चाचीजान के बदन की गरमी

मेरा नाम इम्तियाज़ है। बात उन दिनों की है जब मेरी उम्र 19 साल की थी और मैं इंजीनियरिंग के पहले साल में बंगलौर में पढ़ रहा था। मैं बनारस का रहने वाला हूँ। मेरे एक्जाम समाप्त हो गए थे तो कुछ दिनों की छुट्टियों में घर आया था। हमारा संयुक्त परिवार है, मेरे परिवार के अलावा मेरे चाचा एवं चाची भी साथ में ही रहते थे। मेरे चाचा पेशे से सैनेटरी वेयर के थोक विक्रेता थे, उन्होंने काफी पैसा कमा रखा था। उनकी शादी को कई साल हो गए थे लेकिन अभी तक कोई संतान नहीं थी। चाची की उम्र 29 साल की थी, वो पास के ही एक गाँव की हैं ! थी तो देहाती पर मस्त चीज थी, उनकी जवानी पूरे शवाब पर थी, झक्क गोरा बदन और कंटीले नैन नक्श और गदराये बदन की मालकिन थी, चाचा चाची ऊपर की मंजिल में रहते थे।

जब चाचा दुकान और मेरे अब्बू अपने दफ्तर चले जाते थे तो मैं और चाची दिन भर ऊपर बैठ कर गप्पें हांका करते थे। चाची का नाम आरज़ू है। सच कहूँ तो वो मुझे अपना दोस्त मानती थी। वो मेरे सामने बड़े ही सहज भाव से रहती थी, अपने कपड़े भी मेरे सामने ठीक से नहीं पहनती थी, उनके वक्ष की आधी दरार हमेशा दिखती रहती थी, कभी कभी तो सेक्स की बात भी कर लेती थी। जब भी मुझे अकेली पाती थी तो हमेशा द्वीअर्थी बात बोलती थी, जैसे बछड़ा भी दूध देता है, तेरा डंडा कितना बड़ा है? तुझे स्पेशल दवा की जरुरत है, आदि !

दिन भर मेरे कालेज और बंगलौर के किस्से सुनती रहती थी।

जब मेरे बंगलौर जाने के कुछ शेष रह गए तो एक दिन चाची ने कहा- हम भी बंगलौर घूमने जाना चाहते हैं।

मैंने कहा- हाँ क्यों नहीं ! आप दोनों मेरे साथ ही इस शनिवार को चलिए, मैं आप दोनों को पूरी सैर करवा दूँगा।

यह कहानी भी पड़े  मेरी सहेली की मम्मी की चुत चुदाइयों की दास्तान-1

चाची ने अपनी इच्छा चाचा को बताई तो चाचा तुरंत मान गए। मैंने उसी समय इन्टरनेट से तीन टिकट एसी फर्स्ट क्लास में बुक करवा लिए। शनिवार को हमारी ट्रेन थी, शनिवार को सुबह हम तीनों ट्रेन से बंगलौर के लिए रवाना हुए। अगले दिन शाम सात बजे हम सभी बंगलौर पहुँच गए। मैंने उनको एक बढ़िया होटल में कमरा दिला दिया। उसके बाद मैं वापस अपने होस्टल आ गया। होस्टल आने पर पता चला कि कालेज के गैर शिक्षण कर्मचारी अपनी वेतनवृद्धि की मांग को लेकर अनिश्चित कालीन हड़ताल पर जा रहे हैं और इस दौरान कालेज बंद रहेगा। मेरे अधिकाँश मित्रों को यह बात पता चल गई थी इसलिए सिर्फ 25-30 प्रतिशत छात्र ही कालेज आये थे।

मैं अगले दिन करीब 11 बजे अपने चाचा के कमरे पर गया, वहाँ वे दोनों नाश्ता कर रहे थे। चाची ने मेरे लिए भी नाश्ता लगा दिया। मैंने देखा कि चाचा कुछ परेशान हैं।

पूछने पर पता चला कि जिस कम्पनी का उन्होंने फ्रेंचाइजी ले रखा है उस कम्पनी ने दुबई में जबरदस्त सेल ऑफ़र किया है, अब चाचा की परेशानी यह थी कि अगर वो वापस चाची को बनारस छोड़ने जाते और वहाँ से दुबई जाते तो तब तक सेल समाप्त हो जाती और अगर साथ में लेकर दुबई जा नहीं सकते थे क्योंकि चाची का कोई पासपोर्ट वीजा था ही नहीं।

मैंने कहा- अगर आप दुबई जाना चाहते हैं तो आप चले जाएँ क्योंकि मेरा कालेज अभी एक सप्ताह बंद रह सकता है। मैं चाची को या तो बनारस पहुँचा दूँगा या फिर आपके वापस आने तक यहीं रहेगी। आप दुबई से यहाँ आ जाना और फिर घूम फिर कर चाची के साथ वापस बनारस चले जाना।

चाचा को मेरा सुझाव पसंद आया।

चाची ने भी कहा- हाँ जी, आप बेफिक्र हो कर जाइए और वापस यहीं आइयेगा। तब तक इम्तियाज़ मुझे बंगलौर घुमा देगा। आपके साथ मैं दोबारा घूम कर वापस आपके साथ ही बनारस जाऊँगी।

यह कहानी भी पड़े  क्लास की हॉट लड़की की चुदाई

चाचा को चाची का यह सुझाव भी पसंद आया।

लैपटॉप पर इन्टरनेट खोल कर देखा तो उसी दिन के दो बजे की फ्लाईट में सीट खाली थी। चाचा ने तुरंत सीट बुक की और हम तीनों एयरपोर्ट के लिए निकल पड़े। दो बजे चाचा की फ्लाईट ने दुबई की राह पकड़ी और मैंने एवं चाची ने बंगलौर बाज़ार की।

चाची के साथ लंच किया, घूमते घूमते हम मल्टीप्लेक्स आ गए। शाम के सात बज गए थे, चाची ने कहा- काफी महीनों से मल्टीप्लेक्स में सिनेमा नहीं देखा, आज देखूँगी।

मैंने देखा कि कोई नई पिक्चर आई थी, इसलिए सारी टिकट बिक चुकी थी। उसके किसी हाल में कोई एडल्ट टाइप की इंग्लिश पिक्चर की हिंदी वर्सन लगी हुई है, फिल्म चार सप्ताह से चल रही थी इसलिए अब उसमें कोई भीड़ नहीं थी।

मैंने दो टिकट सबसे कोने के लिए और हम हाल के अन्दर चले गए। मुझे सबसे ऊपर की कतार वाली सीट दी गई थी और उस पूरी कतार में दूसरा कोई भी नहीं था। हमारी कतार के पीछे सिर्फ दीवार थी, मैंने जानबूझ कर ऐसी सीट मांगी थी। मेरा आगे वाले तीन कतार के बाद कोने पर एक लड़का और लड़की अकेले थे, उस कतार में भी उसके अलावा कोई नहीं था। उससे अगली कतार में दूसरे कोने पर एक और जोड़ा था, इस तरह से उस समय 300 दर्शकों की क्षमता वाले हाल में सिर्फ 20-22 दर्शक रहे होंगे। पता नहीं इतने कम दर्शकों के लिए फिल्म क्यों लगा रखी थी।

Pages: 1 2 3 4 5 6

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


माँ ने बेटी चुदाईसहेली ने पति से चुदवायाबहन को ट्रेन में चोदाchare bhai milne aya sabita bhabhi se story hindibhabhi अपनी करवट बदल ली कि अबटेरेन मे लनड चुसाने की बीडीओkirayedar aunty sex story in hindibahan ko modern banayaकेवल तेल शे चुत ओर लँड की मलिश चुदाइ Hindi sex storisbahanchod bhai bahan ki chut maregaanterwsna sasगर्लफ्रेंड को चोदा कहानीबीवी ने दिलाई बहु की बुर की चोदई की कहनीचाची की चुदाई कामुकता कॉमbegani shadi mai bhen ki chut or gand fadi hindi storyमहिला lisban xnxxstorySuman ki chudi xxx hindi khaniगाँव में नंगी औरतों को नंगा देखा नदी के किनारे सेक्स storiesxxx sex story adla badli with sanskari in partsdevar bhabhi sex hindi bolchal me videoराजस्थान की चुदाईbua ki chuxaiAntarvasna xxx didi Barsatमेरे सामने नंगी खड़ी थीमामी चुदाई सेक्सी साड़ी कहानियाँseksi khaneeकुँवारी चूत बुरी तरहरेलगाड़ी में दो टीटी ने चोदाporn story of sunsan me bhigi chudaimaa aur mausi xxx storyचुतद करनाहोंटो पर लन्डसपना का बदला 2 sxsi khaniyaअम्मी खूब लंड चूसती हैंबीवी बनी छिनाल सेक्स स्टोरीantarvasna tai giftआप की चुदाईnanihal me mummy ke gangbang sex storyसेक्सी कहानी लग्न बहननर्स सेक्स कहानियाँkhamu kata dot com bhai bhan ki khani handi masamuhik afarin sex hindi storyमममी बोली की चुत ने मत झडनाचुतbus me anjaan se chudayishohar k saamne gundo ne chodaXnxx pim han quocbhabine chudai sikhai hindiindansexbhaipishtola dekhai cbudaiआनलाईन विडीयो सेक्सGermard ki bahome sex story Hindi baap beti sex storyपेलो ना मुझे लण्ड सेलंडकी प्यासी आंटी सेस्क स्टोरीkamuk lambi kahaniKomal na apana bahi sa cudvaya xxx kahaniविडो माँ सेक्स कहानी हिंदीboor fatne ki xxx kahani comantar vasana 2018bua ki chuxaiचोरी छुपे चुदाई देखीantarasana storiesantarvasna केवल माँ और हिंदी में samdhi सेक्स कहानियाँme.aur.mere.mose.chachi.rajsharma.sex.storदेवर भाभी की सेक्सी बाते हिंदी में लिखी हुई मजेदार सेक्सीहिंदी सेक्स स्टोरीज भाभी की पेंटी शॉपिंग incestमैंने मज़बूरी में गैर मर्द का लंड चूसGaw ke dehati kam umra wale schooli ladki ke garma garam chodai ke kahanichora v chori ki chumne ki khaniseel kaise todi jati hai likha huwa bataieमेरी बीवी ने हम दोनों के लंडSexy modern skirt mausi sexy kahani hindiकरवा चौथ में चुदाई इन्सेस्टhttps://buyprednisone.ru/jo-dard-hona-tha-ho-gaya-2/2/नदी के किनारे नोकर और ड्राईवर ने चोदा part 2चुदाई की कहानियांsaj dhaj kar sexstoriesबीबी के बदले दीदी की अंधेरे में चुदाई कर लेने की कहानीमेरी जिद्द दीदी की चूत सेक्स स्टोरीNukrani ki choot fadiचूत लंड का वीडियो चलाएंsexichutmuslimxxx bur me laddalke chudns hinde dashiबीवी ने दीदी के साथ कराया हिंदी रंगीन परिवार चुदाई कहानी