दोस्त की मम्मी बड़ी निकम्मी

इधर मेरे हाथ भी ज़ोरों पर चल रहे थे और दिल भी फुल स्पीड से धड़क रहा था।
इससे पहले मम्मी इस हमले से संभल पातीं.. भैया इस टक्कर से मम्मी को गिरने से बचने के बहाने मम्मी को अपनी और खींच कर अपनी बांहों में ले लिया और बोले- अरे आंटी.. जरा संभल कर..!
अब मेरी जवानी से भरपूर माँ एक मुस्टण्डे मर्द की बांहों में थीं.. मेरी माँ की मुलायम चूचियां भैया की छाती से मसली जा रही थीं।
तभी मैंने देखा भैया ने अपने एक हाथ को मम्मी की कमर पर रख दिया।
अब तक मम्मी संभल चुकी थीं लेकिन उनकी साँसें तेज हो गई थीं और उन पर चुदास का सुरूर चढ़ रहा था।
एक पल को उन्होंने भैया की तरफ नशीली आँखों से देखा.. मानो कह रही हों.. अब और किस का चीज इंतज़ार है.. ले चलो अपनी कुतिया को उठा कर बैडरूम में.. और चोद-चोद कर मेरी चूत का भोसड़ा बना दो।
तभी मेरी माँ थोड़ी होश में आईं और भैया से दूर हो गईं।
माँ वापिस चाय बनाने में लग गई.. कुछ पल के लिए शांति छा गई थी, मानो आने वाले उस चुदाई के घमासान से पहले का सन्नाटा छाया हो।
तभी माँ ने चायपत्ती लेने के लिए ऊपर की तरफ हाथ बढ़ाया.. मगर वो उनकी पहुँच से थोड़ा बाहर था।
मेरी माँ बहुत गरमा गई थीं और खेल को शायद और आगे लेकर जाना चाहती थीं, वो भैया से बोलीं- बेटा ये चाय पत्ती का डिब्बा उतार दोगे?
भैया तो किसी भूखे शेर की तरह लपके ‘हाँ आंटी जरूर..’
इससे पहले की मम्मी वहाँ से हट पातीं.. कि भैया मम्मी के ठीक पीछे आ गए और वहीं से डब्बे की तरफ हाथ बढ़ाया।
मम्मी ने भैया को अपने पीछे देखा तो समझ गईं कि अब निकलना मुश्किल है.. बल्कि यूं कहें कि शायद वो चाहती भी यही थीं। अब माँ वहीं स्लेब पर आगे की तरफ झुक गईं।
दोस्तो, मैं अपनी ही माँ के बारे में एकदम सच कह रहा हूँ.. क्या कामुक नजारा था। आगे झुकने की वजह से माँ की गांड और बाहर को निकल आई थी। ऐसे जैसे पोर्न मूवी में लड़कियाँ खड़े-खड़े थोड़ा आगे झुक कर, गांड पीछे निकाल कर चुदवाती हैं।
तभी भैया ने अपना खेल खेला.. बोले- पहुँच नहीं पा रहा हूँ।
यह कह कर भैया मम्मी के और करीब आ गए, अब भैया ने अपने लंड को बिल्कुल ठीक नाप कर मम्मी की गांड और चूत वाले हिस्से पर लगा दिया।
भैया का मूसल लंड लगने से मम्मी एकदम से काँप उठीं और उन्होंने स्लैब के किनारे को जोर से पकड़ किया। मम्मी की साँसें जोर जोर से चल रही थीं.. मानो अब उनसे बर्दाश्त नहीं हो पा रहा था।
तभी भैया मम्मी से चिपक गए और अब उन्होंने अपना पूरा लंड मम्मी की चूत वाले हिस्से में दबा दिया। उन दोनों के कपड़े इतनी बारीक़ थे कि शायद लंड और चूत एक-दूसरे को अच्छे से महसूस कर पा रहे होंगे।
मेरी माँ की आँखों में वासना की भूख बढ़ती जा रही थी, उनकी चुदास अब एकदम साफ़ दिख रही थी।
इधर भैया डब्बे तक पहुँचाने का बहाना बनाते हुए मम्मी को वहीं कपड़ों से ऊपर से ही रगड़ते हुए चोद रहे थे।
अब मुझे भैया के लंड का उभार साफ-साफ दिख रहा था.. भैया का लंड एकदम कड़क हो गया था। इधर दोनों में से कोई भी ये खेल रोकना नहीं चाह रहा था।
अब भैया का लंड एकदम टेंट बना चुका था और जैसे ही मम्मी को लंड की सख्ती महसूस हुई.. वो किसी गरम कुतिया की तरह और आगे की तरफ झुक कर अपनी गांड भैया के लंड में घुसाने लगीं।
अब भैया का खड़ा लंड ठीक मम्मी की गांड की दरार में से होकर उनकी चूत वाले हिस्से में घुसा जा रहा था और वहाँ से मम्मी की नाइटी अन्दर को घुसी हुई दिख रही थी।
इधर मम्मी मदहोश हुई जा रही थीं कि तभी भैया ने डब्बा उतार कर मम्मी के आगे रख दिया.. चाय का तो पता ही नहीं क्या हुआ।
जैसे ही डब्बा सामने आया.. मम्मी का होश वापिस आया और वो सीधी हो गईं, लेकिन भैया अभी भी ठीक मम्मी के पीछे चिपके खड़े थे।
मम्मी अब भी भैया के लंड को महसूस कर रही थीं।
तभी भैया ने मम्मी से कहा- और क्या उतारूँ आंटी जी?
यह सवाल सुनते ही मम्मी शर्म से सर झुक लिया।
भैया ने मम्मी की कमर को दोनों तरफ से पकड़ा और मम्मी के कान में बोला- कहो तो ये नाइटी भी उतार दूँ!
और यह कहते हुए भैया धीरे धीरे अपने दोनों हाथ कमर से होते हुए मम्मी की मुलायम चूचियों पर ले आए और उन्होंने बड़े प्यार से मम्मी की चूचियों को सहलाया.. फिर हल्के से माँ की बड़ी-बड़ी घुंडियों को उमेठ दिया.. जिससे मम्मी के मुँह से एक और बड़ी कामुक ‘आह..’ निकल पड़ी।
‘उम्म रोहित..’ कहते हुए मम्मी ने घूमते हुए अपना सर भैया की चौड़ी छाती में रख दिया मानो कह रही हों कि अब ये रंडी तुम्हारी हुई.. बना लो मुझे आज अपनी कुतिया और अपने मूसल से मेरी चूत को चोद चोद कर घायल कर दो।
तभी गली में कोई कुत्ता भौंका और दोनों एकदम से डर गए.. इस अचानक आवाज से मैं भी डर गया। वे दोनों तुरंत होश में आए और अलग हो गए.. मैं भी वहाँ से भाग कर अपने कमरे में आ गया।
तभी दोनों कमरे में आए, मम्मी की शक्ल ऐसी थी मानो किसी कोठे की मशहूर रंडी हों.. उनकी आँखों में वासना भरी हुई साफ़ दिख रही थी।
मेरी नज़र मम्मी के घुंडियों पर गई, एकदम तनी हुईं.. लगभग एक इंच लंबी बाहर की तरफ उठी थीं। ऐसा मैंने अपनी माँ को कभी नहीं देखा था।
भैया मुझसे बोले- सोनू तुम्हें मूवीज चाहिए थी न.. एक काम करो मेरे रूम में जाओ.. लैपटॉप में 50 मूवीज हैं.. सब कॉपी कर लो।
मम्मी वहाँ से दूसरे कमरे में जाने लगीं.. तो मैंने देखा कि माँ के पीछे ठीक गांड वाले हिस्से में बहुत सारा गीलापन है।
अतः मैंने समझ लिया कि ये क्या है.. ये मेरी माँ की चूत से निकला हुआ रस था.. हाँ ये वही है.. आह..
मैं समझ गया कि भैया मुझे वहाँ से भेजना चाहते हैं ताकि माँ खुल कर चुदवा सकें।
भैया ने मुझे आँख मारी और मैं समझ गया कि भैया का कोई प्लान है।
मैं वहाँ से निकल गया, तभी मुझे व्हाट्सएप्प पर भैया का मैसेज आया कि वो मम्मी के साथ अन्दर के कमरे में जाएंगे.. इस मैसेज का मतलब था कि मैं बालकनी से अन्दर आकर सब देख सकता हूँ।
मैं जल्दी से भैया के रूम से लगी बालकनी से अपने घर में कूद गया और फिर चुपचाप अन्दर आ गया। मुझे मेरी माँ की मादक आवाज आ रही थी.. मानो वो कोई गाय की तरह चुदने के लिए रंभा रही हों।
मेरा हाथ खुद अपने लंड पर चला गया।
एक औरत जब कामुक होती है, तो उसकी आवाज में जो कामुकता भरी होती है.. वो मैं साफ-साफ महसूस कर पा रहा था। मैं खुद इतना अधिक कामोत्तेजित था और मुझे ऐसा लग रहा था कि मेरा लंड फट पड़ेगा।
मैंने धीरे से कमरे के अन्दर झाँका, भैया ने माँ को दीवार के सहारे खड़ा कर दिया था और खुद उनके ऊपर छा गए थे। भैया मेरी माँ के पंखुड़ी जैसे होंठों को बेतहाशा चूस रहे थे।
मेरी माँ ने भी भैया का सर पकड़ रखा था। माँ की बेकरारी यूं दिख रही थी मानो आज वो किसी भूखी शेरनी की तरह हों। तभी भैया ने मम्मी की नाइटी नीचे से उठानी शुरू की.. मेरी साँसें अब भारी होने लगी थीं।
नाइटी मम्मी की जाँघों तक उठ चुकी थी.. मेरी माँ की एकदम दूध सी गोरी गदरायी सुडौल टांगें थीं। तभी नाइटी मम्मी के शरीर से अलग हो गई।
आआअह्ह.. मेरी माँ एक कामदेवी लग रही थीं.. उनका दूध सा गोरा बदन.. बड़ी सी एक रस भरी गांड.. फिर एक सुराही सी कमर.. जिस पर एक काला धागा नज़र और फिर मेरी माँ के तने हुए दूध, आआआह्ह.. एकदम लंड झड़ा देने वाला नजारा था।
अब उन दोनों के शरीर से कपड़े उतर चुके थे और दोनों ही एक-दूसरे को चूम रहे थे.. कभी काट रहे थे। इस वक़्त कमरे में लग रहा था कि मानो कामदेव और रति का प्रहार हुआ हो।
तभी भैया ने मम्मी को नीचे होने को कहा और माँ मेरी नीचे बैठ का भैया का लंड अपने मुँह में लेकर जोर-जोर से चूसने लगीं। मम्मी के लाल लिपस्टिक वाले होंठ भैया के लंड के ऊपर-नीचे हो रहे थे।
इस वक़्त मम्मी की पीठ मेरी तरफ थी, मम्मी अपनी पंजे पर बैठ कर भैया का लंड चूस रही थीं.. जिससे उनकी गांड पीछे एकदम खुली हुई थी, उनका वो भूरा गांड का फूल सिकुड़ रहा था.. कभी खुल रहा था।
मेरा मन कर रहा था जाकर उसे चूस लूँ।
ठीक उसके नीचे, भूरे रंग की चूत की दो फांकें एकदम खुली नज़र आ रही थीं और उनके बीच सुर्ख लाल चूत, जो अपने कामरस से चमक रही थी।
भैया ने अब मम्मी को अपनी गोद में उठाया और बिस्तर पर पलट दिया और खुद उनके ऊपर आ गए। अब वो पल आ चुका था.. जब मेरी अपनी माँ अपने घर सेज पर किसी और की रंडी बनने जा रही थीं।
भैया ने अपना लंड मम्मी की भट्टी जैसी गर्म चूत पर रख कर आगे पीछे रगड़ा तो मम्मी तड़प उठीं- उम्म्ह… अहह… हय… याह… रोहित.. डाल दो.. अअअ आह्ह..
मम्मी का कहना था कि तभी भैया ने एक ही झटके में अपना मूसल लंड मम्मी की चूत की गहराइयों में उतार दिया। इस एकदम से हुए प्रहार से मम्मी की चीख निकल गई ‘ओह्ह्ह्ह्ह माँ मर गई..!’
लेकिन फिर यह चीख कामुक आवाज में तब्दील हो गई ‘आआह्ह.. रोहिततत.. उम्म.. आह्ह्ह..’

यह कहानी भी पड़े  दीदी को चोदने का मूड बन गया

Pages: 1 2 3 4

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


मम्मी पापा सेक्स स्टोरीसफर में चुदा़यीलडकी के तिते मे लडके ने लङ डालाWww.sexbaba.com/Samuhikma ko pairdaba ke choda kahani rich sas cudai kahaniचुदयि।हिनदी।विडीयोMalboos kiss sex videoBu lon con dauपापा आंटी की चुदाईघरवाली की सहेली की चुदाईmom aafriki lund se chudiदीदी की गौरी मोटी गांड मेरा मोटा लण्ड खड़ा हो गयाantarvasna taiदोग्गी सेक्सक्स videoचुदाई लड़की काघर जाकर किया चुदाईwww.indianreal kamak porn story badi didi ke chuddi hindi maकरवा चौथ पे usha chachi chudai ki khanigao me huee pariwarik gand aur chut chudai khaniya.comkhushnuma ki chut or gand hindi sex kahaniLUN CHUIT MILAN KASA KARAहिनदी चिकना बदन1Moapsi ki chudae xxx porn vsage risto me chudai antarvasna sex storyXxnxxx BHEJUR 2014cudai kahaniya kamini exbiimaa site:buyprednisone.ruantarvasanasexstore.comबेटे ने गान्ड मालिश की लड डाला बहन की कची चूत मेचुदासे लंडantarvasna new hindi sex storischudai इजाजत दी पति नेbhaiya ko jhalak dikhai incestचुदाई की कहानि जवान लडकी व रिश्तोंमेchoot me मक्खन डालनागानाबुरRitika sex but and chut ki kahaniकेवल तेल शे चुत ओर लँड की मलिश चुदाइ Hindi sex storisबहन की अंग प्रदर्शन की कहानियाँअमी को ईद पर चोदाप्यारी बहू अंजू मस्ती की कहानीboss ne aunty ko daboch liya sex stories सासु माँ कि चुदाई और सन्तुष्ट कियाप्यारी बहू अंजू मस्ती की कहानीगर्लफ्रेन्ड से चुदाईबहन चॅदट्रेन मे माँ की चुदाईअन्तर्वासनापत्नी को चुदते देखा सेक्सXxx story ground ma ladki ki todi seal Hindi mapadosi ladki antervasna rajayiकरवा चौथ पर चुदाईशादी मे बहु के बुर झाट देखा कर की चोदई की कहनीभाभि देवर सेकस विडीवोपहाड़ चुदाई कहानीराज शर्मा सेक्स स्तोरियेसchut ko land se chudaiधोखा चुदाईRajsarma sex stori hindiमाँ की गाङ मारीहिंदी रंगीन परिवार चुदाई कहानीचोदी चोदा फोटोअन्तर्वासना सेक्सी सफर कहनिया ट्रैन मईबबली भाबी कि मजेदार चुदाई लिखि हुईहिंदी रंगीन परिवार चुदाई कहानीलंड बच्चेदानी से टकरायाhandi dipli pa chodi story xxx...हिंदी चुदाई स्टोरी आउचSabke sone ke bad aanty ne chut Di Hindi sex storyBenkar gandh cudai sex xxxXXNXX COM. मेरी चूत कि चमड़ी चाटने लगा सेक्सी विडियों चुदासे लंडदो बांस और भाई hindi sexचुदाईkhidki ke samne peshab kar raha tha.hindi sex storyमूतती बुर बहन कीChuchi ko rang se hara kar diaलुधियानाकी देशी चूत बिडियोmaderchod beta Hindi sex storyhard se hard chute mai land kese ghusae hindi sexy storymere sasur ne puri raat lund chusachusa k chudai kimeri kamuk mummy or bua jiHindi sex rajsarma maa beta comnokrani ki tino betiyon ki chudaiBur ke chhed me Land Ghusakar maza Marane ki kahaniमामी सुहागरातचुतदोस्त की माँ को चोदासेक्स स्टोरी हिंदी सविता भाभी bramama bhanji ke pyare anterwaanaमाँ कीचुदाई देखी की कहाणी अंतरवासनाचुची चुसाती चूत चुसाती वीडिओ पोर्नMare seal pack chut s khun nekla sexy storie in hindiSaheb maza aa raha hai sexमोसी कीगांडअदला बदली सेक्स कहानियाँbegani shadi mai bhen ki chut or gand fadi hindi story