चाचीजान के बदन की गरमी

मेरा नाम इम्तियाज़ है। बात उन दिनों की है जब मेरी उम्र 19 साल की थी और मैं इंजीनियरिंग के पहले साल में बंगलौर में पढ़ रहा था। मैं बनारस का रहने वाला हूँ। मेरे एक्जाम समाप्त हो गए थे तो कुछ दिनों की छुट्टियों में घर आया था। हमारा संयुक्त परिवार है, मेरे परिवार के अलावा मेरे चाचा एवं चाची भी साथ में ही रहते थे। मेरे चाचा पेशे से सैनेटरी वेयर के थोक विक्रेता थे, उन्होंने काफी पैसा कमा रखा था। उनकी शादी को कई साल हो गए थे लेकिन अभी तक कोई संतान नहीं थी। चाची की उम्र 29 साल की थी, वो पास के ही एक गाँव की हैं ! थी तो देहाती पर मस्त चीज थी, उनकी जवानी पूरे शवाब पर थी, झक्क गोरा बदन और कंटीले नैन नक्श और गदराये बदन की मालकिन थी, चाचा चाची ऊपर की मंजिल में रहते थे।

जब चाचा दुकान और मेरे अब्बू अपने दफ्तर चले जाते थे तो मैं और चाची दिन भर ऊपर बैठ कर गप्पें हांका करते थे। चाची का नाम आरज़ू है। सच कहूँ तो वो मुझे अपना दोस्त मानती थी। वो मेरे सामने बड़े ही सहज भाव से रहती थी, अपने कपड़े भी मेरे सामने ठीक से नहीं पहनती थी, उनके वक्ष की आधी दरार हमेशा दिखती रहती थी, कभी कभी तो सेक्स की बात भी कर लेती थी। जब भी मुझे अकेली पाती थी तो हमेशा द्वीअर्थी बात बोलती थी, जैसे बछड़ा भी दूध देता है, तेरा डंडा कितना बड़ा है? तुझे स्पेशल दवा की जरुरत है, आदि !

दिन भर मेरे कालेज और बंगलौर के किस्से सुनती रहती थी।

जब मेरे बंगलौर जाने के कुछ शेष रह गए तो एक दिन चाची ने कहा- हम भी बंगलौर घूमने जाना चाहते हैं।

मैंने कहा- हाँ क्यों नहीं ! आप दोनों मेरे साथ ही इस शनिवार को चलिए, मैं आप दोनों को पूरी सैर करवा दूँगा।

यह कहानी भी पड़े  सपनों की मल्लिका

चाची ने अपनी इच्छा चाचा को बताई तो चाचा तुरंत मान गए। मैंने उसी समय इन्टरनेट से तीन टिकट एसी फर्स्ट क्लास में बुक करवा लिए। शनिवार को हमारी ट्रेन थी, शनिवार को सुबह हम तीनों ट्रेन से बंगलौर के लिए रवाना हुए। अगले दिन शाम सात बजे हम सभी बंगलौर पहुँच गए। मैंने उनको एक बढ़िया होटल में कमरा दिला दिया। उसके बाद मैं वापस अपने होस्टल आ गया। होस्टल आने पर पता चला कि कालेज के गैर शिक्षण कर्मचारी अपनी वेतनवृद्धि की मांग को लेकर अनिश्चित कालीन हड़ताल पर जा रहे हैं और इस दौरान कालेज बंद रहेगा। मेरे अधिकाँश मित्रों को यह बात पता चल गई थी इसलिए सिर्फ 25-30 प्रतिशत छात्र ही कालेज आये थे।

मैं अगले दिन करीब 11 बजे अपने चाचा के कमरे पर गया, वहाँ वे दोनों नाश्ता कर रहे थे। चाची ने मेरे लिए भी नाश्ता लगा दिया। मैंने देखा कि चाचा कुछ परेशान हैं।

पूछने पर पता चला कि जिस कम्पनी का उन्होंने फ्रेंचाइजी ले रखा है उस कम्पनी ने दुबई में जबरदस्त सेल ऑफ़र किया है, अब चाचा की परेशानी यह थी कि अगर वो वापस चाची को बनारस छोड़ने जाते और वहाँ से दुबई जाते तो तब तक सेल समाप्त हो जाती और अगर साथ में लेकर दुबई जा नहीं सकते थे क्योंकि चाची का कोई पासपोर्ट वीजा था ही नहीं।

मैंने कहा- अगर आप दुबई जाना चाहते हैं तो आप चले जाएँ क्योंकि मेरा कालेज अभी एक सप्ताह बंद रह सकता है। मैं चाची को या तो बनारस पहुँचा दूँगा या फिर आपके वापस आने तक यहीं रहेगी। आप दुबई से यहाँ आ जाना और फिर घूम फिर कर चाची के साथ वापस बनारस चले जाना।

चाचा को मेरा सुझाव पसंद आया।

चाची ने भी कहा- हाँ जी, आप बेफिक्र हो कर जाइए और वापस यहीं आइयेगा। तब तक इम्तियाज़ मुझे बंगलौर घुमा देगा। आपके साथ मैं दोबारा घूम कर वापस आपके साथ ही बनारस जाऊँगी।

यह कहानी भी पड़े  The Twins – Part 1

चाचा को चाची का यह सुझाव भी पसंद आया।

लैपटॉप पर इन्टरनेट खोल कर देखा तो उसी दिन के दो बजे की फ्लाईट में सीट खाली थी। चाचा ने तुरंत सीट बुक की और हम तीनों एयरपोर्ट के लिए निकल पड़े। दो बजे चाचा की फ्लाईट ने दुबई की राह पकड़ी और मैंने एवं चाची ने बंगलौर बाज़ार की।

चाची के साथ लंच किया, घूमते घूमते हम मल्टीप्लेक्स आ गए। शाम के सात बज गए थे, चाची ने कहा- काफी महीनों से मल्टीप्लेक्स में सिनेमा नहीं देखा, आज देखूँगी।

मैंने देखा कि कोई नई पिक्चर आई थी, इसलिए सारी टिकट बिक चुकी थी। उसके किसी हाल में कोई एडल्ट टाइप की इंग्लिश पिक्चर की हिंदी वर्सन लगी हुई है, फिल्म चार सप्ताह से चल रही थी इसलिए अब उसमें कोई भीड़ नहीं थी।

मैंने दो टिकट सबसे कोने के लिए और हम हाल के अन्दर चले गए। मुझे सबसे ऊपर की कतार वाली सीट दी गई थी और उस पूरी कतार में दूसरा कोई भी नहीं था। हमारी कतार के पीछे सिर्फ दीवार थी, मैंने जानबूझ कर ऐसी सीट मांगी थी। मेरा आगे वाले तीन कतार के बाद कोने पर एक लड़का और लड़की अकेले थे, उस कतार में भी उसके अलावा कोई नहीं था। उससे अगली कतार में दूसरे कोने पर एक और जोड़ा था, इस तरह से उस समय 300 दर्शकों की क्षमता वाले हाल में सिर्फ 20-22 दर्शक रहे होंगे। पता नहीं इतने कम दर्शकों के लिए फिल्म क्यों लगा रखी थी।

Pages: 1 2 3 4 5 6

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


हहह उम्म्ह सेक्स स्टोरीbus me mili aunty ki chudai storygirl ko buk karkay xxx storysलण्ड का कमालantarvasna taiजाति लडकी कि खेत मे चुदाईnate bakt bhena ke codae story hinde meरात भर मेरी चूत जो चोदा बेदर्दी नेpinku Ko khet me sil Pak cudai kahanijawanladkichootखामैस चुदाई की कहानीयामुझे टांग उठा कर चुदना हैbur chudwane ke liye laundasalma ne xhudwaya storyआह मादरचो मज़ा आ रहा हे कहानीxxx sex story adla badli with sanskari in partsअधेरे मे चुत मे उगली सामूहिक merivasnadildo ko chut me liya aagरीतु चुदाई दीदी शरदीकाकी की गुलाबी पैंटी कहानीdildo sai gand chudai sax storyमाँ को घोड़े पर बिठा कर चोदासेक्स स्टोरी हिंदी सविता भाभी braबहन.चौद.डौट.कौमmere land par chot lag gai maa ne malish kiसफर मे चूदाई फिल्मेचुदाई रोल प्ले स्टोरीAntervasna ghar m bhaga bhaga kRas bhari gudaj gaandमामी ने भांजे से चुदवाया सेक्स कहनिया चुदाई सफर मेंभूसे के कमरे में चुदाईरिता कि चुदाईMaa aur beti ki Luka chuppi chudai xxx video hdदीदी को बेहोश कर चुची चुसाईPayal birthday sexy story mammi ko hum sabane milke chodaमैं मेरी सहेली ने मेरी चूत चुदाई गैर मर्द के मोटे लुंड सेघोड़ी बनकर गांड मरवाईLandkibukh.चूत चोदने का मजाअन्तर्वासना सेक्सी सफर कहनिया ट्रैन मईअन्तर्वासना खेत मेंhalala chudai kahaniyaAndhera khade 2 lund liya chupchap incestxxxvideostorihindiसेक्सी माल की कहानीSex satory mom 2018hindiब्रा पेंटी सेल्समैन से चुद गई पोर्न कहानियांबुआ कि चूतमां ने कहा पेलो खूब चोदो राजा सेक्स स्टोरीसेक्स स्टोरी भाभी और प्यूनma ki penti फाडदीMain meri maa aur karim hindi sex storyvidhwa ko rula diya sex stories चूत में दो लंड डालते हैंbidhwa bhabhi ki malis aur bedroom me chodai xxxvideosartofzoo porn pilij.comबाई.की.चुदाईहिंदी चुदाई स्टोरी आउचराज शर्मा हिंदी सेक्सी स्टोरी इन्सेस्टहिन्दी गे गाड मरवते विडिओसाहब आप बहुत पाजी हैं पर्दे खींच दोसिगरेट पोर्न कथाlambe balo wali doli ko choda sex storyमौसि के chakkar me maa ko chod diya sex ki sachi kahaniya.in मजेदार तूफानी चुदाई कहानी हिन्दीsamdhi ne samdhan ko choda Hindi sex storiesपहाड़ चुदाई कहानीHindi sexi kahaniya bhai bahen ki adla badli jija k sathbeti ne ma se rat me lund ki farmais ki kahaniĐịt nhau trong bếpपापा आंटी की चुदाईporn story of sunsan me bhigi chudaisavitaki sex aapviti kahanixxx sex story adla badli with sanskari in partsकविता कि सेक्स कहानियाLatest mosi bhua ki sath kamukata par hindi sexey kahaniya 2019 kichocolate khilake maa ko choda xxx story Hindiवीवी की चुदाई गेर के साथmaa aur uncle ki shuagraat chudai story