहवी में पढ़ रहा था। उन दिनों मैं अपने मामा के घर पर रह रहा था. मुझे क्या पता था कि मामा के यहाँ मैं सिर्फ पढ़ने के लिए नहीं जा रहा बल्कि एक ऐसे रिश्ते से जुड़ने जा रहा हूँ जो मेरे जीवन में एक नया मोड़ ले आएगा।

मेरे मामा थोड़े गरीब हैं। उनके घर में केवल एक कमरा अपने बड़े बेटे और बहू के सोने के लिए और एक कमरा बाकी लड़कियों और मामा मामी के सोने के लिए है। उनकी 3 बेटियाँ हैं जिसमें से सबसे बड़ी का नाम पूनम था। वो मुझसे 4-5 साल बड़ी थी इसलिए मैं उनको दीदी कहता था। भगवान ने उनको बहुत सुंदर बनाया है।

मैंने हमेशा उनको दीदी ही तो माना था। आखिर मामा की लड़की भी तो बहन है। ऊपर से उम्र में 4-5 साल बड़ी मगर उनकी हंसने की अदा, उनके गोर चेहरे की मुस्कराहट, उनके गुलाबी होंठ, उनके तीखे नैन नक्श मुझे कम से कम उस समय तक तो नहीं भाये थे जब तक आस-पड़ोस के लडकों में उनको पाने की ललक न देखी थी।

अब एक साथ रहने के चलते हम सब भाई-बहनों का साथ-साथ उठाना बैठना, लूडो खेलना होता था। एक सादगी भरी हसीन अदा उनकी हर हरकत में दिखती थी।
पढ़ाई में लड़कियों से पाला बहुत पड़ा था लेकिन शायद उस समय तक एक लड़की के छूने पर जो अहसास अब हो पाया था वो पहले कभी नहीं हुआ था।

यह कहानी भी पड़े  ऑफिस के दो माल के साथ थ्रीसम सेक्स

मैं अक्सर उनको सताया करता था और वो भी मुझे छोटा भाई जानकर बहुत तंग किया करती थी और हम दोनों भाई-बहन ऐसे ही मस्ती करते रहते थे. हम दोनों के बीच में ऐसी ही हल्की-फुल्की शरारतें अक्सर चलती ही रहती थीं.

दीदी मेरा बहुत ख्याल भी रखती थी। लूडो खेलते समय जब एक दो बार उनका हाथ मेरे हाथ से छुआ तो पता चला कि इतना नर्म स्पर्श शायद कभी महसूस नहीं किया था मैंने। फिर मैं जान बूझकर खेल में चीटिंग करता था और पासा लेने के चक्कर में काफी देर तक उनके हाथों का स्पर्श महसूस करता था।

उनको मेरा शहरी पहनावा बहुत पसंद था। मेरी टाइट फिट टी-शर्ट्स और शर्ट्स उनको मेरी अच्छी फिटनेस दिखाती थी। मुझे भी उनका शहरी लड़कियों की तरह कुरता और लेग्गिंग का तालमेल गजब का लगता था।

धीरे-धीरे मेरा ध्यान उनके ऊपरी उभार पर जाने लगा। मेरी चोर नजरें अक्सर उनके उभारों को देखने की ताक में रहने लगी थीं। जब भी हम लोग लूडो खेलने बैठते तो मेरा ध्यान उनके उभारों और उनकी जांघों पर जाता था। जांघों का गदरायापन अक्सर मेरी उँगलियों को बुलाता था और मैं उनकी जाँघों पर अपनी उँगलियां चलाने के लिए मचल जाता था। मैं कई बार उनके हाथों का स्पर्श पाकर रोमांचित हो जाता था। उनके हर अंग से चिपका उनका कुर्ता और कसी लेग्गिंग मुझे आकर्षित करने लगी थी।

एक दिन मैं मामा के अन्दर वाले कमरे में सो रहा था। दीदी भी शायद मुझे सोता हुआ जानकर बेफिक्र सी होकर नहा रही थी। मामा की आर्थिक स्थिति सही न होने की वजह से नहावन बस एक बंद दरवाजे के पीछे बना था जिसमें से होकर अन्दर वाले कमरे का रास्ता था जहाँ मैं सो रहा था.

यह कहानी भी पड़े  प्यासी भाभी की चुदाई

गर्मियों के दिन थे इसलिए गर्मी की वजह से मेरी आँख खुली। मैं जैसे ही उठ कर बाहर निकला मेरी आँखें खुली रह गयीं। दीदी का पूरा यौवन मेरे सामने था। उनका पूरा गोरा नंगा जिस्म देख कर मेरे शरीर में करंट दौड़ने लगा।
दीदी के सिर से गिर रहा पानी उनके लबों को, गर्दन को, उनके मखमली बूब्स को, उनकी पतली कमर को भिगोता हुआ और उनकी जांघों से होता हुआ योनि के रास्ते अपना सफर तय कर रहा था।

कुछ समय के लिए मुझे पानी से जलन होने लगी। मैं भी पानी की तरह उनके नर्म गुलाबी लबों को, उनकी गर्दन को, उनके बूब्स को, उनकी कमर को, पेट पर बनी सुंदर सी नाभि को, उनकी मुलायम जाँघों को और उस योनि को छूना चाहता था।

मेरा मन दीदी को अपनी आगोश में भरने को कर रहा था। एक 23-24 साल की लड़की की भरपूर जवानी, वो हसीं जिस्म, पूरे दूध की तरह सफ़ेद जिस्म पर केवल दो कपडे़, उस समय दीदी को किसी फिल्मी मॉडल की तरह दिखा रहा था। शायद मेरे अन्दर की वासना मेरी पैंट में मेरे खड़े हो रहे लंड से पता चल सकती थी।

मैं उनकी जाँघों के बीच में अपना हाथ रखकर उस नर्म-मुलायम और मखमली अहसास को महसूस करना चाहता था। अचानक दीदी का नहाना पूरा हुआ और मैंने नजरें बचाते हुए दबे कदमों से खुद को वापस मोड़ा और धीरे से चल कर अपने कमरे में वापस आ गया.

Pages: 1 2 3 4

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


मेरी जब आँख खुली तो देखा कि मैं अस्पताल में था hindi sex storमामी जी फौज मे मामी चुदाईट्रेन में चुदाई कहानी hot sex kahani pyar bhara pariwar me baleckmel kiyaxxx com maja aata h kasepapa ki pari chud gayi storyअन्तर्वासनाआंटी कमर के लडके चुदवाईयात्रा ki आप बीती sexy kahaniyaघर में चुदाई करते देखा सेक्स स्टोरीझोपडी में माँ के साथ सेक्स कथा हिन्दीbahan bhai ki majedar xxx kahaniNew sachey sexy kahani sasur and bahuतृप्ती दिदि सेक्स काहानिपापा के लुंड से मेरी सिल टूटी कहानीphim sex pham bang bangmaderchod beta Hindi sex storyहाँ मैं चुदवाऊँगीनशिली आंटीया सेस्क स्टोरीNew sachey sexy kahani sasur and bahuसदी के बाद में दीदी को सोते स्पर्म अंदर पेलाभैया मेरी चुत फट गई कहानी Hindi sex kahani risto me Budhe Ne Khet Me chodaउसने मेरी बीवी की चूत देख ली थीपूरी हिन्दी आवाज में सेक्स लडकी की चुदाईचोदनमामी की चुत की फांकों के बीचलंड पे मंगलसूत्र लपेट के चूसdoctor ki clinik me chodai kahani hindiलंडnoukari chahiye to biwi aur ma chudwani padegiहिन्दी सेक्स कहानी मामा जी से चोदShakira Hindi chudai bur ka Choda saal meinचुदाई कहानी कामवालीचुतअंतर बासना मम्मी नादान बेटे की इच्छालंबे और मोटे लंड से चुदी आंटीstories masuka ki gaand me pelaहाम बिसतरीचूत चुदाईआआआआहह।phimpim tvsexसेक्सी कहानी vilege ke मुखिया का लड़का aur शहर की लड़कीमुझे टांग उठा कर चुदना हैbhai ab gand mi pelo land meri chut fat gaiphim xes pham bang bangDelhi metro chudai story antarwanaचुदयि।हिनदीSex story chudked bibi aur builder ten thái lan porn ra nhiều nướcचाचा भतीजी चुदाई पैँटीआज तुम्हारे बुर का स्वाद चखा सेक्स कहिय हिंदीtai cudai hindi sex storyRitika sex but and chut ki kahaniFad dalo meri chut ko hindiबोल बोल नहीं बोलती कहानियां डॉट कॉमदीदी ने मां को चुदवायाmama bhanji ke pyare anterwaanaलंबे और मोटे लंड से चुदी आंटीबस में अन्तर्वासनाIncest chudaiki suruatMujhe ragad kr pelokiraye pr makaan dene k chudaai ki kahaaniWww raj sarma sex stories hindi com तैरना सिखाने के बहाने चुत कहानियाँ चोदने बाले बीडिओखेल -2 में माँ की चुदाईडॉक्टर सेक्स स्टोरी हिंदीपति के बगल में सोते हुए दूसरा पति एक्स एक्स एक्स वीडियो डॉट कॉमChuddakadh salma hindi chudai kahaniyaआंटी ने माँ को चुदवायाmaa kspyar sax storimultinational companies sir ki antarvasnaxvideos con dau len lutLund pikar piyaas bujhai xvideo