चुदसी बीवी ने अपनी कामुकता शांत की

घंटे भर तक हम दोनो की कबड्डी चलती रही. वो तो हारने का नाम ही नहीं ले रहे थे और मैं बार बार आउट हो कर भी दुबारा पूरे जोश के साथ मैदान मे कूद पड़ती. बहुत ही शानदार मर्द मिला था. मेरे एक – एक अंग दर्द की हिलोरें उठ रही थी. पूरा बदन पसीने से लथपथ हो रहा था. घंटे भर मुझे रोन्दने के बाद उन्हों ने ढेर सारा वीर्य मेरी योनि मे डाल दिया. मैं निढाल होकर बिस्तर पर पड़ी थी. कुच्छ देर तक यूँही हम दोनो एक दूसरे से सटे हुए हानफते रहे. फिर उन्हों ने उठकर मुझे उठाया. मेरे पैर काँप रहे थे. वे सहारा देकर मुझे बाथरूम तक ले गये. फिर हम दोनो ने एक दूसरे को खूब मसल मसल कर नहलाया. एक दूसरे को मसल्ते हुए हम फिर गरम हो गये. उन्होने मुझे वहीं फिर्श पर चौपाया बना कर चोदा. शवर की बूँदों के नीचे संभोग करते हुए बड़ा ही आनंद आ रहा था. एक बार फिर मेरे गर्भ मे अपना वीर्य भर कर मुझे चोदा. हम दोनो एक दूसरे के बदन को टवल से पोंच्छ दिए. मेरे कपड़ों की ओर बढ़े हाथ को उन्हों ने अपने हाथ से रोक कर कहा,

“जब तक तुम्हारी दीदी हॉस्पिटल से नहीं आती तब तक तुम ऐसे ही रहना.”उन्हों ने मेरे पूरे नग्न बदन पर अपनी नज़रें फिराई. मैं उनकी आँखों की ओर देख कर शर्मा गयी. “इस बीच आपके छोटे भाई मिलने आगाए तो?” मैने नीची नज़र करके पूछा. “तो क्या देखेगा उसकी सेक्सी बीवी कैसे अपने सेठ जी की सेवा कर रही है. कितना पुन्य कमा रही है.” “धात” मैने उनके नग्न सीने पर मुक्का मारते हुए कहा. हम दोनो एक दूसरे से लिपट कर सो गये . शाम को तैयार हो कर दीदी से मिलने गये. उनको खाना खिला कर वापस घर आगाए. रात तो बस पूरी जागते हुए गुज़री. इस तरह हम जब तक दीदी घर नहीं आगाई तब तक खूब एक दूसरे को भोगे. दो दिन बाद दीदी के लड़का हुआ. तुम भी उसे देखने आए. और शाम को लौट गये. कॉंप्लिकेशन्स के कारण दीदी को हफ्ते भर रुकना पड़ा और मेरी योनि को आपके भाई साहब ने खूब रगड़ा.

यह कहानी भी पड़े  नई किरायेदार से जंपिंग जपांग

अगले दिन दीदी के बड़े भाई शाब आए थे जो नैनीताल मे रहते हैं. एक दिन रूकने का प्रोग्राम था. हम दोनो बहुत सम्हाल कर वायवहार कर रहे थे जिससे उन्हें कोई खबर नहीं लगे. मगर कहते हैं ना कि इश्क़ और मुश्क़ कभी च्छुपते नहीं हैं. मुझे तो दिन भर वो गहरी नज़रों से घूरते रहे. रात को सब अलग अलग सोए. मगर मुझे करवाने का ऐसा नशा डाला था जेठ जी के बिना नींद ही नहीं आ रही थी. रात बारह बजे तक करवटें बदलती रही. जब और नहीं रहा गया तो उठके बिना कोई आवाज़ किए बगैर अपने कमरे से निकली और जेठ जी के कमरे मे घुस गयी. अंधेरे मे मुझे पता ही नहीं चला की दो निगाहें मुझे घूर रही हैं. घंटे भर तक अपनी योनि की कुटाई करवाने और ढेर सारा वीर्य अपनी योनि मे लेने के बाद अपने कमरे मे आकर सो गयी. एक दो घंटे बाद दरवाजा खुलने और बंद होने की आवाज़ आई. मैने सोचा की जेठ जी फिर गरम हो गये होंगे. “मार ही डालोगे क्या. उतना ही खाना चाहिए जितना पचा सको.” मैने फुसफुसाते हुए कहा.

“हुम्म” उन्हों ने बस इतना ही कहा. “आपके बड़े साले साहब घर पे हैं. अगर पता चल गया तो गजब हो जाएगा.”मैने फिर विनती की. मगर उन्हों ने कोई जवाब नहीं दिया और मेरे बिस्तर पर आगाए. मेरे बदन पर तो वैसे ही कोई कपड़ा नहीं था. मुझसे कसकर लिपट अगये और मेरी छातियो को थाम लिया. तभी मुझे लगा कि वो जेठ जी नहीं कोई दूसरा था. “कोन? कोन है?” मैने उनसे अलग होने की कोशिश की. मगर वो मेरे नंगे बदन को कस कर बाहों मे भर रखे थे. “मैं हूँ.” मुझे पता चल गया कि आने वाला जेठ जी नहीं उनके साले अशोक जी हैं. “आ, आप? आप यहाँ क्या कर रहें हैं?” “वही कर रहा हूँ जो अभी तुम रवि से करवा कर लौटी हो.” उनकी बातें सुनते ही मेरे होश उड़ गये. जब तक मैं सम्हल्ती तब तक तो उनका लिंग मेरी योनि के द्वार पर ठोकर मार रहा था. एक झटके से पूरा लिंग अंदर कर दिया.

यह कहानी भी पड़े  गाओं की चंदा की कामुकता

मैं काफ़ी थॅकी हुई थी. मगर मना भी नहीं कर सकती थी. वरना उन्हों ने सबको बता देने की धमकी देदी थी. बगल के कमरे मे जेठ जी सो रहे थे और इधर मेरी ठुकाई चल रही थी. तरह तरह के पोज़िशन मे मुझे ठोक रहे थे. मेरी चूचियो पर चारों तरफ दाँत के निशान नज़र आ रहे थे. निपल्स सूज कर अंगूर जैसे हो गये थे. सारी रात मुझे जगाए रखा. मैं उनके उपर आ कर उनके लिंग पर उठक – बैठक लगाती रही. सुबह तक मेरी हालत खराब हो गयी थी. फिर भी उठकर दीदी एवं बच्चे के लिए समान तैयार कर जेठ जी को दिया. तबीयत खराब होने का बहाना कर के मैं घर पे रुक गयी. कुच्छ देर आराम करना चाहती थी. मगर किस्मत मे आराम ना हो तो क्या करें. अशोक जी भी तबीयत खराब होने का बहाना कर के रुक गये थे. जेठ जी दोपहर तक वापस आए. इस दौरान असोक जी जी ने खूब मज़ा लिया.

Pages: 1 2 3 4 5

Comments 2

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


दूकान वाली की चुदाई की काहानीयाMuslim ka damdar lund chudaiघर में सामूहिक चुदाई.compati ptni ki sachchi suhaagrat story jisme pyar ho hawas nhiचुसवाते हुए मदहोश होती जा रही थीचुद गई पापा की परीमेरी बहन झड़ने वाली थीमाँ की चुदाई की ठंडी रजाई मेDesi hindi bade doodh waali aunty ko bus me choda hindi kaamuk storyसेक्स स्टोरी भाभी और प्यूनकंट्रोल नहीं कर पाई छोड़ने के लिएगँदि कहानिdidi ko kosa bari me choda 2 hindi sex kahaniSavita Chachi Aur Pados Ki Chudasi Auntiyan- Partमेरी कमला भाभी कि प्यास बझाईयात्रा में माँ बेटे की चुदाई कहानीमैं मेरी सहेली ने मेरी चूत चुदाई गैर मर्द के मोटे लुंड सेdesi gand msrisex2018की भाभी की बस के सफर मे चुकाई की कहानियाjahaaz k ander chudayi.लंबे और मोटे लंड से चुदी आंटीKamleelaपूरी हिन्दी आवाज में सेक्स लडकी की चुदाईmaidm sa pyar stori xxxsax.kahane.dost.mame.kesex stories bhua ki papa ke sathpinku Ko khet me sil Pak cudai kahanihard se hard chute mai land kese ghusae hindi sexy storyआंतों की गांड कैसे मारामैं तेरी माँ हूँ मत कर ऐसा सेक्स स्टोरीSaheb maza aa raha hai sexboor fatne ki xxx kahani comकपल ने थ्रीसम सेक्स का मज़ा लियासमधी से चुदवायाचूत फडवाई बरसात मे हाँस्टलताऊऔर मां कि चुदाई mumm ko train me god me bitha kr sab ke samne choda sex storiesसेक्सी लंड बुर की चुदाईचुचीxxx sex in bhabhi suhagrat rubdi khanniमाँ बेटे की चुदाई कहानियाँ दिखाएनिसा मोसि बूबसmajdor ka land chusa hindi sex storyXXXanti pajaban chut Vedo ताई को पेशाब करते देखा सेक्सी स्टोरीstories masuka ki gaand me pelaरागिनी और उसके बहनो की सेक्सी कि चूत चुदाई बुर फाड कहानियाAntarvasna sadhuain ke choda kahaniचूतबीवी की चुदासमेरे बेटे ने पेटीकोट उठाकर चोदापति के बगल में सोते हुए दूसरा पति एक्स एक्स एक्स वीडियो डॉट कॉमसेक्सी माल की कहानीnajayaz rishta incest maa beta hindi kahaniससुर के साथ दुसरी सुहागरातbete ki ichcha puri ki sex khaniरानी को चोदाशादी में गैर महमान से चुदाईबहन के साथ पार्टी और सेक्सचूत चुदाईhindi ghar me maa didi bua ke dildo se chudai kahanigair matdo chodane ki khaniNew sexi story कमलागुदादवार की मालिशदीपा कि चुदाइबारी बारी सब चोदने लगेभाई से चूदी म बहाना बनाकरकोई देख लेगा सेक्स स्टोरीजलण्ड का कमालMaa ne bete ko bnaya choot ka gulam hindi sexy khaniचुदने का मजाhttps://buyprednisone.ru/fuferi-behen-ki-seal-todi-13/3/अन्तर्वासना कॉमmummy bets hawas kankhbuaa ki chudai ki kahania sexbaba.comwww antarvasnasexstories com incest sasur bahu kamvasna chudai part 7antarvasna दीदी की sopingमै उसे चूमने लगा वो मना करने लगी सेक्स स्टोरीjhathu sex pron vidioचची की पेटीकोट का नाड़ाmasag palar vale kee antrvasnaसिस्टर सेक्स स्टोरी इन ट्रेनGarndmari.behen.ki.hindi.meराज shrma सेक्स .comMay chikhti wo chodta raha hindi kahaniyaमै बहन की बुर मे मुतता हुंमाँ और फूफा जी हिंदी सेक्स स्टोरीनैंसी की चूत मारीdewar ne dildo dekhliya kahanisex story ताई hindibeti ne ma se rat me lund ki farmais ki kahaniघर जाकर किया चुदाईगरमा गरम मराठी सेक्स कथाstory sex बहाना बनाकर maa kebulu filam ka garl ka bur ka photo chahiyअन्तर्वासना सेक्स स्टोरीचुत लडHindi sexi kahaniya bhai bahen ki adla badli jija k sathआंटी की चुदाई