चाचीजान के बदन की गरमी

मेरा नाम इम्तियाज़ है। बात उन दिनों की है जब मेरी उम्र 19 साल की थी और मैं इंजीनियरिंग के पहले साल में बंगलौर में पढ़ रहा था। मैं बनारस का रहने वाला हूँ। मेरे एक्जाम समाप्त हो गए थे तो कुछ दिनों की छुट्टियों में घर आया था। हमारा संयुक्त परिवार है, मेरे परिवार के अलावा मेरे चाचा एवं चाची भी साथ में ही रहते थे। मेरे चाचा पेशे से सैनेटरी वेयर के थोक विक्रेता थे, उन्होंने काफी पैसा कमा रखा था। उनकी शादी को कई साल हो गए थे लेकिन अभी तक कोई संतान नहीं थी। चाची की उम्र 29 साल की थी, वो पास के ही एक गाँव की हैं ! थी तो देहाती पर मस्त चीज थी, उनकी जवानी पूरे शवाब पर थी, झक्क गोरा बदन और कंटीले नैन नक्श और गदराये बदन की मालकिन थी, चाचा चाची ऊपर की मंजिल में रहते थे।

जब चाचा दुकान और मेरे अब्बू अपने दफ्तर चले जाते थे तो मैं और चाची दिन भर ऊपर बैठ कर गप्पें हांका करते थे। चाची का नाम आरज़ू है। सच कहूँ तो वो मुझे अपना दोस्त मानती थी। वो मेरे सामने बड़े ही सहज भाव से रहती थी, अपने कपड़े भी मेरे सामने ठीक से नहीं पहनती थी, उनके वक्ष की आधी दरार हमेशा दिखती रहती थी, कभी कभी तो सेक्स की बात भी कर लेती थी। जब भी मुझे अकेली पाती थी तो हमेशा द्वीअर्थी बात बोलती थी, जैसे बछड़ा भी दूध देता है, तेरा डंडा कितना बड़ा है? तुझे स्पेशल दवा की जरुरत है, आदि !

दिन भर मेरे कालेज और बंगलौर के किस्से सुनती रहती थी।

जब मेरे बंगलौर जाने के कुछ शेष रह गए तो एक दिन चाची ने कहा- हम भी बंगलौर घूमने जाना चाहते हैं।

मैंने कहा- हाँ क्यों नहीं ! आप दोनों मेरे साथ ही इस शनिवार को चलिए, मैं आप दोनों को पूरी सैर करवा दूँगा।

यह कहानी भी पड़े  सपनों की मल्लिका

चाची ने अपनी इच्छा चाचा को बताई तो चाचा तुरंत मान गए। मैंने उसी समय इन्टरनेट से तीन टिकट एसी फर्स्ट क्लास में बुक करवा लिए। शनिवार को हमारी ट्रेन थी, शनिवार को सुबह हम तीनों ट्रेन से बंगलौर के लिए रवाना हुए। अगले दिन शाम सात बजे हम सभी बंगलौर पहुँच गए। मैंने उनको एक बढ़िया होटल में कमरा दिला दिया। उसके बाद मैं वापस अपने होस्टल आ गया। होस्टल आने पर पता चला कि कालेज के गैर शिक्षण कर्मचारी अपनी वेतनवृद्धि की मांग को लेकर अनिश्चित कालीन हड़ताल पर जा रहे हैं और इस दौरान कालेज बंद रहेगा। मेरे अधिकाँश मित्रों को यह बात पता चल गई थी इसलिए सिर्फ 25-30 प्रतिशत छात्र ही कालेज आये थे।

मैं अगले दिन करीब 11 बजे अपने चाचा के कमरे पर गया, वहाँ वे दोनों नाश्ता कर रहे थे। चाची ने मेरे लिए भी नाश्ता लगा दिया। मैंने देखा कि चाचा कुछ परेशान हैं।

पूछने पर पता चला कि जिस कम्पनी का उन्होंने फ्रेंचाइजी ले रखा है उस कम्पनी ने दुबई में जबरदस्त सेल ऑफ़र किया है, अब चाचा की परेशानी यह थी कि अगर वो वापस चाची को बनारस छोड़ने जाते और वहाँ से दुबई जाते तो तब तक सेल समाप्त हो जाती और अगर साथ में लेकर दुबई जा नहीं सकते थे क्योंकि चाची का कोई पासपोर्ट वीजा था ही नहीं।

मैंने कहा- अगर आप दुबई जाना चाहते हैं तो आप चले जाएँ क्योंकि मेरा कालेज अभी एक सप्ताह बंद रह सकता है। मैं चाची को या तो बनारस पहुँचा दूँगा या फिर आपके वापस आने तक यहीं रहेगी। आप दुबई से यहाँ आ जाना और फिर घूम फिर कर चाची के साथ वापस बनारस चले जाना।

चाचा को मेरा सुझाव पसंद आया।

चाची ने भी कहा- हाँ जी, आप बेफिक्र हो कर जाइए और वापस यहीं आइयेगा। तब तक इम्तियाज़ मुझे बंगलौर घुमा देगा। आपके साथ मैं दोबारा घूम कर वापस आपके साथ ही बनारस जाऊँगी।

यह कहानी भी पड़े  The Twins – Part 1

चाचा को चाची का यह सुझाव भी पसंद आया।

लैपटॉप पर इन्टरनेट खोल कर देखा तो उसी दिन के दो बजे की फ्लाईट में सीट खाली थी। चाचा ने तुरंत सीट बुक की और हम तीनों एयरपोर्ट के लिए निकल पड़े। दो बजे चाचा की फ्लाईट ने दुबई की राह पकड़ी और मैंने एवं चाची ने बंगलौर बाज़ार की।

चाची के साथ लंच किया, घूमते घूमते हम मल्टीप्लेक्स आ गए। शाम के सात बज गए थे, चाची ने कहा- काफी महीनों से मल्टीप्लेक्स में सिनेमा नहीं देखा, आज देखूँगी।

मैंने देखा कि कोई नई पिक्चर आई थी, इसलिए सारी टिकट बिक चुकी थी। उसके किसी हाल में कोई एडल्ट टाइप की इंग्लिश पिक्चर की हिंदी वर्सन लगी हुई है, फिल्म चार सप्ताह से चल रही थी इसलिए अब उसमें कोई भीड़ नहीं थी।

मैंने दो टिकट सबसे कोने के लिए और हम हाल के अन्दर चले गए। मुझे सबसे ऊपर की कतार वाली सीट दी गई थी और उस पूरी कतार में दूसरा कोई भी नहीं था। हमारी कतार के पीछे सिर्फ दीवार थी, मैंने जानबूझ कर ऐसी सीट मांगी थी। मेरा आगे वाले तीन कतार के बाद कोने पर एक लड़का और लड़की अकेले थे, उस कतार में भी उसके अलावा कोई नहीं था। उससे अगली कतार में दूसरे कोने पर एक और जोड़ा था, इस तरह से उस समय 300 दर्शकों की क्षमता वाले हाल में सिर्फ 20-22 दर्शक रहे होंगे। पता नहीं इतने कम दर्शकों के लिए फिल्म क्यों लगा रखी थी।

Pages: 1 2 3 4 5 6

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!

Online porn video at mobile phone


ma ki penti फाडदीBra ki huk khol bhai se chudai Nukrani ki choot fadiअंधे से hindi sex storiesSex ke dauran jaldi jhrnaभाबी की चूते का छेद देखना हाराज शर्मा इन्सेस्ट स्टोरीMummy ki bra ki hook lagakr chudai kiचुदाईदेवर भाभी की सेक्सी बाते हिंदी में लिखी हुई मजेदार सेक्सीमेंरी माँ ने मुझसे जमकर चुदवायाindian sex Bazar ki kahaniyan family ki samuhik chudaiMami ki nokri part 2 xxx suoriesबहन को जाल में फसकर छोड़ा हिंदी सेक्सी स्टोरीप्यारी बहू अंजू मस्ती की कहानीमै किसी के प्यार मैं फंस गई और उसने की मेरी गैंगबैंग चुदाईएक अनोखा संयोग 2 sex stories Chachi fufa or hamara naukar sex stories बहन चॅदneharani ki chudaichod kar behos kar diya xxxbfXxx Sex sister gajar Muli ke sath Chut Chudai full HD videoअन्तर्वासनाचुतकी सीलविधवा बहन ने भाभी के ऊपर दया storiesचुदाईmaa aur uncle ki shuagraat chudai storyghasai wali video sexसेक्सी हिंदी कहानीdipalirati kriya kahani hindiचुदवाईबीवी और बहन की च**** ट्रेन मेंअनजाने में माँ की चुदाईचूतबुर को जीभ से चुदाई की कहानीपति के सामने दिल खोल के चूदीहिंदी सेक्स कहानी घर की auratu की chuadiबाप बेटी की शादी करके सुहागरात मनाई हिन्दी सेक्स कहानियाँhabshi lauda hindima ki malish & chudhi ki khani hindi meपापा और उनके दोस्तो के साथ सामूहिक छुड़ाईआआआआहह।अंकल बेटे मिली भगत माँ की चुदाईमैं दीवानी चुदाईबुरका मेँ सैक्सी विडियो हिन्दी मे चूत देतीhttps://buyprednisone.ru/sexy-didi-ki-chudai-sex-kahani/बूरsavita Bhabi Hindi jigol .comSasur bahu ki damdar chudaiघर में चुदाई करते देखा सेक्स स्टोरीbur chudwane ke liye laundaSaaS aur damad sex stories hindiगाँव की chudai की कहानीAntarvasna sex hindi nude stories photos full 2019दीदी की सफ़र में चूत चुदाईसेक्सी हिंदी कहानीdipalicache:jhe8Ti-_DT4J:https://buyprednisone.ru/usha-ki-sex-kahani-1-c/7/ रोज तुझसे चुदवाऊँगी रस भरी चोदाई कहानीसाहब आप बहुत पाजी हैं पर्दे खींच दोdudhihindi hindisex videohindi kahani aunty ne dildo se mera gand maraमेरी अवैवाहिक सबंधChora na girll xxx dot com vodo keaX.antarwasnaTreesham sex kiya khub ganda sex storydud pilai antarvasnaबहन, भाई, का, बुर, चुकायी, आडीओwww.maa bahen maa bani new antarvasana. comमाँ ने चुदवाया Storiesमें डिल्डो यूज करती हूँHindi sexi kahaniya bhai bahen ki adla badli jija k sathमम्मी को बेटे ने 11इच के लौडे से चोदा सेकस ईटोरीमैंने उसकी पैंटी पहन लीमैंने चूत फैलाई पापा ने लंड डाल दियामाँ की चुदाई अंकल से नई कहानियाअंधे से hindi sex storiesचूत वालीKomal sex picजन्मदिन में परिवार में सामूहिक चुदाई.comबीबीचुतnew sixe kahani padni h chut chudai mastपापा के लुंड से मेरी सिल टूटी कहानीMain meri maa aur karim hindi sex storyDidi ko baramade me sex storiesचुदन चुदई आर परयास्मीन की चूत मरीमुझे अपनी रण्डी बना में तेरी कुतियाwww.shadi mai ludhiana bali punjabn aunty ki chudai khani.inसांस समीर हिंदी सेक्स कहानीमामी ने भांजे से चुदवाया सेक्स कहनिया चुदाई सफर में