चुदाई का ट्यूशन की कहानी पार्ट – 2

chudai ki tution ki kahani “मुझसे ज़बान लड़ती है. बदतमीज़! जो कहता हूँ चुप चाप करो” अनिल पूरी तरह चिढ़ चुका था. दिव्या भी अनिल की पूरी खिचाई कर चुकी थी. अब उसे भी अनिल का मज़ा लेना था. वो चुप चाप बेड से उतर झुक कर खड़ी हो गयी. अनिल फिर उसकी गांद पर लंड को दबा खड़ा हो गया और कमीज़ केउपर से उसके चुचियों को मसल्ने लगा. जिस चीज़ के लिए अनिल पिछले दो महीनो से तड़प रहा था, वो हाथ में आने के बाद अब अनिल के लिए खुद पर काबू रखना मुश्किल हो रहा था. उसने दिव्या की गांद पर अपने लंड का दबाव और उसकी चुचि पर अपने हाथ का दवाब बढ़ाया. जोश और बढ़ा तो वो दिव्या के कमीज़ के बटन खोलने लगा.

“मा आ गयी तो?” दिव्या ने पूछा

“दरवाज़ा बंद है” अनिल ने अस्वासन देना चाहा

“अगर मा ने पूछा दरवाज़ा क्यूँ बंद है?”

“बोल देना कि हवा पढ़ाई में डिस्टर्ब कर रही थी”

दिव्या के कमीज़ के सारे बटन खुल चुके थे और अनिल के हाथ कमीज़ में घुस कर रसगुल्ले की तरह दिव्या की दोनो चुचियों का रस निचोड़ने लगे. दिव्या के मुँह से सिसकारियाँ निकलने लगी. अनिल का जोश और बढ़ा और उसने दिव्या की गांद पर ज़ोर का झटका दिया. दिव्या फिसल कर बेड पर गिर गयी. अनिल उसके उपर गिरा और उसकी चुचियों को भींचते हुए उसकी गांद पर अपना लंड मसल्ने लगा. वो अपना होश पूरी तरह से खो चुकाथा, उसे कोई परवाह नही थी कि कोई आ जाएगा.

उसे तो ये भी ध्यान नही था कि उसने अभी तक पॅंट पहना हुआ है. वो तो बस दिव्या के दोनो संतरों से रस को निचोड़ते हुए कुत्ते की तरह उसकी कोमल गांद पर अपना लोहे जैसा लंड मसले जा रहा था. जब वो आनंद की शिखर पर पहुँचा तो उसे ध्यान आया कि उसका लंड अभी भी पॅंट के अंदर है. उसने जल्दी से पॅंट की ज़िप को खोल कर लंड बाहर निकालना चाहा, पर बहुत देर हो चुकी थी. विशफोट उसकी पॅंट के अंदर ही हुआ. क्या हुआ जो उसने कपड़े के उपर से गांद पर ही लंड मसला था, जिश्म तो लड़की का था. 80% सेक्स मस्तिष्क में होता है. ये एहसास कि वो किसी लड़की के बदन पर है ही उसके आनंद को बढ़ाने के लिए प्रयाप्त था. उसके लंड से प्रेमरस की जो मात्रा आज बही वो पहले कभी नही बही थी.

यह कहानी भी पड़े  मेरी बिल्डिंग की हसीना

कुच्छ ही देर में उसके अंडरवेर को गीला करती हुई प्रेमरस रिस्ते हुए पॅंट पर आ पहुँचा. उसके लंड के पास एक बड़े क्षेत्र में उसकी पॅंट पर गीलेपन का निशान था और उसके प्रेमरस की खुसबू उसके पॅंट से उड़ते हुए सीधे दिव्या की नाक में जा रही थी. झाड़ जाने के बाद वो होश में आ चुका था, वो दिव्या के उपर से उठ दरवाजे को खोल फिर से अपने कुर्शी पर बैठ चुका था, दिव्या अपनी कमीज़ को ठीक कर सभ्य विद्यार्थी की तरह अपने स्थान पर पूर्ववत विराजमान थी. दिव्या अब भी नशे में थी और अनिल के प्रेमरस की खुसबू उसके नशे को कम नही होने दे रही थी. ये पहली बार था जब उसने ऐसी मदहोश कर देने वाली खुसबू को सूँघा था.

उसके मुँह और चूत दोनो में पानी आ रहा था. जब अनिल के जाने का समय आया तो अनिल बड़ी मुस्किल में था. कहीं दिव्या की मम्मी ने उसकी पॅंट पर उस दाग को देख लिया तो मुसीबत हो जाएगी. वो अपने शर्ट को पॅंट से बाहर निकाल कर उससे धक लेने की बात से भी संतुष्ट नही था. हमेशा उसका शर्ट उसके पंत के अंदर होता है. अगर आज बाहर होगा तो दिव्या की मम्मी को संदेह हो जाएगा. उसने दिव्या से कहा “दिव्या तुम पहले निकलो और देखो तुम्हारी मम्मी नीचे ड्रॉयिंग रूम में तो नही है?” दिव्या ने अनिल को चिढ़ाते हुए काफ़ी माशूमियत से पूचछा “क्यूँ?”. अनिल ने पॅंट की तरफ इशारा करते हुए कहा “इस पोज़िशन में उनके सामने कैसे जाउ?” दिव्या अपनी आँखों में शरारत भरे दबी आवाज़ में हँसने लगी. दिव्या की मा किचन में थी. दिव्या नीचे उतर अनिल को इशारे से नीचे आने को कहा. नीचे उतर अनिल जैसे ही दरवाजे तक पहुँचा पीछे से दिव्या की मा किचन से निकल कर बोली “सर जी, पढ़ाई ख़तम हो गयी?”

यह कहानी भी पड़े  सेक्सी भाभी ने मजे लेकर चुदवाया

अनिल की तो जैसे जान ही निकल गयी. उसने बिना पीछे मुड़े हुए कहा – “जी आंटी जी”

“अब कैसी पढ़ाई कर रही है. कुच्छ सुधार हुआ है या अभी भी उसे मंन नही लगता. मैं तो कभी इसे पढ़ते देखती ही नही हूँ. दिन भर टीवी के सामने बैठी रहती है” जितना अनिल को वहाँ से भागने की जल्दी थी उतनी ही आंटी जी को बात करने का मंन था.

“पहले से तो इंप्रूव हुई है. कुच्छ दिनो में लाइन पर आ जाएगी” अनिल ने बात ख़त्म करने के अंदाज़ में कहा.

Pages: 1 2 3 4

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


yatra me risto me hue chudai ka hindi storyनीदं मे दिदि कि गाड़ मारीचूतचुचिMausi aur maa ki tubewel pr chudai ki Kamuktasexपूछि सेक्स videoseksi khaneeचची ने लुंड देख लियाDidi ko kursi pe chodaमामी की चूचीकोमल मेरी हस्तमैथुन करने की स्टोरीnanhi jaan antarvasnaकावेरी सेक्सी कहानीसेक्सी कहानी लग्न बहनxxx vidos mammi ammrika लड डाला बहन की कची चूत मेचूची ढीली कर डाली सेक्स स्टोरीमौसी की चूतphimsetmyhangबुआ की सील तोडीChachi ko bhuse me choda khet hindi chudai kahaniजवान बेटी राज शर्मा की कहानीपतिके सामने जिजाने किया सेक्स कथाhindisax कहानी buua kibetisexy maa ki mast chudai keval petikot blauj meBur ke chhed me Land Ghusakar maza Marane ki kahaniचाची के भारी नितंब चुदाई कहानीhindi sex storx thakur pariwarभाभी को पटककर जबरदस्ती चोदाई कीOxssip incest story.comट्यूशन के बहाने चुदाई सेक्स स्टोरीकरवा चौथ पर चुदाईपहाड़ चुदाई कहानीnadaan bacchi ki gand sex storiesHindi bhabhi ko pehli baar gadhe ke land se sex storysabita bhabi meri shachi kahani maa ne mama se chudwayabhai ab gand mi pelo land meri chut fat gaiwww xxx veedio handi bhabhi ki chudaiमज़बूरी में अंजन लैंड से चुदाई कहानीनशीली चूतभैया मेरी चुत फट गई कहानी बीबीचुतXXXanti pajaban chut Vedo सेक्सी वीडियो पंजाबी बोलते हुए सेक्स करतेUsha ki bhabi ko ptakr choda storyछोटी बहन के छोटे स्तनबड़े भैया ने छोटी कमसिन बेहेन की प्यास बुझाई कामवासना कहानीफिगर चुतsagi mameri Bhabhi ki chudai rich sas cudai kahaniGrop antrwasnaचूत गाङ चुदाई की कहानियापुच्चीतgand ka dard mitaya uncle neneema ki gand me surendar ka land chudahi sex videoलङ चुतकहानीAntarvasna aunty dekh ke xossipkuarichutमेरा परिवार और तेल मालिश चुदाई की कहानीदेवार ने पुनाम भाभी की चुत मारदो चूत की चुदाई चिल्लाईआम दाब xxxmaptram.dot.comलड़की चूतPorn Babli kaki ghu hindi kahaniकाली चुतHinde.sixey.store.comबहिन की बनयान हिंदी सेक्स कहानीMummy ki saheli ki chudai ki kahaniyachare bhai milne aya sabita bhabhi se story hindiMeri pyaas ek ladke be bhujaiBhavichutबहन, भाई, का, बुर, चुकायी, आडीओdalisexstorieताऊ की चुदाई कहानियाँमुझे लंड की भूखjhatke marne laga , chuchi koहिन्दी गे गाड मरवते विडिओदीदी के सत रुओं में छोड़ाए किये हिंदी सेक्स स्टोरीबगालि सेकसि सुत कि चुदाई विडियेमामी को लण्ड के झटकेराज शर्मा सेक्स स्तोरियेसबहन को जाल में फसकर छोड़ा हिंदी सेक्सी स्टोरीbin mange chut mil gyiantervasna,com foji unti